आईपीएल: संजीव गोयनका 7000 करोड़ रुपये से अधिक में लखनऊ फ्रेंचाइजी के मालिक बने और अहमदाबाद फ्रेंचाइजी 5600 करोड़ रुपये में सीवीसी की झोली में। गौतम अडानी बोली में हारे

2022 के लिए दो नई टीमों के जुड़ने के साथ आईपीएल की पैसे छापने वाली मशीन जारी!

0
1047
2022 के लिए दो नई टीमों के जुड़ने के साथ आईपीएल की पैसे छापने वाली मशीन जारी!
2022 के लिए दो नई टीमों के जुड़ने के साथ आईपीएल की पैसे छापने वाली मशीन जारी!

संजीव गोयनका ने लखनऊ की नई फ्रेंचाइजी जीती, अहमदाबाद के लिए सीवीसी ने जीती बोली

सोमवार को आईपीएल की दो नई टीमों की फ्रेंचाइजी की बोली में कोलकाता के बिजनेस टाइकून संजीव गोयनका के आरपी-एसजी समूह ने लखनऊ फ्रैंचाइज़ी को 7090 करोड़ रुपये की बड़ी रकम पर जीता, जबकि अंतरराष्ट्रीय इक्विटी निवेश कम्पनी सीवीसी ने 5600 करोड़ रुपये की पेशकश के साथ अहमदाबाद फ्रेंचाइजी की बोली जीती। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) को 10,000 करोड़ रुपये के अप्रत्याशित लाभ की उम्मीद थी, लेकिन आश्चर्यजनक रूप से उसने 2022 के आईपीएल में भाग लेने वाली दो नई टीमों से 12,690 करोड़ रुपये कमाए।

समाचार एजेंसी पीटीआई ने रविवार को बताया था कि 2016 और 2017 में दो साल तक राइजिंग पुणे सुपरजायंट्स के मालिक रहे गोयनका टीम जीतने के लिए पसंदीदा में से एक हैं। दुबई में मौजूद बीसीसीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा – “हां, आरपीएसजी ने सबसे ज्यादा 7090 करोड़ रुपये की बोली लगाई थी, जबकि दूसरी सबसे बड़ी बोली सीवीसी की, यानी 5600 करोड़ रुपये थी। इस सौदे से बीसीसीआई को करीब 1.70 अरब डॉलर की कमाई होगी।“

इस खबर को अंग्रेजी में यहाँ पढ़े।

हारने वाली प्रमुख कंपनियों में से एक गौतम अडानी का अडानी समूह था जिसने लगभग 5000 करोड़ रुपये की बोली लगाई थी, जबकि मैनचेस्टर यूनाइटेड के ग्लेजर्स और टोरेंट समूह की बोलियाँ भी कम थीं। बाईस कंपनियों ने 10 लाख रुपये के निविदा दस्तावेज लिए थे, लेकिन नई टीमों के लिए आधार मूल्य 2000 करोड़ रुपये आंका गया जिससे केवल पांच से छह गंभीर बोली लगाने वाले ही मैदान में थे।

लक्ज़मबर्ग स्थित सीवीसी कैपिटल (सिटीकॉर्प वेंचर कैपिटल) सिटीबैंक संघ की एक शाखा है जो अब एक स्वतंत्र कम्पनी के रूप में कार्य कर रही है। अहमदाबाद आईपीएल टीम की बोली में अडानी समूह बहुराष्ट्रीय उद्यम पूंजी कम्पनी सीवीसी से हार गया। टोरेंट और मैनचेस्टर यूनाइटेड जैसे अन्य बोलीदाताओं ने 5000 करोड़ रुपये से कम की बोली लगाई और लखनऊ और अहमदाबाद आईपीएल टीमों को पाने की दौड़ हार गए

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.