गर्भवती महिलाओं के लिए वीजा प्रतिबंध लगाने के लिए अमेरिका तैयार। दिल्ली के पूर्व आप (AAP) मंत्री ने अमेरिका में गर्भवती पत्नी को भेजकर नए बच्चे को अमेरिकी नागरिकता प्राप्त करने के लिए इस चाल का इस्तेमाल किया!

संयुक्त राज्य सरकार से गर्भवती महिलाओं के लिए वीजा प्रतिबंधों पर शुक्रवार से नए नियमों की शुरूआत करने की उम्मीद है, जो गर्भवती महिलाएं जन्म पर्यटन में शामिल हो सकती हैं!

0
749
संयुक्त राज्य सरकार से गर्भवती महिलाओं के लिए वीजा प्रतिबंधों पर शुक्रवार से नए नियमों की शुरूआत करने की उम्मीद है, जो गर्भवती महिलाएं जन्म पर्यटन में शामिल हो सकती हैं!
संयुक्त राज्य सरकार से गर्भवती महिलाओं के लिए वीजा प्रतिबंधों पर शुक्रवार से नए नियमों की शुरूआत करने की उम्मीद है, जो गर्भवती महिलाएं जन्म पर्यटन में शामिल हो सकती हैं!

ट्रम्प प्रशासन गुरुवार (23 जनवरी, 2020) को “जन्म पर्यटन” को प्रतिबंधित करने के उद्देश्य से नए वीजा प्रतिबंधों के साथ आ रहा है, क्योंकि इसमें महिलाएं बच्चों को जन्म देने के लिए संयुक्त राज्य (यूएस) की यात्रा करती हैं ताकि उनके बच्चों को एक प्रतिष्ठित अमेरिकी पासपोर्ट मिल सके। जिन वीजा आवेदकों को परामर्श अधिकारीयों द्वारा अमेरीका में केवल जन्म देने के लिए आने वाले बताया जाएगा उन्हें अमेरिका में चिकित्सा उपचार के लिए आनेवाले विदेशियों के रूप में माना जाएगा। आवेदकों को यह साबित करना होगा कि वे चिकित्सा उपचार के लिए आ रहे हैं और उनके पास इसके लिए भुगतान करने के लिए पैसे हैं।

बहुत से लोग अमेरिका की धरती पर माताओं से उनके बच्चे को जन्म दिलवा कर बच्चे के लिए अमेरिकी नागरिकता प्राप्त करने के लिए ऐसी गुप्त गतिविधियों में संलग्न होते हैं। दिल्ली के कुख्यात पूर्व आम आदमी पार्टी (आप) मंत्री संदीप कुमार ने गर्भावस्था के दौरान अपनी पत्नी को अमेरिका भेजा, ताकि नवजात बच्चे को अमेरिकी नागरिकता दिला सके। दिल्ली की महिला और बाल विकास मंत्री ने अपने आधिकारिक पद का दुरुपयोग किया और अपनी गर्भवती पत्नी को किसी तरह वीज़ा दिलाया। बाद में एक सेक्स सीडी खुलासे में पकड़ा गया, उसे मंत्री पद से हटा दिया गया।

कई भारतीय प्रशासनिक सेवा अधिकारियों (आईएएस) और भारतीय विदेश सेवा (आईएफएस) अधिकारियों ने गर्भावस्था के दौरान अमेरिकी अस्पतालों में भर्ती होकर अपने नवजात शिशुओं के लिए अमेरिकी नागरिकता प्राप्त करने के लिए भी इस पैतरे का उपयोग किया। संस्कृति में एक सचिव के रूप में सेवानिवृत्त होने वाले एक अनुभवी आईएएस अधिकारी ने 60 के दशक के मध्य में अपने बेटे को अमेरिकी नागरिकता दिलाने के लिए अमेरिकी धरती पर जन्म देने के लिए इस तरह की असभ्य गतिविधि की। अमेरिकी नागरिक बेटा अब एक पत्रकार है। मुम्बई की एक अन्य विवादास्पद महिला आईएफएस अधिकारी ने भी यही चाल चली। अमेरिकी नियमों के अनुसार, अमेरिकी धरती पर पैदा होने वाले बच्चे स्वतः रूप से अमेरिकी नागरिक हो जाते हैं। तीसरी दुनिया के देशों के कुछ कुटिल राजनयिक अपने बच्चों को अमेरिका में जन्म दिलाकर अमेरिकी नागरिक बनाना पसंद करते हैं।

