जम्मू की जनता मेरी माई बाप है : अमित शाह

रोहिंग्या को चुन चुन कर देश से निकाला जाएगा

0
607
जम्मू की जनता मेरी माई बाप है : अमित शाह
जम्मू की जनता मेरी माई बाप है : अमित शाह

यही वजह है कि 2019 के लोक सभा चुनावों में पार्टी के उम्मीदवारों की जीत सुनिश्चित करने के लिए अमित शाह ने खुद कमान अपने हाथ में ली है

लोक सभा चुनावों से ठीक पहले जम्मू की जनता की नाराजगी दूर करने के लिए भाजपा के मुखिया अमित शाह ने रविवार को जम्मू में आयोजित की गयी विजय संकल्प रैली को संबोधित करते हुए कहा कि जम्मू की जनता मेरी ‘माई बाप‘ है ! मैं यहाँ लोक सभा चुनाव से पहले उन्हें पाई-पाई और पल-पल का हिसाब देने आया हूं !

पूर्ण बहुत के अभाव में राज्य में किसी भी सियासी दल की सरकार बनना संभव नहीं था ! इस के चलते भाजपा ने मुफ़्ती मोहद सईद की पार्टी पीडीपी (Peoples Democratic Party)  के साथ  मिलकर 2015 की  शुरुवात में गठबंधन सरकार बनाई थी !

चुनावी बिगुल फूंकते हुए शाह ने ये भी कहा कि कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी  तक घुसपैठ करने वाले रोहिंग्या को चुन चुन कर देश से निकाला जाएगा।

भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष ने  कहाँ रोहिंग्या को बाहर निकालने के लिए असम नेशनल रजिस्टर आफ सिटिजन की तर्ज पर देश में अवैध रूप से बसे लोगों को खदेड़ दिया जाएगा।

उन्होंने कहा मंदिरों का शहर र्मशाला नहीं है कि हर कोई यहाँ आयेगा और बस जायेगा ! उन्होंने कहा इस देश के कानून के तेहत जिस किसी को यहाँ रहने का अधिकार होगा वो ही रहेगा बाकि सब घुसपैठियों को चुन चुन कर देश से निकाला जायेगा ! उन्होंने कहा  कि चुनाव से पहले कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी स्पष्ट करें कि रोहिंग्या काे लेकर उनकी क्या नीति है।

राज्य की अन्य विपक्षी पार्टियों पे निशाना साधते हुए अमित शाह ने कहा उन्हें महबूबा मुफ़्ती या डॉ फारूक अब्दुल्लाह को किसी प्रकार का हिसाब किताब देने की जरूरत नहीं है वो यहाँ सिर्फ जम्मू की जनता को हिसाब देने आये हैं !

लोक सभा चुनावों से ठीक पहले पार्टी कार्यकर्ताओं को अपना अपना बूथ मजबूत करने की सीख देते हुए अमित शाह ने कहा 2014 में जम्मू संभाग की दोनों लोक सभा सीटों पे भाजपा के उम्मीदवारों ने कब्ज़ा किया था !  2019 में भी पार्टी के उम्मीदवारों की जीत सुनिश्चित होनी चाहिए और यह तभी संभव होगा जब हम अपने एक एक बूथ पे जीत हासिल करेंगे !

अमित शाह इस बात से भली भांति परिचित हैं कि गठबंधन सरकार के टूट जाने के बाद प्रदेश में और खासकर जम्मू संभाग में भाजपा की साख को बट्टा लगा था  और आम जनता में पार्टी के खिलाफ रोष व्यापत था ! ऐसा होना स्वाभाविक भी था क्यूंकि लोक सभा के चुनावों के बाद 2014 में विधान सभा चुनावों में बेहतर प्रदर्शन करते हुए भाजपा ने पहली बार राज्य में 25 सीटों पे जीत हासिल की थी !

पूर्ण बहुत के अभाव में राज्य में किसी भी सियासी दल की सरकार बनना संभव नहीं था ! इस के चलते भाजपा ने मुफ़्ती मौहम्मद सईद की पार्टी पीडीपी (Peoples Democratic Party)  के साथ  मिलकर 2015 की  शुरुवात में गठबंधन सरकार बनाई थी !

साँझा सरकार बनाने से पहले दोनों दलों के नेताओं में आपस में विचार विमर्श कर के एक एजेंडा ऑफ़ अलायन्स नाम का दस्तावेज भी तैयार किया था !

वहीँ दूसरी और मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस पार्टी पे प्रहार करते हुए उन्होंने कहा की देश में 55 साल तक राज करने वाली कांग्रेस पार्टी और उनकी चार पीड़ियों ने  इतना काम नहीं किया जो काम भाजपा की नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार ने पिछले ५ सालों में कर दिखया है !

लेकिन साँझा सरकार बनते ही विवादों में उलझती चली  गयी  और फिर मुफ़्ती  सईद के निधन के बाद उनकी बेटी महबूबा मुफ़्ती ने मुख्या मंत्री की गद्दी संभाली !

लेकिन भाजपा के साथ उनके बढ़ते मतभेद और रियासत में बिगड़ते हालात को देखते हुए भाजपा ने जून 2018 में गठबंधन तोड़ने का फैसला किया और महबूबा मुफ़्ती को अपनी कुर्सी खोनी पड़ी !

इस बीच भाजपा की जम्मू संभाग में अपनी भी छवि खराब हो गयी थी और उन्हें प्रदेश में पीडीपी की बी टीम के रूप में देखा जाने लगा था !

