कार्ति से जुड़ी फर्म ने राजस्थान की तरह ओडिशा में भी एम्बुलेंस सेवाओं से 300 करोड़ रुपये का गबन किया है। आईटी कमिश्नर श्रीवास्तव ने सीबीआई और ईडी को शिकायत दर्ज कराई

ओएएसईयू (OASEU) की एक शिकायत के अनुसार, कार्ति द्वारा संचालित फर्म Ziqitza ने ओडिशा में उसी कार्यप्रणाली का इस्तेमाल किया और सरकार से 300 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी की।

0
490
ओएएसईयू (OASEU) की एक शिकायत के अनुसार, कार्ति द्वारा संचालित फर्म Ziqitza ने ओडिशा में उसी कार्यप्रणाली का इस्तेमाल किया और सरकार से 300 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी की।
ओएएसईयू (OASEU) की एक शिकायत के अनुसार, कार्ति द्वारा संचालित फर्म Ziqitza ने ओडिशा में उसी कार्यप्रणाली का इस्तेमाल किया और सरकार से 300 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी की।

गाथा कभी खत्म नहीं होती। हर दिन एक नया घोटाला सामने आता है जिसमें चिदंबरम परिवार जुड़ा होता है। पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम द्वारा संचालित फर्म ज़िकिट्ज़ा हेल्थकेयर लिमिटेड (ZHL), जो राजस्थान एम्बुलेंस सेवा घोटाले में शामिल थी, अब पाया गया है कि उसने ओडिशा में भी उसी तरीके से धन का गबन किया है। ओडिशा एम्बुलेंस सर्विसेज एम्प्लाइज यूनियन (OASEU) ने आरोप लगाया कि 300 करोड़ रुपये से अधिक की चोरी ज़िकिट्ज़ा हेल्थकेयर लिमिटेड (ZHL) द्वारा की गई, जो फर्म अब राजस्थान में केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) द्वारा अभियोजन का सामना कर रही है। ओएएसईयू ने कार्ति द्वारा संचालित फर्म द्वारा पांच साल की अवधि में धन चोरी के लिए एंबुलेस के फर्जी दौरों के बिलों और बिलों में अधि-चालान से सम्बंधित कई वाउचर प्रस्तुत किए हैं।

चोरी का एक सा सूत्र

ओएएसईयू द्वारा ओडिशा राज्य अधिकारियों को दायर की गई शिकायत का हवाला देते हुए, आयकर आयुक्त एस के श्रीवास्तव ने सीबीआई, आयकर महानिदेशक (जांच) और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के पास एक शिकायत दर्ज कराई, जिसमें आग्रह किया गया कि एजेंसियां मामले की जांच करें जैसा कि एजेंसियां पहले से ही राजस्थान में उसी फर्म द्वारा निष्पादित “समान धोखाधड़ी” की जांच कर रही हैं। राजस्थान एम्बुलेंस घोटाले में, एजेंसियों ने सचिन पायलट और पूर्व केंद्रीय मंत्री वायलार रवि के बेटे रवि कृष्णा सहित वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं से अवैधता के लिए पूछताछ की थी। कोर्ट ने अब आरोप-पत्र पर संज्ञान लिया है और राजस्थान में परीक्षण (trial) चल रहा है।

इस खबर को अंग्रेजी में पड़े

“कुछ आधिकारिक काम के सिलसिले में भुवनेश्वर में रहने के दौरान, मुझे ओडिशा एम्बुलेंस सेवा कर्मचारी संघ के अधिकारियों द्वारा एकत्र किए गए कुछ दस्तावेजों को सौंपा गया था और ज़िकिट्ज़ा हेल्थकेयर लिमिटेड (ZHL) द्वारा सरकारी धन के लगभग 300 करोड़ रुपये के गबन और चोरी करने का आरोप लगाया गया था। जेडएचएल, जिसे कार्ति चिदंबरम द्वारा नियंत्रित किया जाता है, जो इसके निदेशकों में से एक है और जिसे फर्म के साथ, राजस्थान पुलिस के साथ-साथ सीबीआई द्वारा दर्ज की गई एक प्राथमिकी में आरोपी के रूप में नामित किया गया है।” श्रीवास्तव ने कहा।
शिकायत में कहा गया है कि वेतन बिलों में छेड़छाड़, एम्बुलेंस के जाली और नकली यात्रा रिकॉर्ड और वाउचर के जरिए पैसे गबन किये गए। कार्ति द्वारा संचालित फर्म “108 एम्बुलेंस कॉलिंग योजना” को सेवा प्रदान करने के लिए कई राज्य सरकारों के साथ अनुबंध में जुड़ी थी। कई राज्यों में यह पाया गया कि बिलों का अधि-चालान किया गया और राज्य के स्वास्थ्य विभागों से धन की लूट करने के लिए नकली यात्राएं सृजित की गईं।

जब कार्ति 2011 के मध्य में एयरसेल-मैक्सिस घोटाले के विवादों में फंसा था, उसने ज़िकिट्ज़ा हेल्थकेयर लिमिटेड (ZHL) सहित कई कंपनियों के निदेशक पद से इस्तीफा दे दिया था और अब अपने बेनामी के माध्यम से फर्म चला रहा है।

“आरोप है कि ज़ीक़ित्ज़ा हेल्थ केयर लिमिटेड और कार्ति चिदंबरम द्वारा वेतन बिलों में हेराफेरी कर, जाली रिकॉर्ड, बिल और वाउचर गढ़ना, यह प्रथम दृष्टया, अर्थव्यवस्था के श्रम प्रधान क्षेत्रों में कर चोरों द्वारा अपनाई गई एक मानक पद्धति है, ओडिशा एम्बुलेंस सेवा कर्मचारी संघ के अधिकारियों द्वारा उजागर मामले को ईएसआई, पीएफ आदि के रिकॉर्ड के रूप में देखा जाना चाहिए और कागजी सबूत इस तरह के फर्जी निर्माण का संकेत देते हैं, ”आयकर आयुक्त एसके श्रीवास्तव ने सीबीआई, ईडी के निदेशकों और आयकर जाँच विंग के महानिदेशक को की गई अपनी शिकायत में कहा।

ओएएसईयू (OASEU) द्वारा शिकायत की एक प्रति नीचे दी गई है:

Complaint by the Odisha Amulance Service Employees Union by PGurus on Scribd


सन्दर्भ:

[1] Rajasthan: FIR against Ashok Gehlot, Sachin Pilot in ambulance scamJun 10, 2014, India Today

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.