नाम न छापने की शर्त पर द एसोसिएटेड प्रेस से बात करने वाले, योजनाओं के जानकार दो अधिकारियों के मुताबिक, विदेश विभाग ने गुरुवार को नियमों को प्रचारित करने की योजना बनाई। नियम शुक्रवार से प्रभावी होंगे। जन्म देने के लिए अमेरिका आने की प्रथा मौलिक रूप से कानूनी है, हालांकि अधिकारियों के जन्म धोखाधड़ी या कर चोरी के लिए जन्म पर्यटन एजेंसियों के संचालकों को गिरफ्तार करने के मामले बहुतायत में हैं। और महिलाएं अक्सर वीजा के लिए आवेदन करते समय अपने इरादों के बारे में ईमानदार होती हैं और यहां तक कि डॉक्टरों और अस्पतालों द्वारा हस्ताक्षरित अनुबंध भी दिखाती हैं।

इस खबर को अंग्रेजी में यहाँ पढ़े।

ट्रम्प प्रशासन आव्रजन (आप्रवासन) के सभी रूपों को प्रतिबंधित कर रहा है, लेकिन राष्ट्रपति विशेष रूप से जन्मसिद्ध नागरिकता के मुद्दे से त्रस्त हो चुके हैं – जन्मसिद्ध नागरिकता से तात्पर्य अमेरिका में पैदा होने वाले किसी भी व्यक्ति को संविधान के तहत एक नागरिक माने जाने से है। उन्होंने इस प्रथा के खिलाफ रोक लगाई है और इसे खत्म करने की धमकी दी है, लेकिन विद्वानों और उनके प्रशासन के सदस्यों ने कहा है कि ऐसा करना इतना आसान नहीं है।
गर्भवती महिलाओं के लिए पर्यटक वीजा को विनियमित करना इस मुद्दे पर एक तरीका है, लेकिन यह इस बारे में सवाल उठाता है कि अधिकारी यह कैसे निर्धारित करेंगे कि कोई महिला गर्भवती है, पहले पहल और क्या सीमा अधिकारी किसी स्त्री को देखकर ही गर्भवती होने के शक पर वापस लौटा देंगे!

कांसुलर अधिकारियों को वीज़ा साक्षात्कार के दौरान यह पूछने का अधिकार नहीं है कि क्या एक महिला गर्भवती है या ऐसा बनने का इरादा रखती है। लेकिन उन्हें यह निर्धारित करना होगा कि क्या एक वीजा आवेदक मुख्य रूप से अमेरिका में जन्म देने के लिए आ रहा है।

जन्म पर्यटन अमेरिका और विदेश दोनों में एक आकर्षक व्यवसाय है। अमेरिकी कम्पनियां इस क्रियाकलाप को सुविधाजनक बनाने के लिए होटल के कमरे और चिकित्सा देखभाल की पेशकश के लिए विज्ञापन निकालते हैं और $ 80,000 तक चार्ज करते हैं। कई महिलाएं अमेरिका में जन्म देने के लिए रूस और चीन से आती हैं।

ट्रम्प के पदभार संभालने से पहले से ही अमेरिका इस प्रथा पर नकेल कस रहा है। इस बात के कोई आंकड़े नहीं हैं कि कितनी विदेशी महिलाएं विशेष रूप से जन्म देने के लिए अमेरिका की यात्रा करती हैं।

सेंटर फॉर इमिग्रेशन स्टडीज, एक समूह जो कठोर आव्रजन कानूनों की वकालत करता है, ने अनुमान लगाया कि 2012 में, लगभग 36,000 विदेशी मूल की महिलाओं ने अमेरिका में बच्चों को जन्म दिया, फिर देश छोड़ दिया।

विदेश विभाग के प्रवक्ता ने कहा कि मसौदा नियम का उद्देश्य “जन्म पर्यटन से जुड़े राष्ट्रीय सुरक्षा और कानून प्रवर्तन जोखिमों को संबोधित करना है, जिसमें जन्म पर्यटन उद्योग से जुड़ी आपराधिक गतिविधि शामिल है”।

[पीटीआई इनपुट के साथ]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.