श्रीनगर के लाल चौक पर कई वर्षों के बाद श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का जुलूस

लाल चौक पर कई साल के अंतराल के बाद फिर जन्माष्टमी का जुलूस

0
673
लाल चौक पर कई साल के अंतराल के बाद फिर जन्माष्टमी का जुलूस
लाल चौक पर कई साल के अंतराल के बाद फिर जन्माष्टमी का जुलूस

धारा 370 हटने के बाद, पहली बार जन्माष्टमी के जश्न से भरा कश्मीर का लाल चौक

कश्मीर के ऐतिहासिक लाल चौक पर लंबे समय के बाद सोमवार को भगवान कृष्ण का जन्मदिन मनाने के लिए जन्माष्टमी का जुलूस निकला। कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच, कई महिलाओं और बच्चों सहित कई कश्मीरी पंडित जुलूस का हिस्सा बने, जुलूस शहर के हब्बा कदल इलाके में गणपतियार मंदिर से शुरू हुआ और क्रालखुद, बरबरशाह से होता हुआ ऐतिहासिक लाल चौक पर घंटाघर तक पहुँचा। पुरुषों, महिलाओं और बच्चों सहित भक्तों ने रथ के साथ नृत्य किया और लोगों के बीच मिठाई बांटी।

धारा 370 हटने के बाद लाल चौक इलाके में पहली बार जन्माष्टमी का जुलूस निकला। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल के बेटे शौर्य डोभाल ने जुलूस के वीडियो के साथ ट्वीट करते हुए कहा: “कश्मीर के लाल चौक से श्री कृष्ण जन्माष्टमी समारोह की झलक। यह वही स्थान है जहां 1992 में भारत का राष्ट्रीय ध्वज फहराना जान से मारने की धमकी को न्यौता देता था। और आज, हिंदू समुदाय के लोग उसी स्थान पर अपना धार्मिक समारोह करने में सक्षम हैं। यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के कुशल नेतृत्व में ही संभव हो पाया है।

इस खबर को अंग्रेजी में यहाँ पढ़े।

सोशल मीडिया सोमवार को लाल चौक पर जन्माष्टमी समारोह की तस्वीरों और वीडियो से भरा रहा।

भाजपा के राष्ट्रीय सचिव वाई सत्य कुमार ने लाल चौक पर जुलूस की कई तस्वीरें ट्वीट कीं। उन्होंने कहा – “लाल चौक पर कृष्ण जन्माष्टमी समारोह। कांग्रेस शासन के दौरान यहां पाकिस्तान का झंडा फहराया जाता था। अब तिरंगा फहराया जाता है और लोग त्योहार भी मना रहे हैं। इसे ‘बदलाव’ कहा जाता है।”

2012 और 2018 में श्रीनगर, कश्मीर में जन्माष्टमी समारोह का एक दृश्य:

अगस्त 10, 2012 श्रीनगर में जन्माष्टमी शोबा यात्रा।

सितंबर 03, 2018 श्रीनगर में जन्माष्टमी मनाते कश्मीरी पंडित।।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.