श्री अय्यर: प्रणॉय रॉय, पत्नी राधिका, और एनडीटीवी की धोखाधड़ी पर मैंने जो भी कहा, मैं उसपर अडिग हूँ। कोर्ट में केस दायर करने के लिए उन्हें चुनौती दी

एनडीटीवी के कानूनी नोटिस के जवाब में, लेखक श्री अय्यर अपनी पुस्तक के साथ खड़े हैं और कहा है कि वह अदालत में उनका सामना करने के लिए तैयार हैं।

0
549
एनडीटीवी के कानूनी नोटिस के जवाब में, लेखक श्री अय्यर अपनी पुस्तक के साथ खड़े हैं और कहा है कि वह अदालत में उनका सामना करने के लिए तैयार हैं।
एनडीटीवी के कानूनी नोटिस के जवाब में, लेखक श्री अय्यर अपनी पुस्तक के साथ खड़े हैं और कहा है कि वह अदालत में उनका सामना करने के लिए तैयार हैं।

दो दिन पहले, मुझे और अनुराग सक्सेना को नई दिल्ली टेलीविजन (एनडीटीवी) और इसके संरक्षकों प्रणॉय रॉय और उनकी पत्नी राधिका से मानहानि का नोटिस मिला। मानहानि का नोटिस अधिवक्ता अनुराधा दत्त ने भ्रष्ट टीवी चैनल और उसके संरक्षकों की ओर से भेजा था जो धोखाधड़ी, भ्रष्टाचार और काले धन को वैध बनाने के लिए पकड़े गए हैं। मुझे नहीं पता कि उन्होंने अनुराग सक्सेना को, जो केवल मेरी पुस्तक एनडीटीवी फ़्रॉड्स पढ़कर प्रश्न पूछ रहा था, के साथ बातचीत करने के लिए कानूनी नोटिस ईमेल से क्यों भेजा (जो इस लेख के अंत में प्रकाशित किया गया है)। श्री और श्रीमती रॉय को हवाई अड्डे पर रोके जाने के तुरंत बाद नोटिस भेजा गया था, क्योंकि एजेंसियों ने उनकी जालसाजी को रंगे हाथों पकड़ा था।

यह सार्वजनिक दृष्टिकोण में रॉय दम्पत्ति और उनके भ्रष्ट टीवी चैनल के लिए मेरी प्रतिक्रिया है और कानूनी नोटिस के लिए मेरे उत्तर के रूप में माना जा सकता है।

सबसे पहले, प्रणॉय और राधिका रॉय और एनडीटीवी, मैंने जो कुछ भी बातचीत में कहा था, मैं उस पर अडिग हूं। दो साल पहले जब मैंने पुस्तक – एनडीटीवी फ़्रॉड्स – प्रकाशित की, उसमें मैंने आपके सभी धोखाधड़ी के बारे में लिखा और एक साल पहले, मैंने आईआरएस अधिकारी एस के श्रीवास्तव द्वारा उजागर आपके धोखाधड़ी के निष्कर्षों को जोड़ा।
मैंने जो भी कहा वह सच है और मुझे आपको याद दिलाना चाहिए कि सच कहना मानहानि नहीं है। आपने स्टॉक एक्सचेंजों में हेरफेर किया, जो आयकर विभाग के निष्कर्षों में विस्तृत है। आपने बैंकों को धोखा दिया, जो कि आईसीआईसीआई बैंक धोखाधड़ी के बारे में केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की पहली सूचना रिपोर्ट (एफआईआर) में भी विस्तृत है। सीबीआई की हालिया दूसरी एफआईआर इस तथ्य को उजागर करती है कि आप सार्वजनिक कार्यालय रखने वाले व्यक्तियों के साथ साजिश में दुनिया भर में 32 फर्जी खोल कम्पनियों को चलाकर काले धन को सफेद कर रहे थे। सच कहें तो ऐसे ही एक बदमाश हैं पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम।

इस खबर को अंग्रेजी में यहाँ पढ़े।

श्री रॉय, मैं फिर से एनडीटीवी धोखाधड़ी पर मेरी दो किताबें पढ़ने के लिए आपका स्वागत करता हूं और आपको अपने पसंद के न्यायालय में इसे जांचने के लिए चुनौती देता हूं। मैं सभी दस्तावेजों को न्यायालय के समक्ष रखूंगा और आपको अपने सफेदपोश अपराधों की व्याख्या करते देखूँगा। जब आपने एक प्रेस क्लब के कार्यक्रम में दावा किया कि आपने अपने जीवन में कभी भी काले धन को छुआ तक नहीं, तो मैं अपनी कुर्सी से नीचे हँसते हँसते गिर गया! मुझे उम्मीद है कि सीबीआई, प्रवर्तन निदेशालय (ईडी), आयकर विभाग और भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) आपको मीडिया की आड़ में की गई इस भारी भरकम धोखाधड़ी के लिए सबक सिखाएंगे।

कृपया इसे आपके कानूनी नोटिस पर मेरे जवाब के रूप में मानें। आप वीडियो को फिर से देख सकते हैं। मैं एक बार फिर दोहराता हूं और मैंने जो कहा, उस पर अडिग हूं। जो न्यायालय आप चुनें, संसार में कहीं भी, उसमें आपसे मिलने को तैयार हूँ।

आपका अपना

श्री अय्यर

Notice on Behalf of NDTV[7576] by PGurus on Scribd

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.