तालिबान के मंत्री ने पाकिस्तानी फौज के 1971 सरेंडर की फोटो दिखाई, कहा- अंजाम याद रखना!

    यासिर ने 1971 में भारत के हाथों पाकिस्तानी फौज की हार और सरेंडर की फोटोग्राफ शेयर की और कहा- इस तरह का अंजाम याद रखना।

    0
    41
    तालिबान के मंत्री ने पाकिस्तानी फौज के 1971 सरेंडर की फोटो दिखाई
    तालिबान के मंत्री ने पाकिस्तानी फौज के 1971 सरेंडर की फोटो दिखाई

    तालिबान और पाकिस्तान के बीच तनातनी और बढ़ी

    पाकिस्तान के होम मिनिस्टर राणा सनाउल्लाह ने गुरुवार को अफगान तालिबान को धमकी दी। कहा- अगर उसने तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (टीटीपी) को हमारे मुल्क में हमलों से नहीं रोका तो हम अफगानिस्तान में घुसकर आतंकियों को मारेंगे।

    इसका जवाब अफगान तालिबान के डेप्युटी प्राइम मिनिस्टर अहमद यासिर ने बेहद तल्ख लहजे में दिया। यासिर ने 1971 में भारत के हाथों पाकिस्तानी फौज की हार और सरेंडर की फोटोग्राफ शेयर की और कहा- इस तरह का अंजाम याद रखना।

    पाकिस्तान और अफगानिस्तान की तालिबान हुकूमत के बीच रिश्ते अब तक के सबसे खराब दौर में पहुंच चुके हैं। करीब दो महीने से दोनों देशों की सीमा यानी डूरंड लाइन पर फायरिंग की कई घटनाएं हो चुकी हैं। इसमें पाकिस्तान के 12 सैनिक और 7 नागरिक मारे जा चुके हैं। टीटीपी भी पाकिस्तान में लगातार हमले कर रहा है। हाल ही में उसने इस्लामाबाद में तक फिदायीन हमला किया था।

    टीटीपी पाकिस्तान में लगातार हमले कर रहा है। इसकी वजह से वहां की फौज और सरकार बौखलाई हुई है। गुरुवार को पाकिस्तान के होम मिनिस्टर राणा सनाउल्लाह ने टीटीपी के हमलों के लिए अफगान तालिबान को जिम्मेदार ठहराया। कहा- टीटीपी के आतंकी पाकिस्तान में हमलों के बाद अफगानिस्तान में पनाह लेते हैं। अगर ये हमले बंद नहीं हुए तो हम अफगानिस्तान में घुसकर इन आतंकियों को मारेंगे। हमें पता है कि अफगानिस्तान के किन हिस्सों में और कहां टीटीपी के आतंकी पनाह लेते हैं। उन्हें हथियार भी वहीं से मिलते हैं।

    इस बयान के कुछ घंटे बाद अफगानिस्तान की डिफेंस मिनिस्ट्री ने भी एक अलग स्टेटमेंट जारी किया। कहा- पाकिस्तान बेबुनियाद आरोप लगा रहा है। हमारे यहां टीटीपी की कोई पनाहगाह नहीं है। उसे इस मुगालते में नहीं रहना चाहिए कि अफगानिस्तान कमजोर है या उसका कोई मालिक नहीं है। हमें बहुत अच्छे से पता है कि अपने मुल्क की हिफाजत कैसे की जाती है। अगर हमला हुआ तो हम मुंहतोड़ जवाब देंगे।

    [आईएएनएस इनपुट के साथ]

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.