आरपीएससी पेपर लीक मामला: शिक्षा विभाग के 4 कर्मचारी बर्खास्त, जब्त होगी आरोपियों की संपत्ति!

नकल गैंग में शामिल बदमाशों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की कड़ी में उनकी संपत्ति को जब्त किया जाएगा।

0
49
आरपीएससी पेपर लीक मामला
आरपीएससी पेपर लीक मामला

आरपीएससी पेपर लीक मामले में सीएम गहलोत ने अपनाया कड़ा रुख; शिक्षा विभाग के चार कर्मचारियों को किया तत्काल प्रभाव से बर्खास्त

आरपीएससी के पेपर लीक केस में अशोक गहलोत सरकार ने सख्त कदम उठाते हुए शिक्षा विभाग के चार कर्मचारियों को तत्काल प्रभाव से बर्खास्त कर दिया है। वहीं नकल गैंग में शामिल बदमाशों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की कड़ी में उनकी संपत्ति को जब्त किया जाएगा। सीएम अशोक गहलोत ने इस पूरे मसले पर शिक्षा मंत्री डॉ. बीडी कल्ला और राजस्थान लोक सेवा आयोग (आरपीएससी) चेयरमैन संजय क्षोत्रिय से फोन पर बात की है। पेपर लीक मामले को लेकर राजस्थान में विपक्ष सरकार पर जबर्दस्त तरीके से हमलावर हो रखा है। पेपर लीक केस पर सूबे में राजनीति का पारा चढ़ा हुआ है।

जानकारी के अनुसार आरपीएससी पेपर लीक मामले में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कड़ा रुख अपना लिया है। शनिवार को सुबह शिक्षक भर्ती परीक्षा का सामान्य ज्ञान परीक्षा का पेपर लीक होने के बाद जैसे ही राजस्थान की राजनीति गरमाई तो आनन-फानन में प्रथम दृष्टया दोषी पाए गए शिक्षा विभाग के 4 कर्मचारियों को शाम को ही बर्खास्त कर दिया गया। इनमें जालोर के जसवंतपुरा के महात्मा गांधी राजकीय विद्यालय के वरिष्ठ संस्कृत अध्यापक रावताराम, जालोर के ही झाब के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय के एलडीसी पुखराज और सिरोही के गोल के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय के साइंस के सैकेंड ग्रेड टीचर भागीरथ शामिल है।

सरकार ने पेपर लीक मामले की प्रारंभिक जांच में मिले सबूतों के आधार पर इनको बर्खास्त किया है। शिक्षा मंत्री डॉ. बीडी कल्ला ने विभाग को कार्रवाई की मंजूरी दे दी है। वहीं दो दर्जन अन्य कर्मचारियों की भूमिका की पुलिस जांच कर रही है। सीएम गहलोत पेपर लीक मामले में किसी भी प्रकार की कोताही नहीं बरतने के निर्देश दिए हैं। सीएम ने पुलिस महानिदेशक को भी आरोपियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। उसके बाद पुलिस इस पूरे मामले की गंभीरता से जांच करने में जुटी है।

पुलिस मुख्यालय नकल गैंग में शामिल बदमाशों की संपत्ति जब्त करने और उनके खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत भी कार्रवाई करने की तैयारी कर रहा है। पासा कानून में संशोधन कर सम्पत्ति जब्त करने पर विचार किया जा रहा है। पासा कानून के तहत आरोपियों को एक वर्ष तक हिरासत में रखा जा सकेगा। उल्लेखनीय है कि राजस्थान में वरिष्ठ अध्यापक भर्ती परीक्षा का शनिवार को सुबह आयोजित होने वाला सामान्य ज्ञान का पेपर लीक हो गया था। उदयपुर पुलिस ने पेपर शुरू होने से पहले इसका खुलासा किया था। उसके बाद राजस्थान लोक सेवा आयोग ने इस पेपर को निरस्त कर दिया था। जांच में सामने आया कि ये पेपर 10-10 लाख रुपये में बेचा गया था।

[आईएएनएस इनपुट के साथ]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.