ईडी ने धन शोधन के आरोप में चिदंबरम को हिरासत में लेने के लिए इच्छुक। 17 बैंक खातों का प्रस्तुतिकरण किया। कोर्ट ने सोमवार को चिदंबरम की पेशी का आदेश दिया

चिदंबरम परिवार के भ्रष्टाचार के पुलिंदे एक के बाद एक सामने आने लगे हैं जैसे ही एजेंसियां उन्हें पूछताछ के लिए हिरासत में लेने के लिए कतार में हैं।

0
778
ईडी ने धन शोधन के आरोप में चिदंबरम को हिरासत में लेने के लिए इच्छुक। 17 बैंक खातों का प्रस्तुतिकरण किया। कोर्ट ने सोमवार को चिदंबरम की पेशी का आदेश दिया
ईडी ने धन शोधन के आरोप में चिदंबरम को हिरासत में लेने के लिए इच्छुक। 17 बैंक खातों का प्रस्तुतिकरण किया। कोर्ट ने सोमवार को चिदंबरम की पेशी का आदेश दिया

पूर्व वित्त मंत्री पलानप्पन चिदंबरम को शामिल करने वाली अगली भ्रष्टाचार ट्रेन आने वाली है। शुक्रवार को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने दागी पूर्व वित्त मंत्री को गिरफ्तार करने का फैसला किया, जो फिलहाल केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) के एक आईएनएक्स मीडिया रिश्वत मामले में तिहाड़ जेल में है। ईडी ने अपनी याचिका में ट्रायल कोर्ट को बताया कि वे चिदंबरम और उनके 17 खातों के जरिए धन शोधन की जांच के लिए हिरासती पूछताछ चाहते हैं।
न्यायाधीश अजय कुमार कुहर ने ईडी की याचिका पर सोमवार (14 अक्टूबर) को दोपहर 3 बजे कोर्ट में चिदंबरम को पेश करने का आदेश दिया।

आज सुबह, दिल्ली उच्च न्यायालय के न्यायमूर्ति सुरेश कैत की खंडपीठ ने चिदंबरम और कार्ति को ट्रायल कोर्ट के विवादास्पद न्यायाधीश ओ पी सैनी द्वारा एयरसेल-मैक्सिस घोटाले में दी गई अग्रिम जमानत के खिलाफ दायर की गई सीबीआई और ईडी की याचिका पर नोटिस जारी किया है [1]

इस बीच, जस्टिस भानुमति की अध्यक्षता वाली सुप्रीम कोर्ट की खंडपीठ 15 अक्टूबर (मंगलवार) को सीबीआई मामले में जमानत की मांग करने वाली चिदंबरम की याचिका पर सुनवाई करने वाली है। प्रवर्तन निदेशालय द्वारा शुक्रवार को चिदम्बरम की हिरासती पूछताछ हेतु ट्रायल कोर्ट का रुख करने ने, चिदंबरम की जेल से बाहर निकलने की योजना को ध्वस्त कर दिया। चिदंबरम को सीबीआई ने 21 अगस्त को गिरफ्तार किया था और अदालत ने उन्हें 5 सितंबर को तिहाड़ जेल भेज दिया था [2]

इस खबर को अंग्रेजी में यहाँ पढ़े।

ईडी द्वारा गिरफ्तारी के खिलाफ चिदंबरम की याचिका को पहले ही सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दिया है और अब यह तय है कि ट्रायल कोर्ट को पूर्व वित्त मंत्री को गिरफ्तार करने के लिए ईडी के अनुरोध को मंजूरी देने की उम्मीद है। अक्सर ईडी के मामलों में सजा सामान्य से अधिक होती है और दागी पूर्व वित्त मंत्री चिदंबरम के जेल से बाहर निकलने की संभावनाएं धूमिल हैं। एजेंसियों से उम्मीद है कि कार्ति को भी गिरफ्तार किया जाएगा क्योंकि वह भ्रष्टाचार के दोनों मामलों में चिदंबरम का सह-अभियुक्त है।

यह पता चला है कि कुछ सह-अभियुक्त अधिकारियों ने आईएनएक्स मीडिया मामले में गवाह बनने की इच्छा व्यक्त की है।

संदर्भ:

[1] एयरसेल-मैक्सिस घोटाला: विवादित जज ओपी सैनी द्वारा चिदंबरम और कार्ति को दी गई अग्रिम जमानत को चुनौती देने के लिए ईडी दिल्ली उच्च न्यायालय पहुँचीOct 11, 2019, Hindi.PGurus.com

[2] At last crooked, corrupt Chidambaram is jailedSep 6, 2019, PGurus.com

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.