एयर इंडिया 7 मई से 13 मई तक 64 उड़ानों के माध्यम से विदेश में फंसे 14800 व्यक्तियों को लाने के लिए तैयार

विभिन्न देशों से आने वाली एयर इंडिया की उड़ानों की विस्तृत उड़ान अनुसूची प्रकाशित की गयी है

0
694
विभिन्न देशों से आने वाली एयर इंडिया की उड़ानों की विस्तृत उड़ान अनुसूची प्रकाशित की गयी है
विभिन्न देशों से आने वाली एयर इंडिया की उड़ानों की विस्तृत उड़ान अनुसूची प्रकाशित की गयी है

राष्ट्रीय वाहक एयर इंडिया ने 7 मई से 13 मई तक 12 देशों में फंसे 14800 भारतीयों को वापस लाने के लिए पहले चरण में 64 उड़ानों को तैनात किया है। यह पूर्ण रूप से भुगतान की जाने वाली निकासी सेवा मध्य पूर्व से 15,000 रुपये से 19,000 रुपये, यूरोप क्षेत्र से 50,000 रुपये और संयुक्त राज्य अमेरिका क्षेत्र से 1 लाख रुपये तय है। वर्तमान में पूरे विश्व से पांच लाख से अधिक लोगों ने भारत वापस जाने के लिए इच्छा व्यक्त की है और इसमें 60,000 से अधिक लोग वे हैं जिन्होंने कोविड-19 के कारण मध्य पूर्व क्षेत्र में आर्थिक मंदी के कारण अपनी नौकरी खो दी है। गर्भावस्था के कारण 10,000 से अधिक महिलाएं भारत वापस आना चाहती थीं।

नागरिक उड्डयन मंत्रालय द्वारा मंगलवार को जारी आंकड़ों के अनुसार, 14800 लोगों में से 2000 संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) से और 2100 संयुक्त राज्य अमेरिका से एयर इंडिया के अभियान के पहले चरण में 7 मई से 13 मई तक आ रहे हैं। लगभग 1750-1750 लोग क्रमशः यूनाइटेड किंगडम और मलेशिया से आ रहे हैं और 1250-1250 क्रमशः फिलीपींस और सिंगापुर से आ रहे हैं।

“एयर इंडिया की 64 उड़ानें पहले सप्ताह (7-13 मई) में संचालित होंगी। 10 उड़ानें संयुक्त अरब अमीरात से, 2 कतर से, सऊदी अरब से 5, यूके से 7, सिंगापुर से 5, यूएसए से 7, फिलीपींस से 5, बांग्लादेश से 7, बहरीन से 2, मलेशिया से 7, कुवैत से 5 और ओमान से 2 उड़ानें संचालित होंगी। ये निकासी सेवाएं प्रभार्य (मुफ्त नहीं) होंगी।

इस खबर को अंग्रेजी में यहाँ पढ़े।

नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पूरी ने कहा – “राज्य सभी मानक निर्धारित निवारक उपायों को लागू करेंगे और इन यात्रियों के लिए 14 दिनों की एक प्रभार्य (पेड) अनिवार्य संगरोध (क्वारंटाइन) के लिए व्यवस्था करेंगे। मैं फिर से दोहराना चाहता हूं कि यह एक सीमित अभियान है जो घरेलू और अंतरराष्ट्रीय नागरिक विमानन सेवाओं को फिर से शुरू करने का संकेत नहीं देता है। हम वर्तमान लॉकडाउन के बाद ही भारतीय आसमान को फिर से खोलने पर विचार करेंगे। यह जमीन पर विकसित स्थिति पर निर्भर करेगा।”

अधिकांश उड़ानें सीधे केरल के हवाई अड्डों पर उतरेंगी। 1400 व्यक्तियों को बांग्लादेश से और 1000-1000 को क्रमशः सऊदी अरब और कुवैत से लाया जाएगा। इस लेख के नीचे विस्तृत उड़ान अनुसूची प्रकाशित की गई है।

चार नौसैनिक जहाजों को फंसे हुए भारतीयों को वापस लाने के लिए रवाना किया गया, जिनमें से दो मालदीव की ओर गए हैं और आईएनएस शार्दूल, आईएनएस मगर और आईएनएस जलाशव को फंसे भारतीयों को वापस लाने के लिए मिशन तैनाती से हटा दिया गया है। भारतीय नौसेना संयुक्त अरब अमीरात और सऊदी अरब से लोगों को बाहर निकालने की योजना पर काम कर रही है, जहां अधिकांश भारतीय फंसे हुए हैं[1]

एयर इंडिया की 64 उड़ानों का विस्तृत कार्यक्रम नीचे प्रकाशित किया गया है:

पत्रकार सम्मेलन
पत्रकार सम्मेलन

संदर्भ:

[1] Four naval ships set sail to bring back stranded Indians, two of them heading to MaldivesMay 5, 2020, ThePrint.In

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.