जहांगीरपुरी हिंसा : 5 गिरफ्तार आरोपियों पर रासुका के तहत मामला दर्ज

दंगों के दौरान इमाम का फायरिंग करते हुए एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है, जिसमें वह नीले रंग का कुर्ता पहने हुए गोली चलाता देखा जा सकता है।

0
50
जहांगीरपुरी हिंसा : 5 गिरफ्तार आरोपियों पर रासुका के तहत मामला दर्ज
जहांगीरपुरी हिंसा : 5 गिरफ्तार आरोपियों पर रासुका के तहत मामला दर्ज

जहांगीरपुरी हिसा: फायरिंग करने वाले आरोपी को 4 दिनों की पुलिस हिरासत में भेजा गया

दिल्ली के जहांगीरपुरी इलाके में शनिवार को हुई सांप्रदायिक हिंसा के सिलसिले में गिरफ्तार किए गए पांच लोगों पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) लगाया गया है। आधिकारिक सूत्रों ने मंगलवार को यह जानकारी दी। सूत्रों ने बताया कि जिन आरोपियों के खिलाफ एनएसए के तहत मामला दर्ज किया गया है, उनमें कथित मास्टरमाइंड अंसार शेख, सलीम चिकना, इमाम शेख उर्फ सोनू, दिलशाद और अहीद शामिल हैं।

जहांगीरपुरी थाने में दर्ज प्राथमिकी के अनुसार, हनुमान जयंती शोभायात्रा शनिवार को इलाके से शांतिपूर्ण तरीके से गुजर रहा था, लेकिन शाम करीब छह बजे जब सी-ब्लॉक की एक मस्जिद के बाहर पहुंचा तो अंसार अपने 4-5 साथियों के साथ आ गया और वे ‘शोभायात्रा‘ के प्रतिभागियों के साथ बहस करने लगे।

बहस जल्द ही हिंसक हो गई और दोनों पक्षों ने एक-दूसरे पर पथराव शुरू कर दिया।

इमाम उर्फ सोनू को उत्तर-पश्चिम जिला पुलिस के स्पेशल स्टाफ ने सोमवार को गिरफ्तार किया। पूछताछ में आरोपी ने खुलासा किया कि झड़प के दौरान कुशल चौक के पास उसने अपनी पिस्टल से फायरिंग की थी।

एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया, जिसमें नीले रंग का कुर्ता पहने इमाम को फायरिंग करते देखा गया।

तो वहीं दिल्ली की एक अदालत ने मंगलवार को इमाम उर्फ सोनू उर्फ यूनुस को चार दिनों की पुलिस हिरासत में भेज दिया, जिसने 16 अप्रैल को उत्तर-पश्चिम दिल्ली के जहांगीरपुरी में सांप्रदायिक झड़पों के दौरान कथित तौर पर गोलियां चलाई थीं। दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने एक ‘बड़ी साजिश‘ का खुलासा करने के लिए उसकी हिरासत की मांग करते हुए एक रिमांड अर्जी दायर की थी।

इमाम मामले के मुख्य आरोपियों में से एक है, जिसने 16 अप्रैल को हनुमान जयंती के अवसर पर इलाके में निकाले गए जुलूस पर पथराव करने के लिए भीड़ को कथित तौर पर उकसाया था।

पुलिस ने कहा कि उससे यह पता लगाने के लिए पूछताछ की जाएगी कि क्या उसे किसी संगठन या राजनीतिक दल का समर्थन प्राप्त था?

इमाम को उत्तर-पश्चिम जिला पुलिस के स्पेशल स्टाफ ने सोमवार को गिरफ्तार किया था। पूछताछ में आरोपी ने खुलासा किया कि झड़प के दौरान कुशल चौक के पास उसने अपनी पिस्टल से फायरिंग की थी।

दंगों के दौरान इमाम का फायरिंग करते हुए एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है, जिसमें वह नीले रंग का कुर्ता पहने हुए गोली चलाता देखा जा सकता है।

[आईएएनएस इनपुट के साथ]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.