मुझे लेक्चर वीडियो के लिए यूट्यूब से हर महीने चार लाख रुपए की रॉयल्टी मिलती है: गडकरी

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने अपने यूट्यूब चैनल को कैसे बढ़ाया इस पर दिलचस्प खुलासे!

0
555
केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने अपने यूट्यूब चैनल को कैसे बढ़ाया इस पर दिलचस्प खुलासे!
केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने अपने यूट्यूब चैनल को कैसे बढ़ाया इस पर दिलचस्प खुलासे!

नितिन गडकरी को यूट्यूब व्याख्यान वीडियो के लिए प्रति माह 4 लाख रुपये की रॉयल्टी मिलती है

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने शुक्रवार को कहा कि उन्हें यूट्यूब से हर महीने रॉयल्टी के रूप में चार लाख रुपये मिलते हैं, क्योंकि महामारी के दौरान मंच पर पोस्ट किए गए उनके व्याख्यान वीडियो के दर्शकों की संख्या में वृद्धि हुई है। भरूच में दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे (डीएमई) की प्रगति की समीक्षा करते हुए, गडकरी ने आगे कहा कि उनके मंत्रालय ने सड़क निर्माण ठेकेदारों और सलाहकारों की रेटिंग शुरू कर दी है।

न्यूज एजेंसी पीटीआई की रिपोर्ट के अनुसार सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री ने कहा कि कोविड-19 के दौरान उन्होंने दो काम किए। उन्होंने कहा – “मैं एक शेफ (खाना पकाने वाला) बन गया और घर पर खाना बनाना और वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए व्याख्यान देना शुरू कर दिया। मैंने 950 से अधिक व्याख्यान ऑनलाइन दिए, जिसमें विदेशी विश्वविद्यालयों के छात्रों को दिए व्याख्यान भी शामिल थे, जिन्हें यूट्यूब पर अपलोड किया गया था। मेरे यूट्यूब चैनल के दर्शकों की संख्या बढ़ी और यूट्यूब अब मुझे रॉयल्टी के रूप में प्रति माह 4 लाख रुपये का भुगतान करता है।”

गडकरी ने कहा कि इस एक्सप्रेसवे के तहत राज्य में 60 बड़े पुल, 17 इंटरचेंज, 17 फ्लाईओवर और आठ रोड ओवर ब्रिज (आरओबी) बनाए जाएंगे।

नितिन गकरी के यूट्यूब चैनल के 204000 सब्सक्राइबर हैं।[1]

इस खबर को अंग्रेजी में यहाँ पढ़े।

अपने बेबाक विचारों के लिए जाने जाने वाले गडकरी ने कहा कि भारत में अच्छा काम करने वालों को सराहना नहीं मिलती। मंत्री ने आर्थिक विकास और रोजगार के अवसर पैदा करने के लिए आधुनिक और उच्च गुणवत्ता वाली सड़कों के नेटवर्क के महत्व पर भी जोर दिया। उन्होंने कहा कि गुजरात में 35,100 करोड़ रुपये की लागत से 423 किलोमीटर सड़क का निर्माण किया जा रहा है। गडकरी ने कहा कि इस एक्सप्रेसवे के तहत राज्य में 60 बड़े पुल, 17 इंटरचेंज, 17 फ्लाईओवर और आठ रोड ओवर ब्रिज (आरओबी) बनाए जाएंगे।

परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री ने कहा कि इस एक्सप्रेस-वे पर विश्व स्तरीय परिवहन सुविधाएं प्रदान करने के साथ-साथ राज्य में रोजगार के अवसर पैदा करने के लिए 33 वेसाइड सुविधाएं भी बनाने का प्रस्ताव है। उन्होंने शुक्रवार को दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस वे के अपने हवाई सर्वेक्षण का वीडियो भी पोस्ट किया:

उन्होंने नर्मदा नदी के पार बड़ौच में पुल के निर्माण के निरीक्षण की तस्वीरें भी पोस्ट कीं:

संदर्भ:

[1] Nitin Gadkari – Home page – YouTube

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.