एनडीटीवी के प्रणॉय रॉय के बाद, सेबी ने सीएनबीसी आवाज टीवी के एंकर हेमंत घई और उनके परिजनों को शेयर बाजारों में हेरफेर करने के लिए स्टॉक एक्सचेंज से प्रतिबंधित किया

सेबी इनसाइडर ट्रेडिंग करने वाली छोटी मछलियों को पकड़ने में तत्परता दिखा रही है। बड़ी मछलियों का क्या?

0
530
सेबी इनसाइडर ट्रेडिंग करने वाली छोटी मछलियों को पकड़ने में तत्परता दिखा रही है। बड़ी मछलियों का क्या?
सेबी इनसाइडर ट्रेडिंग करने वाली छोटी मछलियों को पकड़ने में तत्परता दिखा रही है। बड़ी मछलियों का क्या?

हेमत घई, उनकी पत्नी और मां को सेबी द्वारा धोखाधड़ीपूर्ण ट्रेडिंग में लिप्त होने के कारण पकड़ा गया

स्टॉक एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया (सेबी) ने बुधवार को सीएनबीसी आवाज टीवी एंकर हेमंत घई, उनकी पत्नी और मां को धोखाधड़ीपूर्ण व्यापार प्रथाओं में लिप्त होने के लिए स्टॉक एक्सचेंज से प्रतिबंधित कर दिया। सेबी ने एक अंतरिम आदेश में कहा, हेमंत घई जो कि एक व्यवसायिक पत्रकार हैं, को ‘स्टॉक 20-20‘ शो में दी जाने वाली सिफारिशों के बारे में पहले से सूचना थी, क्योंकि वे इस शो के सह-मेजबान (को होस्ट) थे और उन्होंने प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से इस जानकारी का उपयोग लाभ कमाने के लिए किया। इस शो में कौन से शेयरों को खरीदना है और किन शेयरों को बेचना है, इसकी सिफारिशें दी जाती हैं।

इसके अलावा, उन्हें निवेश सलाह देने, प्रतिभूति बाजार (स्टॉक एक्सचेंज) से संबंधित अनुसंधान रिपोर्टों के प्रकाशन से संबंधित किसी भी गतिविधि को आगे के निर्देशों तक जारी न रखने और बंद करने का निर्देश दिया गया है। इसके अलावा, पूंजी बाजार पर नजर रखने वाली संस्था ने फर्जी ट्रेडों द्वारा उत्पन्न 2.95 करोड़ रुपये की आय को भी जब्त करने का निर्देश दिया है। सेबी ने प्रथम दृष्टया पाया कि हेमंत ने अपनी पत्नी जया हेमंत घई और माँ श्याम मोहिनी घई के साथ शो “स्टॉक 20-20” में दी जाने वाली सिफारिशों से संबंधित अग्रिम सूचना के आधार पर धोखाधड़ी या अनुचित व्यापार करने के लिए एक योजना बनाई।

जया हेमंत घई और श्याम मोहिनी घई भी हेमंत के द्वारा किए गए उनके खातों के ट्रेडों से संबंधित उल्लंघनों के लिए जिम्मेदार हैं।

1 जनवरी, 2019 और 31 मई, 2020 के बीच की अवधि के दौरान जया हेमंत घई और श्याम मोहिनी घई के ट्रेडिंग खाते में ट्रेडिंग पैटर्न के विश्लेषण करने पर, शो में जिन शेयरों की सिफारिश की गयी थी, उनके साथ घई परिवार के ट्रेडों की गहरी समानता स्पष्ट होती है। इससे अंततः अनुशंसित (सिफारिश) शेयरों के संबंध में धोखाधड़ी वाले ट्रेडिंग को अंजाम देकर 2.95 करोड़ रुपये की आय उत्पन्न की गयी। नियामक (सेबी) ने पाया कि शो में की गयी सिफारिश के दिन से एक दिन पहले हेमंत घई की पत्नी और मां के व्यापारिक खातों में शेयर लगातार खरीदे गए थे।

इस खबर को अंग्रेजी में यहाँ पढ़े।

यह भी कहा गया कि – शो पर की गयीं सिफारिशों के कारण होने वाले मूल्य परिवर्तन से होने वाले बड़े लाभ को प्राप्त करने के लिए, उन्होंने सिफारिश के दिन बाजार खुलते ही अपने शेयर बेचे और फलस्वरूप, मुनाफा कमाया और बाजार एवं शो के दर्शकों के साथ एक धोखा किया। प्रथम दृष्ट्या, हेमंत अपनी पत्नी और माँ के व्यापारिक खातों का उपयोग कर रहा था। इसके अलावा, जया हेमंत घई और श्याम मोहिनी घई भी हेमंत के द्वारा किए गए उनके खातों के ट्रेडों से संबंधित उल्लंघनों के लिए जिम्मेदार हैं।

तदनुसार, इन व्यक्तियों को “प्रतिभूतियों में, प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से, खरीदने, बेचने या किसी भी तरह का व्यवहार करने से अगले निर्देश आने तक प्रतिबंधित कर दिया गया है”। साथ ही, हेमंत घई पर लागू आचार संहिता के संदर्भ में सूचना और आवश्यक कार्रवाई के लिए आदेश की प्रतियां सीएनबीसी-टीवी 18 और समाचार प्रसारण मानक प्राधिकरण (एनबीएसए) को भेज दी गई हैं। इसके अलावा, सीएनबीसी-टीवी 18 को सलाह दी गई है कि वे संबंधित शो के दर्शकों को आदेश के बारे में सूचित करें।

यह पहली बार नहीं है जब व्यापारिक पत्रकार स्टॉक एक्सचेंज हेराफेरी के लिए पकड़े गए हैं। केवल पत्रकार ही नहीं, कई टीवी चैनल भी सेबी द्वारा पकड़े गए हैं। हाल ही में एनडीटीवी के मालिक प्रणॉय रॉय और उनकी पत्नी राधिका रॉय पर स्टॉक एक्सचेंज द्वारा, अवैध ट्रेडिंग करने और संदिग्ध सौदों के माध्यम से अपने एनडीटीवी को भारी लाभ कमाने के मामले में, 2 साल का प्रतिबंध लगा दिया गया था। प्रणॉय रॉय, उनकी पत्नी और उनकी शेल (फर्जी) कंपनी और एनडीटीवी को स्टॉक एक्सचेंज में संदिग्ध गतिविधियों और हेराफेरी के लिए लगभग 44 करोड़ रुपये का जुर्माना भरना पड़ा है[1]

सीएनबीसी के पूर्व मालिक और अब क्विंट वेबसाइट चलाने वाले राघव बहल को भी स्टॉक हेरफेर और मनी लॉन्ड्रिंग (काले धन को वैध बनाना) के मामले में आयकर और प्रवर्तन निदेशालय ने पकड़ा था[2]

संदर्भ:

[1] सेबी ने प्रणॉय रॉय, उनकी पत्नी और उनकी शेल कंपनी पर स्टॉक एक्सचेंज में जबरदस्त हेराफेरी करने के लिए कुल 43.97 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाने के बाद एनडीटीवी पर 5 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया।Dec 30, 2020, hindi.pgurus.com

[2] आयकर छापे, प्रेस स्वतंत्रता या पीएमसी फिनकॉर्प – श्री राघव बहल आप क्या छुपा रहे हैं?Oct 17, 2018, hindi.pgurus.com

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.