अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण 10 जून से शुरू होगा

भगवान राम के जन्मस्थान पर राम मंदिर के निर्माण की बहुप्रतीक्षित कार्यक्रम 10 जून से शुरू होनी है

0
543
भगवान राम के जन्मस्थान पर राम मंदिर के निर्माण की बहुप्रतीक्षित कार्यक्रम 10 जून से शुरू होनी है
भगवान राम के जन्मस्थान पर राम मंदिर के निर्माण की बहुप्रतीक्षित कार्यक्रम 10 जून से शुरू होनी है

अयोध्या में नींव के पत्थर रखकर राम मंदिर का निर्माण 10 जून से शुरू होना है। यह आयोजन पिछले नवंबर में सर्वोच्च न्यायालय के ऐतिहासिक फैसले में मंदिर के लिए आवंटित राम जन्मभूमि स्थल पर कुबेर टीला मंदिर में भगवान शिव की प्रार्थना के साथ किया जाएगा। श्री राम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट के प्रमुख महंत नृत्य गोपाल दास के प्रवक्ता महंत कमल नयन दास ने कहा – “रुद्राभिषेक” अनुष्ठान भगवान राम द्वारा निर्धारित परंपरा का पालन करता है, जिन्होंने लंका पर हमला करने से पहले शिव से प्रार्थना की थी।

मंदिर की नींव रखने का काम इन विशेष प्रार्थनाओं के बाद शुरू होगा। कमल नयन दास और अन्य पुजारियों द्वारा महंत नृत्य गोपाल दास की ओर से प्रार्थना की जाएगी, जिन्होंने हाल ही में इस स्थल का दौरा किया था। अनुष्ठान सुबह 8 बजे से शुरू होगा। कमल नयन दास ने कहा, “यह धार्मिक आयोजन कम से कम दो घंटे तक चलेगा और उसके बाद राम मंदिर का निर्माण मंदिर के ढांचे की नींव रखने के साथ शुरू होगा।”

इस खबर को अंग्रेजी में यहाँ पढ़े।

मार्च में, राम लला देवता को मंदिर के निर्माण के लिए रास्ता साफ करते हुए स्थल पर बने मंदिर से नए स्थान पर ले जाया गया। 11 मई को, स्थल को समतल करने के लिए बुलडोजर तैनात की गई थी। स्थल को समतल करने के दौरान, पुराने मंदिर के कई अवशेष मिले। अयोध्या राम जन्मभूमि मंदिर स्थल पर पांच फुट के शिवलिंग, काले मिश्रधातु के सात स्तंभ, लाल बलुआ पत्थर के छह स्तंभ और देवी-देवता की टूटी हुई मूर्तियाँ मिलीं[1]

पीटीआई से इनपुट्स के साथ

संदर्भ:

[1] असभ्य वामपंथी इतिहासकार उजागर – अयोध्या में मिले पुराने मंदिर के अवशेष। अब संदेह से परे साबित हो गया कि मस्जिद राम मंदिर को नष्ट करके बनाई गई थीMay 22, 2020, hindi.pgurus.com

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.