निर्वाचन क्षेत्र के विकास के लिए फंड नहीं देने पर एचएएम ने दी एनडीए छोड़ने की धमकी

एचएएम के प्रमुख और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने गठबंधन छोड़ने की धमकी दी

0
359
एचएएम ने दी एनडीए छोड़ने की धमकी
एचएएम ने दी एनडीए छोड़ने की धमकी

एचएएम प्रमुख ने नितेश से मांगा 1000 करोड़ रुपये का फंड, नहीं देने पर एनडीए से समर्थन वापस लेने की धमकी

बिहार में सत्ताधारी राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के घटक दल हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (एचएएम) के प्रमुख और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने गठबंधन छोड़ने की धमकी दी है। मांझी ने मंगलवार को अपने विधानसभा क्षेत्र में लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से अपने क्षेत्र के विकास के लिए 1000 करोड़ रुपये की मांग की है। मांझी ने धमकी देते हुए कहा कि अगर नीतीश ऐसा नहीं करेंगे तो वे गठबंधन से अलग भी हो सकते हैं।

मांझी मंगलवार को अपने गृह जिला गया के इमामगंज में एक कार्यक्रम में भाग लेने पहुंचे थे। इसी दौरान उन्होंने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि यह उनकी राजनीति की अंतिम पारी है। वह नहीं चाहते कि कोई ‘अपजस’ लेकर जाएं। उन्हें इस बात की संतुष्टि रहेगी कि वह जो करना चाहते थे, उन्होंने किया।

इस खबर को अँग्रेजी में यहाँ पढ़ें!

मांझी ने कहा कि उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से क्षेत्र के विकास के लिए एक हजार करोड़ रुपये मांगे हैं और अपने बेटे मंत्री संतोष सुमन को एक हजार करोड़ का इस्टीमेट बनाकर रखने का भी निर्देश दे दिया है। इस दौरान उन्होंने यह भी कहा कि उन्हें अगर पैसे मिल जाते हैं तो इसी वित्तीय वर्ष में प्रक्रिया शुरू हो जाएगी और अगले वित्तीय वर्ष में काम पूरे हो जाएंगे।

उन्होंने आगे धमकी देते हुए कहा, “मैं फिर उनसे (मुख्यमंत्री) कहूंगा कि वे क्षेत्र के विकास के लिए 1000 करोड़ रुपया दें। मैं उनकी पार्टी में नहीं हूं, गठबंधन में हूं। छोड़ भी देंगे।”

मांझी ने हालांकि यह भी कहा कि मुख्यमंत्री उनकी बात मानते हैं, इसलिए उम्मीद है कि वे उनकी मांग मान लेंगे। मांझी पहले भी नीतीश कुमार को अपना बागी तेवर दिखा चुके हैं। उल्लेखनीय है कि बिहार राजग में जदयू, भाजपा, एचएएम और विकासशील इंसान पार्टी शामिल हैं।

[आईएएनएस इनपुट के साथ]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.