कोरोना के बढ़ते मामलों पर पीएमओ की हाई लेवल मीटिंग, अधिकारियों को दिए निर्देश!

    बैठक में कोविड-19 दवाओं सहित सभी दवाओं का पर्याप्त स्टॉक और उपलब्धता सुनिश्चित करने को कहा गया।

    0
    191
    कोरोना के बढ़ते मामलों पर पीएमओ की हाई लेवल मीटिंग, अधिकारियों को दिए निर्देश!
    कोरोना के बढ़ते मामलों पर पीएमओ की हाई लेवल मीटिंग, अधिकारियों को दिए निर्देश!

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रधान सचिव डॉ पी के मिश्रा ने कोविड स्थितियों को मद्देनजर रखते हुए उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता की

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रधान सचिव डॉ पी के मिश्रा ने उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक के दौरान देश में कोविड की स्थिति और प्रधानमंत्री द्वारा दिए गए निर्देशों के अनुपालन की समीक्षा के लिए केंद्र सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों और विशेषज्ञों के साथ एक उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता की। बैठक में उन्हें चीन, जापान, दक्षिण कोरिया, सिंगापुर, ब्राजील सहित कुछ देशों में कोविड केस में बढ़ोतरी के साथ महामारी के विकसित वैश्विक परिदृश्य से अवगत कराया गया।

    समीक्षा बैठक के दौरान बताया गया कि पूरे जीनोम सिक्वेंसिंग (डब्ल्यूजीएस) को मजबूत करने और यह सुनिश्चित करने के लिए कि देश भर से इंसाकॉग (INSACOG) नेटवर्क में बड़ी संख्या में सैम्पल भेजे जाते हैं वो प्रधानमंत्री के निर्देशानुसार किया जा रहा है। दिसंबर 2022 के दौरान मिले लगभग 500 सैम्पल का वर्तमान में देश भर में इंसाकॉग (INSACOG) लैब्स द्वारा जीनोम सिक्वेंसिंग किया जा रहा है।

    बैठक में ये बताया गया कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने 29 दिसंबर 2022 को फार्मा कंपनियों के प्रतिनिधियों और वरिष्ठ अधिकारियों के साथ दवाओं की समीक्षा और उपलब्धता और उनके स्टॉक और कीमतों की निगरानी के लिए बैठक की। फार्मा कंपनियों को वैश्विक सप्लाई चेन पर कड़ी नजर रखने के लिए कहा गया और कोविड-19 दवाओं सहित सभी दवाओं का पर्याप्त स्टॉक और उपलब्धता सुनिश्चित करने को कहा गया। वाणिज्य मंत्रालय को चीन को मेडिसिन प्रोडक्शन और उपकरणों के चल रहे निर्यात की निगरानी करने के लिए कहा गया है।

    अधिकारियों और विशेषज्ञों के साथ कोविड टीकाकरण की स्थिति की समीक्षा की गई। ये बताया गया कि कोविड वैक्सीन की 220 करोड़ से अधिक खुराकें दी जा चुकी हैं, जिनमें से पात्र लाभार्थियों को अब तक 102.56 करोड़ पहली खुराक (97%) और 95.13 करोड़ दूसरी खुराक (90%) दी जा चुकी है। बैठक में मौजूद विशेषज्ञों ने टीकों के रिसर्च और भारत में उनके निर्माण के मुद्दों पर चर्चा की।

    इसके अलावा, आयुष मंत्रालय द्वारा लोगों को अपनी इम्युनिटी को मजबूत करने के लिए आयुष के प्रैक्टिसेज का उपयोग करने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए और एक उपाय के रूप में सलाह जारी की गई है, जैसा कि पहले की लहरों के दौरान किया गया था। राज्यों ने राष्ट्रीय आयुष मिशन के तहत उपलब्ध आयुष किट, दिशा-निर्देशों और आयुष किटों की खरीद और वितरण के व्यापक प्रसार के लिए अनुरोध किया।

    [आईएएनएस इनपुट के साथ]

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.