आरबीआई ने रेपो रेट 0.50% बढ़ाई, बढ़ जाएगी आपके लोन की ईएमआई

रेपो रेट में 0.50 प्रतिशत की बढ़ोतरी के बाद एमएसएफ 5.15 फीसदी से बढ़कर 5.65 प्रतिशत हो गया।

0
79
आरबीआई ने रेपो रेट 0.50% बढ़ाई, बढ़ जाएगी आपके लोन की ईएमआई
आरबीआई ने रेपो रेट 0.50% बढ़ाई, बढ़ जाएगी आपके लोन की ईएमआई

आरबीआई की ओर से आम जनता को परेशान करने वाली एक और खबर!

भारतीय रिजर्व बैंक ने मॉनिटरी पॉलिसी का ऐलान कर दिया है। रिजर्व बैंक गवर्नर शक्तिकांत दास ने शुक्रवार 5 अगस्त को रेपो रेट में 50 बेसिस प्वाइंटस का इजाफा किया। इसके साथ ही रेपो रेट बढ़कर 5.40 फीसदी पहुंच गया। रेपो रेट में 0.50 प्रतिशत की बढ़ोतरी के बाद एमएसएफ 5.15 फीसदी से बढ़कर 5.65 प्रतिशत हो गया। एमपीसी बैठक में अकोमोडेटिव रुख वापस लेने पर फोकस रखा गया। आरबीआई ने कहा कि कोर महंगाई दर ऊंचे स्तर पर रहने का अनुमान है। हालांकि अप्रैल के मुकाबले महंगाई में कमी आई है। शहरी मांग में सुधार देखने को मिल रहा है। ग्रामीण मांग में धीरे-धीरे सुधार हो रहा है। इसके साथ ही आरबीआई की ओर से ये भी साफ किया गया कि, निवेश में तेजी देखने को मिल रही है। दरअसल पहले ही ये अनुमान लगाया जा रहा था कि, आरबीआई रेपो रेट में इजाफा करेगा जिसका सीधा असर ईएमआई पर पड़ेगा। यानी अब आम आदमी की जेब पर ईएमआई का अतिरिक्त बोझ पड़ेगा।

ब्याज दरें बढ़ने का सीधा असर उन लोगों के ऊपर होगा, जो होम लोन या पर्सनल लोन की ईएमआई चुका रहे हैं। इसके अलावा जो लोग आने वाले समय में घर या कार खरीदने की योजना बना रहे हैं, उनके ऊपर भी बढ़ी ईएमआई का बोझ पड़ना तय है।

महंगाई को काबू करने के लिए रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने अहम कदम उठाते हुए चार साल तक रेट में इजाफा नहीं किया था। हालांकि इस साल मई महीने से रेपो रेट को बढ़ाने की शुरुआत की है।

रिजर्व बैंक ने मई महीने में मौद्रिक नीति समिति की आपात बैठक बुलाई थी। महंगाई बेहिसाब बढ़ जाने की वजह से रिजर्व बैंक को ऐसा करना पड़ा था।ल

आरबीआई के फैसले के चलते आपके होम लोन पर सीधा असर पड़ेगा। इसके तहत मान लीजिए आपने 20 लाख रुपये का होम लोन 20 वर्ष के लिए 6.85 फीसदी ब्याज दर पर लिया था तो आपको 15,326 रुपए ईएमआई देना पड़ रहा था, लेकिन तीन बार रेपो रेट में कुल 1.40 बेसिस प्वाइंट की बढ़ोतरी होने के बाद होम लोन पर ब्याज दर बढ़कर 8.25 फीसदी हो जाएगा। ऐसे में आपको 17,041 रुपए ईएमआई चुकाना होगा, यानि तीन महीने में 1715 रुपये ज्यादा ईएमआई महंगा हो जाएगा। पूरे साल में आपकी जेब पर 20,580 रुपए का अतिरिक्त बोझ पड़ेगा।

मई 2022 की बैठक में रिजर्व बैंक ने रेपो रेट को 0.40 फीसदी बढ़ाया था। उसके बाद जून महीने में मौद्रिक नीति समिति की नियमित बैठक हुई। इसमें रेपो रेट को 0.50 फीसदी बढ़ाया गया।

आरबीआई ने मई महीने में करीब दो साल बाद पहली बार रेपो रेट में बदलाव किया था। करीब दो साल तक रेपो रेट महज 4 फीसदी पर बना रहा था। अभी रेपो रेट 4.90 फीसदी है।

[आईएएनएस इनपुट के साथ]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.