सुशांत सिंह राजपूत मौत मामले में एम्स की रिपोर्ट पर संसदीय पैनल के सामने सुब्रमण्यम स्वामी ने उठाए पांच सवाल

मीडिया के जरिए उजागर हुई एम्स की रिपोर्ट जवाबों से ज्यादा सवाल सामने लाई है। क्या डॉ स्वामी के प्रयासों से सच्चाई सामने आएगी?

2
26257
मीडिया के जरिए उजागर हुई एम्स की रिपोर्ट जवाबों से ज्यादा सवाल सामने लाई है। क्या डॉ स्वामी के प्रयासों से सच्चाई सामने आएगी?
मीडिया के जरिए उजागर हुई एम्स की रिपोर्ट जवाबों से ज्यादा सवाल सामने लाई है। क्या डॉ स्वामी के प्रयासों से सच्चाई सामने आएगी?

भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने संसदीय समिति के समक्ष अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की रहस्यमय मौत पर ऑल इंडिया इंस्‍टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (एम्स) की विवादास्पद रिपोर्ट पर पांच सवाल उठाए हैं। स्वामी ने संसदीय समिति के समक्ष पांच सवाल उठाए हैं कि कैसे डॉ सुधीर गुप्ता की अगुवाई वाली एम्स की न्यायिक (फोरेंसिक) टीम ने मीडिया में मौत का कारण आत्महत्या बताया और मीडिया में यह बातें उजागर कीं। स्वामी ने कहा कि स्वास्थ्य मंत्रालय की संसदीय स्थायी समिति के अध्यक्ष रामगोपाल यादव ने, स्वास्थ्य मंत्रालय के सचिव को विवादास्पद एम्स रिपोर्ट के बारे में स्वामी की विस्तृत प्रश्नावली भेजने पर सहमति व्यक्त की है।

स्वामी ने कहा : “मैंने एसएसआर (सुशांत सिंह राजपूत) की पोस्टमार्टम रिपोर्ट और एम्स मीडिया रिपोर्ट्स के निष्कर्षों के बारे में संसदीय स्थायी समिति के अध्यक्ष को निम्नलिखित एक पत्र भेजा। क्या जवाब मिला इसकी शीघ्र ही मैं जानकारी दूँगा। मेरे पत्र की एक प्रति जल्द ही ट्विटर पर भेजी जाएगी। रामविलास पासवान के निधन पर दुख व्यक्त करते हुए शोकसभा के बाद, समिति ने 16 अक्टूबर तक बैठक स्थगित कर दी। तब अध्यक्ष ने मुझे बताया कि एम्स फॉरेंसिक टीम द्वारा मीडिया में जारी किए गए निष्कर्षों पर मेरे संदेह पर जवाब देने के लिए उन्होंने मेरा पत्र स्वास्थ्य सचिव को भेजा है।” तीन पन्नों का पत्र शुक्रवार को ट्वीट्स की एक श्रृंखला में अपलोड किया गया। स्वामी का पत्र इस लेख के नीचे प्रकाशित किया गया है। भाजपा नेता ने कहा कि वह इन सवालों को उठा रहे हैं क्योंकि यह मामला जनता के हित में है।

उपर्युक्त को देखते हुए कि क्या स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने इस मामले को मंत्रालय के मेडिकल बोर्ड को भेजने की आवश्यकता पर विचार किया है?

सुशांत सिंह राजपूत की मौत को आत्महत्या करार देने वाली विवादास्पद एम्स रिपोर्ट पर संसदीय समिति के सामने रखे गए सुब्रमण्यम स्वामी के पांच सवाल:

  1. क्या एम्स की टीम ने सुशांत सिंह राजपूत के शरीर पर पोस्टमार्टम किया था या केवल कूपर अस्पताल के डॉक्टरों द्वारा किए गए पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बारे में एक राय बना ली? मेरा मानना है कि एम्स की टीम के पास सुशांत सिंह के शरीर की जांच करने का अवसर नहीं था क्योंकि पहले ही शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया था।
  2. क्या एम्स की स्पेशल टीम की रिपोर्ट आने से पहले ही डॉ सुधीर गुप्ता को मंत्रालय में उच्च अधिकारियों द्वारा मीडिया साक्षात्कार देने की सलाह दी गई थी?
  3. क्या एम्स की टीम ने कूपर अस्पताल में डॉक्टरों द्वारा मौत के सुराग, जल्दबाजी और खानापूर्ति सरीखे पोस्टमार्टम की जाँच की और अपराध की जगह को मुंबई पुलिस द्वारा सील न किये जाने की जांच की?
  4. इन उपर्युक्त लापरवाहियों के कारण, मृत्यु के एक कारण पर निश्चित राय लेने वाली इस एम्स टीम के लिए फोरेंसिक मेडिकल दृष्टिकोण से कुल मिलाकर पर्याप्त सामग्री थी?
  5. उपर्युक्त को देखते हुए कि क्या स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने इस मामले को मंत्रालय के मेडिकल बोर्ड को भेजने की आवश्यकता पर विचार किया है?

इस खबर को अंग्रेजी में यहाँ पढ़े।

सुब्रमण्यम स्वामी का संसदीय समिति को लिखा गया तीन पन्नों का पत्र इस लेख के नीचे प्रकाशित किया गया है:

Dr Subramanian Swamy letter to Ramgopal Yadav by PGurus on Scribd

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.