एसएसआर मामला: सुब्रमण्यम स्वामी ने स्वास्थ्य मंत्रालय के मेडिकल बोर्ड द्वारा एम्स की रिपोर्ट का विश्लेषण कराने हेतु प्रधानमंत्री से आग्रह किया।

क्या एसएसआर की एम्स रिपोर्ट वास्तव में डॉ. कूपर होस्पिटल की पोस्टमार्टम रिपोर्ट की नकल (कॉपी-पेस्ट) थी? स्वामी ने पीएम को पत्र लिखा!

1
603
क्या एसएसआर की एम्स रिपोर्ट वास्तव में डॉ. कूपर होस्पिटल की पोस्टमार्टम रिपोर्ट की नकल (कॉपी-पेस्ट) थी? स्वामी ने पीएम को पत्र लिखा!
क्या एसएसआर की एम्स रिपोर्ट वास्तव में डॉ. कूपर होस्पिटल की पोस्टमार्टम रिपोर्ट की नकल (कॉपी-पेस्ट) थी? स्वामी ने पीएम को पत्र लिखा!

भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से जनता का विश्वास जीतने के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय के मेडिकल बोर्ड द्वारा अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत पर एम्स की रिपोर्ट की जांच करने के लिए मंत्रालय को निर्देश देने के लिए आग्रह किया। एक विस्तृत पत्र में, स्वामी ने मुंबई अस्पताल की रिपोर्ट में सात कमियाँ मिलने के बाद भी एम्स (आल इंडिया इंस्टिट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंस) द्वारा डॉ. कूपर अस्पताल के पोस्टमार्टम निष्कर्ष की नकल करने का आरोप लगाया।

स्वामी ने एम्स फॉरेंसिक के प्रमुख डॉ सुधीर गुप्ता पर भी डॉ. कूपर अस्पताल के निष्कर्ष की नकल करने और सुशांत की मौत को आत्महत्या करार देने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि डॉ गुप्ता अभी तक मुंबई नहीं गए हैं और टीम के केवल तीन सदस्य ही गए थे। स्वामी ने मुंबई पुलिस पर भी डॉ. कूपर अस्पताल की संदिग्ध रिपोर्ट में मिलीभगत होने का आरोप लगाया।

सुब्रमण्यम स्वामी ने डॉ सुधीर गुप्ता को स्वास्थ्य मंत्रालय या उनके वरिष्ठ अधिकारियों को रिपोर्ट की प्रतियां न देकर सीधे सीबीआई को रिपोर्ट भेजने के लिए भी दोषी ठहराया।

“डॉ कूपर अस्पताल की पोस्टमोर्टम रिपोर्ट के निष्कर्षों की समीक्षा करने के लिए फोरेंसिक साइंस विभाग के प्रमुख डॉ सुधीर गुप्ता की अध्यक्षता में एक विशेष समिति का गठन किया गया था जिसमें एम्स के तीन डॉक्टर शामिल थे। डॉ सुधीर गुप्ता ने व्यक्तिगत रूप से डॉ कूपर अस्पताल में समीक्षा में भाग नहीं लिया। समिति के बाकी तीन सदस्य ही मुंबई गए थे।”

इस खबर को अंग्रेजी में यहाँ पढ़े।

“इसके बाद डॉ गुप्ता ने समिति की समीक्षा रिपोर्ट सीबीआई को भेजी, जो कूपर अस्पताल के पोस्टमार्टम रिपोर्ट के निष्कर्षों का सार थी… अपनी रिपोर्ट में, विशेष समिति (एम्स) ने पोस्टमार्टम के क्रियान्वयन में हुई कई खामियों को विस्तृत रूप से बताया। फिर भी, इस रिपोर्ट में डॉ. कूपर अस्पताल के डॉक्टरों के निष्कर्षों पर सहमति जताई गयी,” स्वामी ने अपने पत्र में पीएम को बताया। तीन पन्नों का विस्तृत पत्र इस लेख के नीचे प्रकाशित किया गया है।

सुब्रमण्यम स्वामी ने डॉ सुधीर गुप्ता को स्वास्थ्य मंत्रालय या उनके वरिष्ठ अधिकारियों को रिपोर्ट की प्रतियां न देकर सीधे सीबीआई को रिपोर्ट भेजने के लिए भी दोषी ठहराया। भाजपा नेता ने बताया कि एम्स समिति ने सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश न्यायमूर्ति वी रामास्वामी द्वारा राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के लिए तैयार 2001 की रिपोर्ट के मुख्य दिशानिर्देशों की अवहेलना की, कि पोस्टमार्टम के निष्कर्षों पर दूसरा विश्लेषण कैसे किया जाए।

पिछले हफ्ते स्वास्थ्य मंत्रालय ने डॉ सुधीर गुप्ता से संसदीय समिति के सामने स्वामी द्वारा उठाए गए सवालों के जवाब देने को कहा था। स्वामी ने समिति से एम्स की रिपोर्ट के निष्कर्षों पर सवाल उठाते हुए पांच सवाल पूछे थे[1]

सुशांत सिंह राजपूत की रहस्यमय मौत पर प्रधानमंत्री को लिखे गए सुब्रमण्यम स्वामी के तीन पन्नों के विस्तृत पत्र और पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मिली खामी को नीचे प्रकाशित किया गया है:

Letter to Prime Minister on AIIMS investigation of SSR by PGurus on Scribd

संदर्भ:

[1] सुशांत सिंह राजपूत मौत मामले में एम्स की रिपोर्ट पर संसदीय पैनल के सामने सुब्रमण्यम स्वामी ने उठाए पांच सवालOct 10, 2020, hindi.pgurus.com

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.