नकदी की तंगी से जूझ रही वोडाफोन-आइडिया को मिलेगा 14,500 करोड़ रुपये का प्रत्यक्ष विदेशी निवेश

शेयरधारकों को भेजे गए असाधारण आम बैठक के नोटिस (26 मार्च को आयोजित) के अनुसार लगभग 5,000 करोड़ रुपये के शेयर तीन विदेशी निवेशकों को 13.30 रुपये प्रति शेयर (3.30 रुपये प्रीमियम) पर आवंटित किए गये हैं और 10,000 करोड़ रुपये विदेशी निवेशकों को प्रतिभूतियां जारी करने से उत्पन्न हुए हैं

0
300
नकदी की तंगी से जूझ रही वोडाफोन-आइडिया को मिलेगा 14,500 करोड़ रुपये का प्रत्यक्ष विदेशी निवेश
नकदी की तंगी से जूझ रही वोडाफोन-आइडिया को मिलेगा 14,500 करोड़ रुपये का प्रत्यक्ष विदेशी निवेश

वोडाफोन-आइडिया को एफडीआई के साथ नया जीवन मिला

भारत सरकार के बेलआउट पैकेज के तुरंत बाद आदित्य बिड़ला समूह के नियंत्रण वाली मोबाइल फोन ऑपरेटर वोडाफोन-आइडिया को विदेशी निवेशकों से करीब 14,500 करोड़ रुपये मिलने जा रहे हैं। शेयरधारकों को भेजे गए असाधारण आम बैठक के नोटिस (26 मार्च को आयोजित) के अनुसार लगभग 5,000 करोड़ रुपये के शेयर तीन विदेशी निवेशकों को 13.30 रुपये प्रति शेयर (3.30 रुपये प्रीमियम) पर आवंटित किए गये हैं और 10,000 करोड़ रुपये विदेशी निवेशकों को प्रतिभूतियां जारी करने से उत्पन्न हुए हैं।

इस खबर को अंग्रेजी में यहाँ पढ़ें!

“… कंपनी के निदेशक मंडल (इसके बाद “बोर्ड” के रूप में संदर्भित किया गया है, जिसे इस संकल्प के तहत प्रदत्त शक्तियों सहित अपनी शक्तियों का प्रयोग करने के लिए निदेशकों की किसी भी विधिवत गठित / गठित समिति को शामिल करने के लिए समझा जाएगा), के सदस्यों की सहमति कंपनी को एतद्द्वारा 10/- के अंकित मूल्य के 3,38,34,58,645 (तीन सौ अड़तीस करोड़ चौंतीस लाख अड़तालीस हजार छह सौ पैंतालीस) इक्विटी शेयरों की पेशकश, निर्गम और आवंटन करने की स्वीकृति दी गई है कंपनी में से प्रत्येक (इक्विटी शेयर) रुपये 13.30 की कीमत पर (3.30 रुपये के प्रीमियम सहित) प्रति इक्विटी शेयर कुल मिलाकर 4,500 करोड़ रुपये, नीचे उल्लिखित प्रस्तावित आवंटियों को इस तरह की अन्य शर्तों पर अधिमान्य मुद्दे के माध्यम से और आईसीडीआर विनियमों और अधिनियम के अध्याय V के प्रावधानों सहित लागू कानूनों और विनियमों के अधीन, यहां निर्धारित शर्तें:

ईजीएम नोटिस के अनुसार, तीन विदेशी निवेशक हैं: “1. यूरो पैसिफिक सिक्योरिटीज लिमिटेड के मालिक 2,53,75,93,984 तक शेयर 10 रुपये की कीमत पर, 2. प्राइम मेटल्स लिमिटेड 3. ओरियाना इंवेस्टमेंट्स पीटीई लिमिटेड मालिक ग्रुप 84,58,64,661 तक इक्विटी शेयरों 10/- की कीमत पर।“ 2019 की मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, वोडाफोन ने पहले ही यूरो पैसिफिक सिक्योरिटीज को शेयर गिरवी रख दिए हैं। [1] प्राइम मेटल्स लिमिटेड एक ब्रिटिश कंपनी है जो धातु और रक्षा क्षेत्र में है और ओरियाना एक सिंगापुर स्थित वित्तीय निवेश कंपनी है जो आदित्य बिड़ला समूह से जुड़ी है।

10,000 करोड़ रुपये तक की प्रतिभूतियों को जारी करने के बारे में ईजीएम नोटिस में कहा गया है: “10,000 करोड़ की कुल राशि तक प्रतिभूतियों को जारी करना …. प्रतिभूतियां (जैसा कि इसके बाद परिभाषित किया गया है), ऐसी कीमत पर नकद के लिए जो बोर्ड द्वारा तय किया जा सकता है। लागू नियमों की शर्तों और लागू कानून के तहत अनुमति के अनुसार, एक या एक से अधिक किश्तों में, ग्रीन शूज (अधिक आवंटन का विकल्प) के विकल्प के साथ या बिना 10,000 करोड़ (दस हजार करोड़ रुपये केवल) की कुल राशि के लिए ऐसे निवेशकों को, चाहे वे भारतीय हों या विदेशी, योग्य संस्थागत खरीदारों सहित प्रतिभूतियों के ऐसे निर्गम में निवेश करने की अनुमति दी जा सकती है।”

आदित्य बिड़ला समूह द्वारा प्रबंधित वोडाफोन-आइडिया पर सरकार का लगभग दो लाख करोड़ रुपये (करीब 26 अरब डॉलर) बकाया था। हाल ही में इन बकाया को शेयरों के रूप में परिवर्तित किया गया था और अब भारत सरकार के पास मोबाइल फोन कंपनी में 35.8% शेयर हैं। सरकार पहले ही कह चुकी है कि वह सबसे बड़े शेयरधारक के रूप में वोडाफोन-आइडिया में किसी अधिकार का प्रयोग नहीं कर रही है। [2]

संदर्भ:

[1] Vodafone pledges entire stake in Voda-Idea with foreign banksMay 09, 2019, Live Mint

[2] टाटा टेलीसर्विसेज और बिड़ला नियंत्रित वोडाफोन-आइडिया दूरसंचार कंपनियों ने अपने भारी बकाया को खत्म करने के लिए भारत सरकार को शेयरों की पेशकश की।Jan 11, 2022, PGurus.com

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.