सरकार में रहते हुए भी भाजपा अपना एजेंडा लागु नहीं कर पा रही थी और पीडीपी के मंत्री और पार्टी नेता भाजपा पे लगातार हावी हो रहे थे ! पार्टी के बीच की अंतर्कलह भी पार्टी की बिगडती छवि के लिए ज़िम्मेदार मानी जाने लगी !

इस दौरान भाजपा का अपना वोट बैंक भी धीरे धीरे खिसक रहा था !

यही वजह है कि 2019 के लोक सभा चुनावों में पार्टी के उम्मीदवारों की जीत सुनिश्चित करने के लिए अमित शाह के खुद कमान अपने हाथ में ली है और वो पार्टी के कार्यकर्ताओं के बीच रह कर उनके आत्मविश्वास को बढ़ाने का काम कर रहे !

वहीँ दूसरी और मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस पार्टी पे प्रहार करते हुए उन्होंने कहा की देश में 55 साल तक राज करने वाली कांग्रेस पार्टी और उनकी चार पीड़ियों ने  इतना काम नहीं किया जो काम भाजपा की नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार ने पिछले ५ सालों में कर दिखया है !

अमित शाह  ने यह ब्यान सिर्फ वोटरों को लुभाने के लिए नहीं दिया बल्कि इस के पीछे भाजपा की सोची समझी रणनीति है !

पुलवामा के शहीद केरिपुब कर्मियों को श्रद्धांजलि देने के बाद देश वासियों को आतंकवादियों से लड़ने का संकल्प दिलाते हुए अमित शाह ने कहा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आतंकवाद के प्रति जीरो टालरेंस की अपनी नीति पर कायम हैं।

पुलवामा हमले के लिए पाकिस्तान को आड़े हाथ लेते हुए उन्होंने कहा कि सेना, सुरक्षाबल व प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, कश्मीर को खंडित करने के ख्वाब देखने वालों को चट्टान बनकर चोट देंगे। कश्मीर देश का अभिन्न अंग है, इसे कोई  हमसे छीन नही सकता है।

अमित शाह ने 14 फरवरी को आतंकवादी हमले में शहीद हुए केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के 40 शहीदों को श्रद्धांजलि दी। उन्होंने कहा कि देश भर के करोड़ों लोग व भाजपा के करोड़ों कार्यकर्ता चट्टान की तरह शहीद परिवारों के साथ खड़े हैं। इस मौके पर उनके साथ भाजपा के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री राम लाल, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अविनाश राय खन्ना, प्रदेश अध्यक्ष रविन्द्र रैना, प्रधानमंत्री कार्यालय के राज्यमंत्री जुगल किशोर शर्मा, विधानसभा के स्पीकर डा निर्मल सिंह व पूर्व उपमुख्यमंत्री कविन्द्र गुप्ता भी मौजूद थे।

कश्मीर मसला नेहरू की देन है

जम्मू कश्मीर के मौजूदा हालात के लिए राहुल गांधी को घेरते हुए शाह ने कहा कि कश्मीर मसला नेहरू की देन है। कांग्रेस में 55 साल जम्मू कश्मीर में असंतुलित विकास कर जम्मू व लद्दाख के साथ अन्याय किया। देश में भाजपा की सरकार बनने के बाद पीएम ने अस्सी हजार करोड़ का पैकेज देकर जम्मू व लद्दाख में विकास के दरबाजे खोल दिए। भाजपा ने जम्मू कश्मीर में बहुत परिवर्तन लाया। कुछ मिलाकर केंद्र सरकार ने विकास के लिए जम्मू कश्मीर में दो लाख करोड़ रूपये से भी अधिक दिए।

पुलवामा के शहीद केरिपुब(CRPF) कर्मियों को श्रद्धांजलि देने के बाद देश वासियों को आतंकवादियों से लड़ने का संकल्प दिलाते हुए अमित शाह ने कहा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आतंकवाद के प्रति जीरो टालरेंस की अपनी नीति पर कायम हैं। सिर्फ मोदी ही पाकिस्तान काे मुंहतोड़ जवाब दे सकते हैं। अमित शाह ने कहा कि जम्मू कश्मीर की जमीन पर बहा 40 वीरों का खून व्यर्थ नही जाएगा। हम इंट का जवाब पत्थर से देंगे। इसके लिए सेना, सुरक्षाबलों को खुली छूट दी गई है।

कांग्रेस, नेशनल कांफ्रेंस व पीडीपी को परिवारवादी पार्टियां करार देते हुए अमित शाह ने कहा कि उन्होंने अपने परिवारों के विकास के लिए भ्रष्टाचार का शह दी। प्रधानमंत्री का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि देश का चौकीदार अब उनसे हिसाब ले रहा है। भाजपा को लेकर फारूक अब्दुल्ला के सवालों पर अमित शाह ने कहा कि हम लंदन नही जाते हैं। कश्मीर में हालात खराब करने वाले अलगाववादियों को घेरते हुए अमित शाह ने कहा कि दूसरे के बच्चों के हाथों में पत्थर ठहराने वालों के बच्चे अमरीका, लंदन में पढ़ रहे हैं।

ध्यान दें:
1. यहां व्यक्त विचार लेखक के हैं और पी गुरुस के विचारों का जरूरी प्रतिनिधित्व या प्रतिबिंबित नहीं करते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.