एनडीआरएफ भी ऑपरेशन गंगा से जुड़ा, रोमानिया और पोलैंड में भेजी राहत सामग्री

एनडीआरएफ ने बुधवार को पोलैंड और रोमानिया गए विमानों के जरिए भारतीय नागरिकों के लिए राहत सामग्री भेजी है। एनडीआरएफ ने कंबल, स्लीपिंग मैट, सोलर स्टडी लैंप आदि भेजा है।

0
247
एनडीआरएफ भी ऑपरेशन गंगा से जुड़ा, रोमानिया और पोलैंड में भेजी राहत सामग्री
एनडीआरएफ भी ऑपरेशन गंगा से जुड़ा, रोमानिया और पोलैंड में भेजी राहत सामग्री

एनडीआरएफ जरूरी सामग्री फंसे हुए भारतियों तक पहुँचा रहा

राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) यूक्रेन में फंसे भारतीयों को स्वदेश वापस लाने के अभियान ऑपरेशन गंगा से जुड़ गया है और उसने पोलैंड और रोमानिया में राहत सामग्री भेजी है। एनडीआरएफ ने बुधवार को पोलैंड और रोमानिया गए विमानों के जरिए भारतीय नागरिकों के लिए राहत सामग्री भेजी है। एनडीआरएफ ने कंबल, स्लीपिंग मैट, सोलर स्टडी लैंप आदि भेजा है।

एनडीआरएफ के अधिकारियों ने बताया कि वे यूक्रेन के पड़ोसी देशों में जहां यूक्रेन से निकलकर भारतीय नागरिक पहुंच रहे हैं और राहत सामग्री भेजेंगे।

इसी बीच विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने कहा कि पिछले 24 घंटे में भारत से छह विमानों ने उड़ान भरी है, जिनमें पोलैंड गया पहला विमान भी शामिल है।

यूक्रेन स्थित भारतीय दूतावास ने बुधवार को नया परामर्श जारी करते हुए यूक्रेन के पश्चिमी इलाकों लीव और टर्नोपिल में फंसे भारतीय नागरिकों को पोलैंड की सीमा चौकी पर पहुंचने को कहा है।

इस नए परामर्श के अनुसार यूक्रेन के लीव और टर्नोपिल के अलावा अन्य पश्चिमी इलाकों में फंसे भारतीय भी पोलैंड की बुडोमिर्ज सीमा चौकी पर पहुंचे। भारतीयों को कहा गया है कि इस सीमा चौकी के जरिए पोलैंड में उनका प्रवेश करना अधिक आसान होगा।

दूतावास ने साथ ही चेतावनी दी है कि पश्चिमी इलाकों में फंसे भारतीय शेह्यनी-मेदिका सीमा चौकी की ओर जाने से परहेज करें, क्योंकि वहां बहुत भीड़ लगी है। मेदिका और बुडोमिर्ज सीमा चौकी पर भारतीय दूतावास के अधिकारी तैनात हैं, जो भारतीय नागरिकों को सुरक्षित भारत पहुंचाएंगे।

इसके अलावा, अगर भारतीय नागरिक हंगरी और रोमानिया के रास्ते निकलना चाहते हैं तो दक्षिण की ओर जाएं।

भारतीय नागरिकों को कहा गया है कि अगर वे किसी और सीमा चौकी से पोलैंड जाने की योजना बना रहे हैं, जहां भारतीय अधिकारी तैनात नहीं हैं तो वे सीधे पोलैंड के जेस्जोव शहर स्थित प्रेजिडेंस्की होटल में जाएं। होटल में उनके ठहरने और खाने का पूरा प्रबंध है और वहां से ऑपरेशन गंगा के तहत विशेष विमान नियमित रूप से भारत जा रहे हैं।

दूतावास ने यह स्पष्ट किया है कि अगर किसी नागरिक के पास पैसे नहीं हैं तो उनकी यात्रा का पूरा खर्च दूतावास उठाएगा। होटल में भारतीय नागरिकों का ठहरना-खाना पूरी तरह निशुल्क है।

भारतीय वायुसेना का परिवहन विमान सी17 ग्लोबमास्टर और एक सी17 विमान पोलैंड के शहर जेस्जो के लिए राहत सामग्री के साथ बुधवार की सुबह उड़ान भर चुका है और दो अन्य विमान दोपहर में उड़ान भरेंगे।

विदेश मंत्रालय ने साथ ही यह बताया कि चार केंद्रीय मंत्रियों को पोलैंड, हंगरी, स्लोवाकिया और रोमानिया भेजे जाने से नागरिकों को वापस लाने का अभियान तेज हुआ है।

केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी, जनरल वी.के. सिंह, किरेन रिजुजू और ज्योतिरादित्य सिंधिया हंगरी के बुडापेस्ट, पोलैंड के जेस्जोव, स्लोवाकिया के ब्रातिस्लावा और रोमानिया के बुखारेस्ट गए हैं और वे वहां की सरकार के साथ समन्वय स्थापित कर रहे हैं।

[आईएएनएस इनपुट के साथ]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.