उजागर हो गया कि रिश्वत कैसे हस्तांतरित की गयी। अगस्ता वेस्टलैंड रिश्वत हस्तांतरण के लिए प्रमुख चावल निर्यातक अनूप कुमार गुप्ता गिरफ्तार। पहले से ही एम्ब्रेयर सौदे में रिश्वत के लेनदेन के लिए भी आरोपित।

रिश्वत कैसे प्रबंधित की जाती है, इसके नए तरीके अनूप गुप्ता चावल निर्यातक घोटाले में सामने आ रहे हैं!

0
567
रिश्वत कैसे प्रबंधित की जाती है, इसके नए तरीके अनूप गुप्ता चावल निर्यातक घोटाले में सामने आ रहे हैं!
रिश्वत कैसे प्रबंधित की जाती है, इसके नए तरीके अनूप गुप्ता चावल निर्यातक घोटाले में सामने आ रहे हैं!

ईडी ने अनूप कुमार गुप्ता को अगस्ता वेस्टलैंड वीवीआईपी हेलीकॉप्टर खरीद में रिश्वत लेनदेन के सिलसिले में गिरफ्तार किया

केआरबीएल (ख़ुशी राम और बिहारी लाल) लिमिटेड के संयुक्त प्रबंध निदेशक एवं भारत के सबसे बड़े चावल निर्यातक अनूप कुमार गुप्ता भारतीय वायु सेना की खरीद से संबंधित भ्रष्टाचार के मामले में दोबारा पकड़े गए हैं। शनिवार को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने गुप्ता को अगस्ता वेस्टलैंड वीवीआईपी हेलीकॉप्टर खरीद में रिश्वत लेनदेन के सिलसिले में गिरफ्तार किया, इस सौदे में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उनके भरोसेमंद व्यक्ति स्वर्गीय अहमद पटेल शामिल थे।

कांग्रेस सरकार के समय, एम्ब्रेयर जेट्स की खरीद में रिश्वत के पैसों के लेन-देन के लिए गुप्ता को पहले ही ईडी द्वारा दिसंबर 2020 में आरोपित किया जा चुका है। वास्तव में भारत सरकार को कुछ साल पहले इस मामले पर कार्यवाही करने के लिए मजबूर किया गया था जब एम्ब्रेयर ने विदेशी भ्रष्टाचार आचरण अधिनियम के तहत अमेरिकी अधिकारियों के सामने खुलासा किया था कि उन्होंने भारत और सऊदी अरब में कैसे सौदे किए थे। एम्ब्रेयर ने यूएस के सामने खुलासा किया कि भारतीय सौदे के लिए, उन्होंने अनूप गुप्ता की कंपनी को अपनी सहायक कंपनी के माध्यम से रिश्वत हस्तांतरित की थी। गुप्ता और उनके भतीजे और अन्य हथियारों के डीलरों पर पिछले महीने आरोप पत्र दायर किये गए हैं[1]

ईडी द्वारा न्यायालय में किए गए इस खुलासे से पता चलता है कि भारत का सबसे बड़ा चावल निर्यातक केआरबीएल लिमिटेड (प्रसिद्ध ब्रांड इंडिया गेट बासमती राइस है) भारतीय वायु सेना की उड़ानों की खरीद में रिश्वत के लेनदेन में शामिल है और पैसे के लेन-देन के लिए अपने चावल व्यापार साम्राज्य का उपयोग कर रहा है।

अब अनूप कुमार गुप्ता को अगस्ता वेस्टलैंड वीवीआईपी हेलीकॉप्टर रिश्वत के लिए भी गिरफ्तार किया गया है और न्यायालय ने ईडी को पांच दिन की हिरासत की अनुमति दी है। रिश्वत हस्तांतरण में गुप्ता की भूमिका के बारे में बताते हुए, ईडी के अधिवक्ता एनके मत्ता ने न्यायालय से कहा: “यह प्रस्तुत किया गया है कि मैसर्स आईडीएस सूचना प्रौद्योगिकी और इंजीनियरिंग सर्ल, ट्यूनीशिया को अगस्ता वेस्टलैंड से 24.37 मिलियन यूरो की आपराधिक आय प्राप्त हुई और इस में से लगभग 12.4 मिलियन यूरो को आगे मैसर्स इंटरस्टेलर टेक्नोलॉजीज लिमिटेड, मॉरीशस में स्थानांतरित कर दिया गया, और आपराधिक आय को आगे विभिन्न कंपनियों में स्थानांतरित कर दिया गया, जिसमें मैसर्स रावसी अल खलीज जनरल ट्रेडिंग एलएलसी दुबई, केआरबीएल की दुबई शाखा द्वारा निर्मित कंपनी केआरबीएल डीएमसीसी शामिल हैं। गुप्ता केआरबीएल डीएमसीसी और मेसर्स रावसी अल खलीज जनरल ट्रेडिंग (आरएकेजीटी) एलएलसी दुबई के निदेशकों में से एक थे, इन्हीं कंपनियों का इस्तेमाल वीवीआईपी हेलिकॉप्टर घोटाले में आपराधिक आय के लेनदेन में किया गया था[2]।”

इस खबर को अंग्रेजी में यहाँ पढ़े।

ईडी द्वारा न्यायालय में किए गए इस खुलासे से पता चलता है कि भारत का सबसे बड़ा चावल निर्यातक केआरबीएल लिमिटेड (प्रसिद्ध ब्रांड इंडिया गेट बासमती राइस है) भारतीय वायु सेना की उड़ानों की खरीद में रिश्वत के लेनदेन में शामिल है और पैसे के लेन-देन के लिए अपने चावल व्यापार साम्राज्य का उपयोग कर रहा है। यह घटना भारत में कई व्यापारियों और हथियारों से संबंधित गिरोहों और दुबई आधारित संचालन की भूमिका को उजागर करती है। अगस्ता वेस्टलैंड में मुख्य रिश्वत देने वाले क्रिश्चियन मिशेल जो कि अब जेल में है, को अब दुबई से भेज दिया गया है।

अगस्ता हैलीकॉप्टर घोटाले में यह याद रखना चाहिए कि आज तक, रिश्वत प्राप्त करने वाले किसी भी राजनेता से पूछताछ या उसकी गिरफ्तारी नहीं की गयी है, हालांकि अप्रैल 2016 में इटालियन कोर्ट का फैसला स्पष्ट रूप से सोनिया गांधी की भूमिका को दिखाता है।

संदर्भ:

[1] ED files charge sheet in UPA-era Embraer defence deal; says commission were paid for contractDec 09, 2020, Hindustan Times

[2] AgustaWestland case: Businessman Anoop Gupta sent to 5 days ED remandJan 30, 2021, TOI

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.