प्रधान मंत्री मोदी ने दवा उद्योग से अधिक से अधिक शोध करने का आग्रह किया है। डॉक्टरों से आग्रह किया कि वे अधिक से अधिक मरीजों को टीकाकरण के लिए प्रोत्साहित करें

मोदी ने शीर्ष डॉक्टरों के साथ एक बैठक बुलाई और उनसे आग्रह किया कि वे अधिक से अधिक मरीजों को आगे आने और टीका लेने के लिए प्रोत्साहित करें!

1
526
मोदी ने शीर्ष डॉक्टरों के साथ एक बैठक बुलाई और उनसे आग्रह किया कि वे अधिक से अधिक मरीजों को आगे आने और टीका लेने के लिए प्रोत्साहित करें!
मोदी ने शीर्ष डॉक्टरों के साथ एक बैठक बुलाई और उनसे आग्रह किया कि वे अधिक से अधिक मरीजों को आगे आने और टीका लेने के लिए प्रोत्साहित करें!

मोदी ने फार्मा उद्योग से कोविड के भविष्य के खतरों पर अधिक से अधिक शोध करने का आग्रह किया!

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को दवा (फार्मास्युटिकल) उद्योग के दिग्गजों से कोविड के साथ-साथ भविष्य में आने वाले खतरों पर अधिक से अधिक शोध करने का आग्रह किया। फार्मा उद्योग से सहयोग की मांग करते हुए, मोदी ने आश्वासन दिया कि सरकार नई दवाओं और नियामक प्रक्रियाओं के नियमों में सुधार कर रही है। इससे पहले मोदी ने शीर्ष डॉक्टरों के साथ बैठक की और उनसे आग्रह किया कि वे अधिक से अधिक मरीजों को टीकाकरण के लिए प्रोत्साहित करें।

वायरस की दूसरी लहर और मामलों की बढ़ती संख्या को देखते हुए, प्रधान मंत्री ने कई आवश्यक दवाओं के उत्पादन को बढ़ाने के लिए किये गए प्रयासों के लिए फार्मा उद्योग की सराहना की। उन्होंने रेमेडिसवीर जैसे इंजेक्शन की कीमत कम करने के लिए उनकी सराहना की। दवाओं और आवश्यक चिकित्सा उपकरणों की आपूर्ति को सुचारू रूप से जारी रखने के लिए, मोदी ने फार्मा उद्योग से निर्बाध आपूर्ति श्रृंखला सुनिश्चित करने का आग्रह किया। उन्होंने रसद और परिवहन जैसी सुविधाओं के लिए सरकार की ओर से समर्थन को भी बढ़ाया।

उन्होंने कहा केंद्र सरकार ने हाल ही में आवश्यक दवाओं की आपूर्ति, इंजेक्शन और ऑक्सीजन की पर्याप्त उपलब्धता से संबंधित कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए हैं और राज्यों को जरूरी दिशा निर्देश भी दिये गये हैं।

महामारी की स्थिति और टीकाकरण की प्रगति पर देश के प्रमुख डॉक्टरों के साथ एक वर्चुअल (आभासी) बातचीत में, उन्होंने यह भी कहा कि कोविड-19 इस समय स्तर-2 और स्तर-3 शहरों में तेजी से फैल रहा है, और डॉक्टरों से वहां काम करने वाले अपने सहयोगियों के साथ संपर्क करने के लिए और उन्हें ऑनलाइन परामर्श देने के लिए कहा ताकि सभी प्रोटोकॉल का सही तरीके से पालन किया जा सके।

इस खबर को अंग्रेजी में यहाँ पढ़े।

एक आधिकारिक बयान में कहा गया कि मोदी ने डॉक्टरों से कोविड उपचार और रोकथाम पर “अफवाहों” के खिलाफ लोगों को शिक्षित करने का आग्रह करते हुए कहा कि इस मुश्किल समय में बहुत महत्वपूर्ण है कि भड़कावे का शिकार न बनें। इसके लिए, मोदी ने कहा, उचित उपचार के साथ, अस्पतालों में भर्ती रोगियों की परामर्श (काउंसलिंग) पर भी जोर दिया जाना चाहिए। उन्होंने आपातकालीन स्थिति में अन्य बीमारियों के इलाज के लिए डॉक्टरों को टेली-मेडिसिन (ऑनलाइन चिकित्सा) का उपयोग करने के लिए भी प्रोत्साहित किया।

उन्होंने कहा केंद्र सरकार ने हाल ही में आवश्यक दवाओं की आपूर्ति, इंजेक्शन और ऑक्सीजन की पर्याप्त उपलब्धता से संबंधित कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए हैं और राज्यों को जरूरी दिशा निर्देश भी दिये गये हैं। देश भर में कोरोनोवायरस के मामलों में भारी उछाल के बीच, कुछ मुख्यमंत्रियों ने ऑक्सीजन की आपूर्ति में कमी और रेमेडीसविर जैसी दवाओं की कमी की शिकायत की है, और केंद्र के हस्तक्षेप की मांग की है।

मोदी ने कहा कि यह हमारे डॉक्टरों की कड़ी मेहनत और पूरे देश की रणनीति के कारण है कि भारत संक्रामक बीमारी को नियंत्रित करने में सक्षम रहा, और अब जब यह दूसरी लहर का सामना कर रहा है, तो सभी डॉक्टर और हमारे अग्रिम पंक्ति के कार्यकर्ता पूरी ताकत के साथ महामारी का सामना कर रहे हैं और लाखों लोगों की जान बचा रहे हैं।

उन्होंने छोटे शहरों में संसाधनों को विकसित करने के प्रयासों में तेजी लाने का भी आह्वान किया। बयान में कहा गया है कि डॉक्टरों ने महामारी से निपटने के अपने अनुभव साझा किए और संकट से निपटने में मोदी को उनके नेतृत्व के लिए बधाई दी। उन्होंने यह भी बताया कि कैसे वे स्वास्थ्य सेवा के बुनियादी ढांचे में वृद्धि कर रहे हैं और इसके साथ ही मास्क पहनने और दूरी बनाये रखने के महत्व को दोहराया।

उन्होंने गैर-कोविड रोगियों के लिए स्वास्थ्य के बुनियादी ढांचे को दुरुस्त रखने की आवश्यकता पर बल दिया और कहा कि वे दवाओं के अनुचित उपयोग के खिलाफ रोगियों को संवेदनशील कर रहे हैं।

इस बैठक में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन, उनके डिप्टी (उपमंत्री) अश्विनी कुमार चौबे, केंद्रीय रसायन और उर्वरक मंत्री डीवी सदानंद गौड़ा, उनके डिप्टी मनसुख मंडाविया, नीति आयोग सदस्य वीके पॉल और वरिष्ठ नौकरशाह भी उपस्थित थे।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.