उदयपुर कांड : तालिबानी तरीके से गला काटा, राजस्थान में नेटबंदी; एनआईए के हाथ मामला

पूरे राजस्थान में धारा 144 लागू कर दिया गया है। दोनों आरोपी रियाज अंसारी और मोहम्मद गौस को राजसमंद के भीम से शाम 7 बजे गिरफ्तार किया गया है।

0
240
उदयपुर कांड : तालिबानी तरीके से गला काटा, एनआईए के हाथ में मामला
उदयपुर कांड : तालिबानी तरीके से गला काटा, एनआईए के हाथ में मामला

उदयपुर में खौफ, जिहादी हत्यारों की करतूत से पूरा राज्य दहशत में

राजस्थान के उदयपुर में 10 दिन पहले नूपुर शर्मा के समर्थन में सोशल मीडिया पर पोस्ट डालने वाले युवक का तालिबानी तरीके से मर्डर कर दिया गया। 2 हमलावर मंगलवार को दिनदहाड़े उसकी दुकान में घुसे। तलवार से कई वार किए और उसका गला काट दिया। न्यूज एजेंसी एएनआई ने सूत्रों के हवाले से बताया गया है कि नेशनल इंवेस्टिगेशन एजेंसी (एनआईए) की 5 सदस्यीय टीम आरोपियों से पूछताछ के लिए दिल्ली से उदयपुर के लिए निकल चुकी है। बताया जा रहा है कि इस केस को आतंकी हमले की तैयारी से जोड़कर देखा जा रहा है। मामले की पूरी जांच एनआईए को सौंपी जा चुकी है।

आरोपियों ने हत्या का पूरा वीडियो भी बनाया है। उन्होंने वारदात के बाद सोशल मीडिया पर पोस्ट डालकर हत्या की जिम्मेदारी भी ली है। वीडियो में उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी तक को धमकी दे डाली है। इसी वजह से एनआईए हरकत में आई है।

उदयपुर के 7 थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू लगाया गया है। इसमें धानमंडी, घंटाघर, हाथीपोल, अंबामाता, सूरजपोल, भुपालपुरा और सवीना थाना क्षेत्र शामिल हैं। साथ ही, पूरे राजस्थान में धारा 144 लागू कर दिया गया है। दोनों आरोपी रियाज अंसारी और मोहम्मद गौस को राजसमंद के भीम से शाम 7 बजे गिरफ्तार किया गया है। दोनों उदयपुर के सूरजपोल क्षेत्र के निवासी हैं।

शांति व्यवस्था बहाल रखने के लिए पूरे प्रदेश में 24 घंटे के लिए इंटरनेट बंद किया गया है। वारदात के विरोध में उदयपुर के हाथीपोल, घंटाघर, अश्विनी बाजार, देहली गेट और मालदास स्ट्रीट का बाजार बंद है। पूरे राजस्थान में अलर्ट जारी किया गया है। शव अब भी दुकान के बाहर ही पड़ा है। मृतक के परिवार वालों ने सरकार से 50 लाख रुपए और सरकारी नौकरी की डिमांड की है। इस पर सरकार की ओर से अभी तक कोई फैसला नहीं लिया गया है।

कन्हैयालाल तेली (40) की धानमंडी स्थित भूतमहल के पास सुप्रीम टेलर्स नाम से दुकान है। मंगलवार दोपहर करीब ढाई बजे बाइक सवार 2 बदमाश आए। कपड़े का नाप देने का बहाना बनाकर दुकान में घुसे। कन्हैयालाल कुछ समझ पाते, तब तक बदमाशों ने हमला बोल दिया। उन पर तलवार से कई हमले किए। मौके पर ही उन्होंने दम तोड़ दिया।

