वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण एसबीआई अध्यक्ष को डांटते हुए पकड़ी गयीं। बैंक अधिकारियों ने मंत्री को दोषी माना और बाद में प्रेस विज्ञप्ति को वापस ले लिया

क्या निर्मला सीतारमण ने जूनियरों के सामने एसबीआई के एमडी / सीईओ को फटकार लगाकर सही काम किया?

0
246
क्या निर्मला सीतारमण ने जूनियरों के सामने एसबीआई के एमडी / सीईओ को फटकार लगाकर सही काम किया?
क्या निर्मला सीतारमण ने जूनियरों के सामने एसबीआई के एमडी / सीईओ को फटकार लगाकर सही काम किया?

27 फरवरी को असम के गुवाहाटी में एक बैठक में सभी अधिकारियों के सामने स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) के अध्यक्ष रजनीश कुमार को बुरा भला कहने की एक ऑडियो क्लिप सामने आने के बाद वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण एक बड़े विवाद में फंस गई हैं। कुछ मुखबिर अधिकारियों ने इस ऑडियो को सार्वजनिक रूप से कुछ घंटे बाद जारी कर दिया। अपने अध्यक्ष के खिलाफ वित्त मंत्री के अपमानजनक लहजे पर प्रतिक्रिया देते हुए, अखिल भारतीय बैंक अधिकारियों के परिसंघ ने 13 मार्च की शाम को वित्तमंत्री द्वारा अपमानजनक बर्ताव का आरोप लगाते हुए, मंत्री के खिलाफ हमलावर प्रेस विज्ञप्ति जारी की। लेकिन कथित रूप से, वित्त मंत्रालय के दबाव के कारण, परिसंघ ने 14 मार्च की शाम को प्रेस विज्ञप्ति वापस ले ली।

जनता की जानकारी के लिए, पीगुरूज निर्मला सीतारमण का ऑडियो, जिसमें एसबीआई के अध्यक्ष रजनीश कुमार को अपशब्द कहे गए और अखिल भारतीय बैंक अधिकारियों के परिसंघ के दो प्रेस रिलीज़ अपलोड कर रहा है। ऑडियो में, निर्मला सीतारमण को एसबीआई के अध्यक्ष पर चिल्लाते हुए सुना जा सकता है, जिसकी वजह से वे अपना-सा मुँह लेकर रह गए और उन्हें सार्वजनिक रूप से माफी भी मांगनी पड़ी।

इस खबर को अंग्रेजी में यहाँ पढ़े।

13 मार्च को, परिसंघ ने वित्त मंत्री के खिलाफ उनके व्यवहार और रवैये को दोष देते हुए एक हमलावर प्रेस विज्ञप्ति जारी की, उन्हें याद दिलाया कि बैंक अधिकारियों के साथ ऐसा व्यवहार नहीं किया जाना चाहिए। कुछ घंटों के बाद, उन्होंने प्रेस विज्ञप्ति वापस ले ली। दोनों नीचे प्रकाशित हैं:

टीम के एक वरिष्ठ प्रबंधन विशेषज्ञ, जिन्होंने टीम पीगुरूज से बात की, उन्होंने कहा: “वह यही बात एमडी / सीईओ से आमने सामने की बातचीत में एक बन्द कमरे में कह सकती थीं। प्रबंधन का पहला नियम – उनके कर्मचारियों के सामने कभी भी अपने कर्मचारी के साथ दुर्व्यवहार न करें – इससे अधिक मनोबल गिराने वाली बात नहीं हो सकती। सार्वजनिक रूप से प्रशंसा करें और निजी में आलोचना करें। रजनीश अपने कनिष्ठों का सम्मान कैसे प्राप्त करेंगे? कोई कुछ नहीं करेगा – इससे भी बुरी बात यह है कि सभी जानते है कुछ गलत हुआ है और किसी न किसी को इसका दोष लेना होगा। आनेवाला समय रोचक होगा….!”

04_press Release on FM’s Comments on SBI Chairman by PGurus on Scribd

एकआईबीओसी ने प्रेस विज्ञप्ति को वापस ले लिया
एकआईबीओसी ने प्रेस विज्ञप्ति को वापस ले लिया

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.