प्रधानमंत्री मोदी बुधवार को करेंगे कुशीनगर अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे का उद्घाटन! बौद्ध तीर्थयात्रियों की अब होगी सीधी पहुंच

कुशीनगर अंतरराष्ट्रीय बौद्ध तीर्थ केंद्र है, जहां भगवान गौतम बुद्ध ने महापरिनिर्वाण प्राप्त किया था

2
330
बुधवार को हवाई अड्डे का उद्घाटन
बुधवार को हवाई अड्डे का उद्घाटन

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का उद्घाटन करेंगे प्रधानमंत्री मोदी!

भारत में बौद्ध तीर्थयात्रियों की हवाई यात्रा आवश्यकताओं को सुविधाजनक बनाने के लिए प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार (20 अक्टूबर) को उत्तर प्रदेश में कुशीनगर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का उद्घाटन करेंगे। नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने सोमवार को कहा – “उद्घाटन उड़ान श्रीलंका के कोलंबो से कुशीनगर हवाई अड्डे पर 125 गणमान्य व्यक्तियों और बौद्ध भिक्षुओं को लेकर उतरेगी।” कुशीनगर एक अंतरराष्ट्रीय बौद्ध तीर्थस्थल है जहां भगवान गौतम बुद्ध ने महापरिनिर्वाण प्राप्त किया था।

मंत्रालय ने कहा कि, हवाई अड्डे के उद्घाटन के बाद, पीएम मोदी बुधवार को बौद्ध स्थल महापरिनिर्वाण स्तूप और मंदिर में एक कार्यक्रम को भी संबोधित करेंगे जिसमें श्रीलंकाई बौद्ध भिक्षु और श्रीलंका सरकार के मंत्री भाग लेंगे। कुशीनगर बौद्ध परिपथ का केंद्र बिंदु है, जिसमें लुंबिनी, सारनाथ और गया के तीर्थ स्थल शामिल हैं। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया भी हवाईअड्डे के उद्घाटन में प्रधानमंत्री के साथ मौजूद रहेंगे।

इस खबर को अंग्रेजी में यहाँ पढ़े।

कुशीनगर हवाई अड्डे का नया टर्मिनल भवन, जो 3,600 वर्ग मीटर में फैला है, का निर्माण केंद्र द्वारा संचालित भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (एएआई) ने उत्तर प्रदेश सरकार के सहयोग से 260 करोड़ रुपये की लागत से किया था। वर्तमान में राज्य में दो अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे हैं – लखनऊ और वाराणसी। इस हवाईअड्डे पर टर्मिनल भवन व्यस्त समय के दौरान 300 यात्रियों को संभालने में सक्षम है।

नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने कहा कि दक्षिण एशियाई देशों के साथ सीधे विमानन संपर्क से श्रीलंका, जापान, ताइवान, दक्षिण कोरिया, चीन, थाईलैंड, वियतनाम, सिंगापुर से आने वाले पर्यटकों के लिए कुशीनगर पहुंचना और क्षेत्र की समृद्ध विरासत का अनुभव करना आसान हो जाएगा। मंत्रालय ने यह भी कहा कि हवाई अड्डे के उद्घाटन के साथ पर्यटन प्रवाह में 20 प्रतिशत की वृद्धि की उम्मीद है। इस हवाई अड्डे के उद्घाटन के बाद बौद्ध सर्किट के लुंबिनी, बोधगया, सारनाथ, कुशीनगर, श्रावस्ती, राजगीर, संकिसा और वैशाली की यात्रा कम समय में पूरी की जाएगी।

2 COMMENTS

  1. […] हमारे समाज में दूसरी महिला को देती है? मोदी जी से मेरा विनम्र अनुरोध है कि कृपया […]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.