हनुमान जयंती शोभायात्रा पर उपद्रवियों ने पथराव किया, तलवार और गोलियां भी चलीं

विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) के प्रवक्ता विनोद बंसल ने ट्वीट कर बताया कि हनुमान जयंती शोभायात्रा पर इस्लामिक चरमपंथियों द्वारा हमला किया गया है।

0
519
हनुमान जयंती शोभायात्रा पर उपद्रवियों ने पथराव किया, तलवार और गोलियां भी चलीं
हनुमान जयंती शोभायात्रा पर उपद्रवियों ने पथराव किया, तलवार और गोलियां भी चलीं

हनुमान जयंती शोभायात्रा पर पथराव, आगजनी और गोलियां चलाई गयीं!

दिल्ली के जहांगीरपुरी इलाके में शनिवार को हनुमान जन्मोत्सव की शोभायात्रा पर पथराव हुआ। उपद्रवियों ने यहां आगजनी भी की है। इसके साथ ही तलवार और गोलियां भी चली हैं। हमले के बाद इलाके में तनाव का माहौल है। पुलिस के मुताबिक, जहांगीरपुरी में तनाव है, लेकिन हालात पर काबू पा लिया गया है। वहां आरएएफ की दो कंपनियां तैनात कर दी गई हैं। इसके अलावा संंवेदनशील इलाकों में पुलिस फोर्स तैनात कर दिया गया है। पूरी दिल्ली हाई अलर्ट पर है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने दिल्ली पुलिस कमिश्नर से स्थिति की जानकारी ली और जरूरी कदम उठाने के निर्देश दिए।

घटना जहांगीरपुरी के कुशल सिनेमा के पास की है। यहां शोभायात्रा पर अचानक पथराव हुआ। कई गाड़ियों में तोड़फोड़ की गई। पथराव रोकने पहुंचे कई पुलिसकर्मी भी इसकी चपेट में आकर घायल हो गए। हालांकि गृह मंत्रालय के मुताबिक, सिर्फ एक पुलिसकर्मी घायल हुआ है। घटना के बाद कई थानों से एडिशनल पुलिस फोर्स बुलाई गई है। रैपिड एक्शन फोर्स इलाके में मार्च कर रही है।

दिल्ली पुलिस कमिश्नर राकेश अस्थाना के मुताबिक- हालात नियंत्रण में हैं। स्थिति बिगाड़ने वालों पर सख्त कार्रवाई होगी। दिल्ली के बाकी इलाकों में भी सुरक्षा को और मजबूत किया जाएगा। बवाल के दौरान कई पुलिसकर्मियों को चोट आई हैं। शाम करीब 5:30 बजे ये घटना हुई है। कुशल सिनेमा के पास ये पथराव हुआ।

विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) के प्रवक्ता विनोद बंसल ने ट्वीट कर बताया कि हनुमान जयंती शोभायात्रा पर इस्लामिक चरमपंथियों द्वारा हमला किया गया है। हमले में गोली चलने और पथराव की भी खबर है, जिसमें पुलिसकर्मी समेत कई घायल हैं। बंसल ने लिखा है कि ‘दिल्ली के जहांगीरपुरी में #हनुमान जन्मोत्सव शोभायात्रा पर इस्लामिक जिहादियों ने की पत्थर, तलवार व गोलियों की बौछार

कुछ वीडियो फुटेज सामने आए हैं। इनमें ज्यादातर पुलिसकर्मी घायल नजर आ रहे हैं। दंगा विरोधी फोर्स को तैनात कर दिया गया है। पुलिस की वीडियो टीम ने इलाके के कई फुटेज हासिल कर लिए हैं। इनमें कुछ लोगों की पहचान भी हो चुकी है। पुलिस अफसरों का कहना है कि इस मामले से सख्ती से निपटा जाएगा।

भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने कहा- जहांगीरपुरी में बड़ी तादाद में बांग्लादेशी घुसपैठिए रहते हैं। दिल्ली के दंगों के दौरान भी यही हुआ था। छतों पर पत्थर कैसे पहुुंचे हैं। अब किसी सबूत की जरूरत नहीं है। करौली के बाद खरगोन में भी यही हुआ था। रामनवमी और हनुमान जयंती पर क्या ये हमले संयोग हैं या प्रयोग। सरकार को अब ठोस कार्रवाई करनी ही होगी।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली की सुरक्षा की जिम्मेदारी केंद्र सरकार की है। दिल्ली के जहांगीर पुरी में शोभायात्रा में पथराव की घटना बेहद निंदनीय है। जो भी दोषी हों उन पर सख़्त कार्रवाई होनी चाहिए। सभी लोगों से अपील- एक दूसरे का हाथ पकड़कर शांति बनाए रखें।

आप नेता सौरभ भारद्वाज ने एक चैनल से कहा- यह बहुत सुंदर अ‌वसर था। आज हनुमान जयंती थी। दोनों समुदायों में कुछ लोग ऐसे हैं जो हिंसा फैलाने का मौका नहीं छोड़ते। हम चाहते हैं कि यह मैसेज दिया जाए कि पुलिस मूकदर्शक नहीं है।

सीएए और एनआरसी को लेकर आंदोलन के दौरान 23 फरवरी 2020 की रात को दिल्ली में दंगे भड़क गए थे। 23 से 26 को हुए दंगे में उत्तर-पूर्वी दिल्ली के कई इलाकों में जो तांडव हुआ, उसके निशान अब तक मौजूद हैं। उत्तर पूर्वी दिल्ली के चांद बाग, खजूरी खास, बाबरपुर, जाफराबाद, सीलमपुर, मुख्य वजीराबाद रोड, करावल नगर, शिव विहार और ब्रह्मपुरी चपेट में आए थे। इन दंगों में 42 लोग मारे गए थे और 250 लोग घायल हुए थे। मामले की जांच के लिए दो एसआईटी बनाई गईं थीं।

[आईएएनएस इनपुट के साथ]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.