एलन मस्क की स्टारलिंक इंटरनेट सर्विसेज को सरकार का निर्देश, सेवाएं देने से पहले लाइसेंस प्राप्त करें

एलन मस्क की स्टारलिंक को भारत में सैटेलाइट इंटरनेट प्रदान करने के लिए अभी तक लाइसेंस नहीं मिला है

0
849
एलन मस्क की कंपनी को भारत सरकार से झटका
एलन मस्क की कंपनी को भारत सरकार से झटका

एलन मस्क के लिए भारत में मुसीबत

एलन मस्क की कम्पनी स्टारलिंक ने हाल ही में इंटरनेट सेवा के लिए प्री-बुकिंग शुरू की थी। इसके बाद ही सरकार ने लोगों से सब्सक्रिप्शन न खरीदने की अपील की थी। बता दें कि स्टारलिंक ने कुछ समय पहले बयान जारी कर कहा था कि वह भारत में अपनी सेवाएं देने के लिए उत्सुक हैं। देश में प्री-बुकिंग की संख्या 5000 को पार कर चुकी है

एलन मस्क को भारत सरकार से बड़ा झटका लगा है, शुक्रवार को भारत सरकार के दूरसंचार विभाग ने यह साफ कर दिया है कि विज्ञापन के जरिए स्टारलिंक इंटरनेट सर्विसेज जो दावा कर रहा है वो सही नहीं है, वास्तव में इस कंपनी को भारत में सैटेलाइट आधारित सेवाओं की पेशकश करने के लिए कोई लाइसेंस नहीं मिला हुआ है।

संचार मंत्रालय ने शुक्रवार को एक बयान जारी कर कहा है कि उनके संज्ञान में यह आया है कि स्टारलिंक ने सैटेलाइट आधारित सेवाओं की प्री-सेलिंग/ बुकिंग शुरू कर दी है। स्टारलिंक की वेबसाइट पर भी यही बताया जा रहा है कि भारतीय क्षेत्र में उपयोगकर्ता इसके जरिए सैटेलाइट आधारित इंटरनेट सेवा को बुक कर सकता है।

दरअसल, भारत में सैटेलाइट आधारित सेवाओं को शुरू करने के लिए भारत सरकार के दूरसंचार विभाग से आवश्यक लाइसेंस लेना जरूरी होता है। मंत्रालय ने जनता को इस कंपनी के बारे में आगाह करते हुए जारी बयान में कहा कि इस कंपनी (स्टारलिंक) ने सैटेलाइट आधारित सेवाएं प्रदान करने के लिए कोई लाइसेंस या प्राधिकार हासिल नहीं किया है जो उनकी वेबसाइट पर बुक की जा रही है। सरकार ने लोगों को इस कंपनी के द्वारा किए जा रहे विज्ञापनों की सेवाओं की सदस्यता नहीं लेने की भी सलाह दी है।

इसके साथ ही दूरसंचार विभाग ने कंपनी को सैटेलाइट आधारित सेवाओं को प्रदान करने के संबंध में भारतीय नियामक ढांचे का पालन करने का निर्देश देते हुए इस तरह की सेवाओं को शुरू करने या इसकी बुकिंग करने से परहेज करने को भी कहा है।

[आईएएनएस इनपुट के साथ]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.