हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड के सुपरसोनिक ट्रेनर एचएलएफटी-42 ने एयरो इंडिया शो के पहले दिन बटोरी सुर्खियां !

एचएलएफटी-42 एयरक्राफ्ट वर्तमान ट्रेनर एयरक्राफ्ट हॉक आई-132, सबसोनिक ट्रेनर और मिग-21 के बीच के गैप को कम करेगा

0
367
हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड के सुपरसोनिक ट्रेनर एचएलएफटी-42 ने एयरो इंडिया शो के पहले दिन बटोरी सुर्खियां !
हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड के सुपरसोनिक ट्रेनर एचएलएफटी-42 ने एयरो इंडिया शो के पहले दिन बटोरी सुर्खियां !

हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड के सुपरसोनिक ट्रेनर एचएलएफटी-42 की टेल से हटाई गई हनुमानजी की तस्वीर; डायरेक्टर ने कहा स्टिकर हटाने का फैसला इंटरनल

बेंगलुरु में चल रहे एयरो इंडिया शो में सुर्खियां बटोरने वाले स्वदेशी सुपरसोनिक जेट की टेल से हनुमानजी की तस्वीर हटा दी गई है। सोमवार को शो के शुरुआती दिन हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड के सुपरसोनिक ट्रेनर एचएलएफटी-42 की टेल पर बने हनुमानजी का स्टीकर चर्चा में रहा था। स्टीकर के साथ मैसेज भी लिखा था- द स्टॉर्म इज कमिंग यानी तूफान आने वाला है।

एचएलएफटी-42 फाइटर ट्रेनर को देश के पहले स्वदेशी एयरक्राफ्ट मारुत का सक्सेसर बताया जा रहा है। इसके मॉडल से हनुमान की तस्वीर हटाने पर एचएएल के चेयरमैन सीबी अनंतकृष्ण ने कहा- विमान की टेल पर स्टिकर किसी इरादे से नहीं लगाया गया था। न ही किसी इरादे से इसे हटाया गया है।” वहीं एचएएल के डायरेक्टर डॉ. डीके सुनील ने कहा कि स्टिकर हटाने का फैसला इंटरनल है।

एचएलएफटी-42 नए पायलट्स को मॉडर्न वॉर टेक्नीक सिखाने के लिए बनाया गया है। एयरो इंडिया शो में इसका प्रोटोटाइप दिखाया गया। यह प्लेन फ्लाई बाय वायर कंट्रोल सिस्टम के साथ एक्टिव इलेक्ट्रॉनिकली स्कैन्ड एरे, इलेक्ट्रॉनिक वारफेयर सूट, इन्फ्रारेड सर्च एंड ट्रैक जैसी एवियोनिक सुविधाओं से लैस होगा। कंपनी ने अभी इसे कोई नाम नहीं दिया है।

एचएलएफटी-42 एयरक्राफ्ट वर्तमान ट्रेनर एयरक्राफ्ट हॉक आई-132, सबसोनिक ट्रेनर और मिग-21 के बीच के गैप को कम करेगा। यह एयरक्राफ्ट डबल इंजन वाला नेक्सच जेन सुपरसोनिक ट्रेनर है। एयरक्राफ्ट एक्टिव इलेक्ट्रॉनिकली स्कैन्ड एरे, इलेक्ट्रिक वारफेयर सूट, इंफ्रारेड सर्च एंड ट्रैक और फ्लाई बाई वायर कंट्रोल सिस्टम से लैस है।

हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक सीबी अनंतकृष्णन ने बताया कि एचएएल के पास 84,000 करोड़ रुपए के ऑर्डर बुक हैं। जबकि 50 हजार करोड़ रुपए के ऑर्डर पाइपलाइन में हैं। एयर शो के दौरान अर्जेंटीना ने 15 और मिस्र ने 20 लाइट कॉम्बैट एयरक्राफ्ट ‘तेजस’ को खरीदने में रुचि दिखाई है।

एयर शो में लगभग 100 विदेशी और 700 भारतीय कंपनियों सहित 800 से ज्यादा डिफेंस कंपनियों की भागीदारी हो रही है। इस दौरान 75 हजार करोड़ के 251 एमओयू साइन किए जाएंगे।

इस शो में एचएएल के 15 प्रोडक्ट का प्रदर्शन किया गया है। साथ ही एयरो इंडिया शो में पहली बार दो अमेरिकी F-35 फाइटर एयरक्राफ्ट प्रदर्शित किए गए। इसके अलावा अमेरिकी दल ने F-16 और F-18 फाइटर जेट को भी प्रदर्शनी में रखा है, जो भारतीय सेना को ऑफर किए जाएंगे।

13 फरवरी से 17 फरवरी तक चलने वाला शो मेक इन इंडिया, मेक फॉर द वर्ल्ड प्लान के मुताबिक स्वदेशी टेक्नोलॉजी को प्रदर्शित करने और विदेशी कंपनियों के साथ साझेदारी बनाने पर केंद्रित है। इसकी थीम ‘द रनवे टु ए बिलियन अपॉर्च्युनिटीज’ है।

शो के उद्घाटन के दौरान पीएम मोदी ने कहा, ‘पहले यह सिर्फ एयर शो था, लेकिन अब ये भारत की ताकत बनकर उभर रहा है। कोरोना काल के बाद पहली बार इस शो में दर्शक भी शामिल हो रहे हैं।’

[आईएएनएस इनपुट के साथ]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.