एयर एशिया के लाखों पैसेंजर्स हुए सायबर अटैक का शिकार, निजी डाटा चुराकर किया पब्लिक!

एयरलाइन 11 और 12 नवंबर को एक रैंसमवेयर हमले का शिकार हुई थी। डाइक्सिन का दावा है कि उसने 50 लाख यूनिक पैसेंजर और एयरलाइन स्टाफ का डाटा चुराया है।

0
90
एयर एशिया
एयर एशिया

एयर एशिया के 50 लाख यात्रियों का निजी डाटा चोरी

एक रैनसमवेयर ऑपरेटर गिरोह ‘डाइक्सिन टीम’ ने मलेशियाई एयरलाइन एयर एशिया के 50 लाख यात्रियों से संबंधित डाटा चुराकर उसका सैंपल सार्वजनिक कर दिया है। एयरलाइन 11 और 12 नवंबर को एक रैंसमवेयर हमले का शिकार हुई थी। डाइक्सिन का दावा है कि उसने 50 लाख यूनिक पैसेंजर और एयरलाइन स्टाफ का डाटा चुराया है। ग्रुप ने इस संबंध में एक कथित तौर पर एक औपचारिक बयान भी जारी किया है। चुराए गए डाटा में बुकिंग आईडी और कंपनी के कर्मचारियों का व्यक्तिगत डाटा शामिल है।

अमेरिकी साइबर सुरक्षा खुफिया एजेंसियों की एक हालिया साइबर सुरक्षा एडवाइजरी में हेल्थकेयर सेक्टर पर हमले की शंका जताई थी। इस एडवाइजरी में डाइक्सिन टीम का जिक्र था। गौरतलब है कि इस वाकये पर अभी तक एयर एशिया की ओर से कोई बयान नहीं आया है।

टीम द्वारा जारी कथित रिलीज के अनुसार, जो जानकारी चुराई गई है उसमें नाम, जन्मतिथि, मेडिकल रिकॉर्ड, मरीज का अकाउंट नंबर, सोशल सिक्योरिटी नबंर, मेडिकल व ट्रीटमेंट संबंधी जानकारी शामिल है। उन्होंने कहा है कि इन निजी जानकारियों के आधार पर कई तरह के अपराधों को अंजाम दिया जा सकता है। मसलन, नए वित्तीय खाते खोलना, बैंक से लोन लेना, मेडिकल सेवा लेना व हेल्थ इंफोर्मेशन का इस्तेमाल कर लोगों को ठगना, सरकारी लाभ उठाने के लिए जानकारी का इस्तेमाल करना, फर्जी टैक्स रिटर्न भरना और अरेस्ट के समय पुलिस को फर्जी जानकारी मुहैया कराना आदि। टीम ने कहा है कि एयर एशिया ने साइबर अटैक की बात स्वीकारी थी लेकिन फिरौती की रकम पर सहमति नहीं बन पाई थी।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, मलेशिया में हालिया कुछ सालों में साइबर अटैक की घटनाएं काफी बढ़ी हैं। खबर के अनुसार, कुछ समय पहले नेशनल रजिस्ट्री से करीब 2.25 करोड़ लोगों का निजी डाटा चोरी हो गया था। इसके अलावा एक पेमेंट गेटवे के डाटा में भी सेंध लगी थी।

[आईएएनएस इनपुट के साथ]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.