वायुसेना दिवस पर केंद्र सरकार ने दी ‘वेपन सिस्टम ब्रांच’ के गठन को मंजूरी!

शाखा के बनने से सरकार को उड़ान प्रशिक्षण के खर्च में कटौती कर 3,400 करोड़ रुपये से अधिक की बचत करने में मदद मिलेगी। यह नई शाखा भारतीय वायुसेना के पास मौजूद हर तरह के हथियारों का प्रबंधन करेगी।

0
93
वायुसेना दिवस पर केंद्र सरकार ने दी 'वेपन सिस्टम ब्रांच' के गठन को मंजूरी!
वायुसेना दिवस पर केंद्र सरकार ने दी 'वेपन सिस्टम ब्रांच' के गठन को मंजूरी!

वायुसेना को मिला तोहफा, ₹3400 करोड़ तक होगी बचत

केंद्र सरकार ने वायुसेना दिवस के मौके पर इंडियन एयरफोर्स में अफसरों के लिए हथियार प्रणाली शाखा (वेपन सिस्टम ब्रांच) की स्थापना को मंजूरी दे दी है। वायुसेना प्रमुख वीआर चौधरी ने इस बारे में जानकारी देते हुए कहा कि आजादी के बाद पहली बार वायुसेना में एक नई अभियानगत शाखा बनाई जा रही है। इस शाखा के बनने से सरकार को उड़ान प्रशिक्षण के खर्च में कटौती कर 3,400 करोड़ रुपये से अधिक की बचत करने में मदद मिलेगी। यह नई शाखा भारतीय वायुसेना के पास मौजूद हर तरह के हथियारों का प्रबंधन करेगी।

एयर चीफ मार्शल विवेक राम चौधरी ने चंडीगढ़ में #IndianAirForceDay समारोह के अवसर पर अपने संबोधन में कहा कि पिछले एक साल में, भारतीय वायुसेना ने अपने हिस्से की चुनौतियों का डटकर सामना किया है और सभी मोर्चों पर पूरी तरह खरी उतरी है। यह नॉन-काइनेटिक और नॉन-लीथल वारफेयर का जमाना है और इसने युद्ध के तरीकों को पूरी तरह बदल दिया है। पारंपरिक प्रणालियों और हथियारों को आधुनिक, लचीली और अनुकूली प्रौद्योगिकी के साथ संवर्धित करने की आवश्यकता है। हमें अपनी कॉम्बैट पावर को इंटीग्रेट करके इसके इस्तेमाल की आवश्यकता है; तीन सेवाओं की शक्तियों को एकीकृत करने की प्रक्रिया चल रही है।

वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल वीआर चौधरी ने कहा कि हमें अपने पूर्ववर्तियों की कड़ी मेहनत, लगन और दूरदर्शिता से विरासत में गौरवपूर्ण इतिहास मिला है। अग्निपथ योजना के माध्यम से वायु योद्धाओं को #भारतीय_वायुसेना में शामिल करना हम सभी के लिए एक चुनौती है। लेकिन इससे भी महत्वपूर्ण बात यह है कि यह हमारे लिए भारत के युवाओं की क्षमता का दोहन करने और इसे राष्ट्र की सेवा में लगाने का अवसर है। हमने यह सुनिश्चित करने के लिए अपनी परिचालन प्रशिक्षण पद्धति को बदल दिया है कि प्रत्येक अग्निवीर भारतीय वायुसेना में करियर शुरू करने के लिए सही कौशल और ज्ञान प्राप्त कर सके।

वायुसेना प्रमुख ने कहा कि इस साल दिसंबर में, हम शुरुआती प्रशिक्षण के लिए 3,000 वायु अग्निवीरों को शामिल करेंगे। आने वाले वर्षों में यह संख्या और बढ़ेगी। हम अगले साल से महिला वायु अग्निवीरों को शामिल करने की भी योजना बना रहे हैं। बुनियादी ढांचे का निर्माण प्रगति पर है। भारतीय वायु सेना ने आज अपनी 90वीं वर्षगांठ पर नए कॉम्बैट यूनिफॉर्म का भी अनावरण किया। वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल विवेक राम चौधरी ने अपने संबोधन में कहा, इस ऐतिहासिक अवसर पर मैं यह घोषणा करते हुए खुद को सौभाग्यशाली मान रहा हूं कि सरकार ने भारतीय वायु सेना में अधिकारियों के लिए एक हथियार प्रणाली शाखा के निर्माण को मंजूरी दे दी है।

[आईएएनएस इनपुट के साथ]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.