सूचना पर धानमंडी समेत घंटाघर और सूरजपोल थाने के पुलिसकर्मी मौके पर पहुंचे। पुलिस के आला अधिकारी और एफएसएल टीम मौके पर है। टीम ने मौके से सबूत जुटाए। घटना के बाद नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने भी एसपी को फोन कर घटना की जानकारी ली। डीएसटी टीम दोनों आरोपी रियाज अंसारी और मोहम्मद गौस को लेकर उदयपुर के लिए रवाना हो गई। पुलिस की 10 टीमों ने पीछा कर यह सफलता हासिल की है। राजसमंद से करीब 100किमी दूर भीम थाना इलाके से गिरफ्तारी हुई है। उदयपुर के डीएसटी के कॉन्स्टेबल प्रहलाद पाटीदार को सबसे पहले आरोपियों के बारे में सूचना मिली थी। सूचना मिली कि दोनों अजमेर जा रहे हैं। नाकेबंदी कर पुलिस ने यह कार्रवाई की।

कन्हैयालाल गोर्वधन विलास इलाके का रहने वाला था। उसके 2 बेटे यश (19) और तरुण (17) हैं। 10 दिन पहले उसने बीजेपी से हटाई गई नुपूर शर्मा के पक्ष में सोशल मीडिया पर पोस्ट की। इसके बाद से समुदाय विशेष के लोग उसे जान से मारने की धमकी दे रहे थे। कन्हैयालाल लगातार धमकियों से परेशान था। 6 दिनों से उसने अपनी दुकान भी नहीं खोली थी। उसने धमकियां देने वालों के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज कराई थी। पुलिस ने उसे थोड़े दिन संभलकर रहने को कहा, लेकिन आरोपियों की धरपकड़ में गंभीरता नहीं दिखाई।

घटना की खबर लगते ही कलेक्टर तारा चंद मीणा, एसपी मनोज चौधरी मौके पर पहुंचे। शव फिलहाल मौके पर ही पड़ा है। परिजन हंगामा कर रहे हैं। खेरवाड़ा से पुलिस की अतिरिक्त टुकड़ियों को बुलाया गया है। शहर के 5 इलाकों में बाजार बंद कर दिए गए हैं। लोग मौके पर प्रदर्शन करने भी पहुंचे हैं।

एसपी उदयपुर मनोज चौधरी ने कहा कि सूचना मिलते ही पुलिस को मौके पर तैनात कर दिया गया है। जो भी अपराधी हैं, उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। फिलहाल पीड़ित परिवार से बात नहीं हुई है। नूपुर शर्मा के समर्थन में पोस्ट के बाद मिल रही धमकियों की शिकायत के सवाल पर एसपी बोले कि मृतक से जुड़े सभी रिकॉर्ड की जांच की जा रही है। कुछ आरोपियों की पहचान हुई है।

हाथीपोल चौराहे पर कुछ युवाओं और पुलिस की झड़प हुई। भाजपा युवा मोर्चा का एक कार्यकर्ता घायल हो गया है। शांति बहाल करने के लिए पुलिस ने चप्पे-चप्पे को छावनी में तब्दील कर दिया है। दूसरी ओर, संभागीय आयुक्त राजेंद्र भट्ट ने मंगलवार शाम को उदयपुर जिले में 24 घंटे तक इंटरनेट बंद करने का आदेश जारी किया है।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा- उदयपुर की घटना कोई मामूली घटना नहीं है। जिस रूप में की गई है, वो कल्पना के बाहर है। ऐसा भी कोई कर सकता है क्या? इसकी जितनी निंदा करें, कम है। मैंने सबसे अपील की है कि शांति बनाए रखें। अभी मैंने नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया जी से बात भी की है। हम कहते हैं कि सब मिलकर ऐसे वक्त में तनाव पैदा नहीं होने दें। दोषी को बख्शा नहीं जाएगा। उसके लिए पूरी पुलिस मुस्तैदी से लगी हुई है। उनकी गिरफ्तारी में कोई कोताही नहीं बरती जाएगी। लोगों के दिल में आक्रोश आना स्वाभाविक है। इसका मुझे भी अहसास है। उसी को ध्यान में रखते हुए हम कार्रवाई करेंगे। इस केस में अनुसंधान केस ऑफिसर स्कीम के तहत किया जाएगा। तेजी से जांच सुनिश्चित कर अपराधियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलवाई जाएगी।

[आईएएनएस इनपुट के साथ]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.