शेख हसीना ने वैक्सीन से लेकर रूस-यूक्रेन युद्ध के समय मदद के लिए जताया प्रधानमंत्री मोदी का आभार!

मैं भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को वैक्सीन मैत्री पहल के लिए धन्यवाद करती हूं। भारत ने सिर्फ बांग्लादेश ही नहीं दूसरे दक्षिण एशियाई देशों को भी वैक्सीन उपलब्ध कराई।

0
122
शेख हसीना ने वैक्सीन से लेकर रूस-यूक्रेन युद्ध के समय मदद के लिए जताया प्रधानमंत्री मोदी का आभार!
शेख हसीना ने वैक्सीन से लेकर रूस-यूक्रेन युद्ध के समय मदद के लिए जताया प्रधानमंत्री मोदी का आभार!

शेख हसीना ने भारत दौरे से पहले व्यक्त किये अपने विचार

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना 5 सितंबर, सोमवार को भारत दौरे पर आने वाली हैं। वह इस दौरान कई जगहों पर अलग-अलग कार्यक्रमों मे हिस्सा लेंगी। हसीना के इस दौरे से ठीक पहले उन्होंने एक इंटरव्यू में अपने भारत दौरे के महत्वपूर्ण उद्देश्यों को शेयर किया है। उन्होंने कहा भारत हमारा पड़ोसी है। हमारे बीच बहुत अच्छे संबंध हैं। कुछ समस्याएं हैं लेकिन हमने ज्यादातर का समाधान किया है। मुझे लगता है कि हमें लड़ना नहीं चाहिए। यदि पड़ोसी देशों के बीच कोई समस्या है तो उसे द्विपक्षीय रूप से हल किया जा सकता है।

अपने इस इंटरव्यू के दौरान शेख हसीना ने कहा कि भारत और बांग्लादेश करीबी पड़ोसी हैं और मैं हमेशा अपने पड़ोसी देशों के साथ दोस्ती को महत्व देती हूं क्योंकि मुझे लगता है कि यह दोस्ती हमारे लोगों के लिए है। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बांग्लादेश के लोगों के लिए वैक्सीन उपलब्ध कराने के लिए भी धन्यवाद किया। उन्होंने कहा, “मैं भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को वैक्सीन मैत्री पहल के लिए धन्यवाद करती हूं। भारत ने सिर्फ बांग्लादेश ही नहीं दूसरे दक्षिण एशियाई देशों को भी वैक्सीन उपलब्ध कराई।”

रूस-यूक्रेन युद्ध के दौरान वहां रह रहे बांग्लादेश के छात्रों को सुरक्षित अपने देश वापिस भेजने के लिए भी शेख हसीना ने पीएम मोदी को धन्यवाद किया। उन्होंने कहा, “रूस-यूक्रेन युद्ध के दौरान हमारे बहुत से छात्र यूक्रेन में फंसे हुए थे। भारत ने जब अपने छात्रों को वहां से निकाला तब हमारे छात्रों को भी वहां से निकाला, इसके लिए मैं प्रधानमंत्री मोदी का धन्यवाद करती हूं।”

इंटरव्यू के दौरान शेख हसीना ने रोहिंग्या प्रवासियों को देश के लिए एक बोझ बताया है। उन्होंने कहा कि दस लाख से अधिक रोहिंग्या प्रवासी बांग्लादेश पर बड़ा बोझ हैं। उन्होंने कहा, “हमारे देश में 11 लाख रोहिंग्या हैं। इस मुद्दे पर हम अंतरराष्ट्रीय समुदाय से लगातार बात कर रहे हैं ताकि रोहिंग्या प्रवासियों की वतन वापसी सुनिश्चित हो सके। उन्हें भी कुछ कदम उठाने चाहिए ताकि वे घर वापस जा सकें। मुझे लगता है कि इस मुद्दे पर भारत प्रमुख भूमिका निभा सकता है।”

भारत-बांग्लादेश जल-बंटवारे को लेकर चल रहे विवाद पर बांग्लादेश की प्रधानमंत्री ने कहा, “हम नीचे की ओर स्थित हैं, पानी भारत से आ रहा है। इसलिए भारत को और उदारता दिखानी चाहिए। इससे दोनों देश लाभान्वित होंगे। कभी-कभी हमारे लोगों को बहुत नुकसान होता है, खासकर तीस्ता नदी के चलते।”

भारत दौरे के पहले अपने पुराने दिनों को याद करते हुए इंटरव्यू में बताया कि उनके पिता शेख मुजीबुर रहमान की हत्या के बाद वह कई दिनों तक अपनी पहचान छिपाकर भारत की राजधानी दिल्ली के पंडारा रोड पर अपने बच्चों के साथ रह रही थीं। उन्होंने भारत के योगदान को याद करते हुए कहा है कि, “भारत हमारा विश्वसनीय साथी है। हम 1971 के युद्ध के दौरान भारत के योगदान को हमेशा याद करते हैं। 1975 में जब मैंने अपने परिवार के सभी सदस्यों को खो दिया था, तब तत्कालीन भारतीय प्रधानमंत्री ने हमें भारत में आश्रय दिया था।”

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने कहा, “हमारी विदेश नीति बहुत स्पष्ट है- सभी से मित्रता, किसी से भी द्वेष नहीं रखना। अगर चीन और भारत के बीच कोई समस्या है तो मैं उसमें नहीं पड़ना चाहती। मैं अपने देश का विकास चाहती हूं। जब आप साथ-साथ रहते हैं, तो कुछ समस्याएं आती हैं या बनी रहती हैं या आप उन्हें हल कर सकते हैं। हमारे अभी भी मुद्दे हैं लेकिन मुझे लगता है कि हम अपनी बातचीत जारी रखेंगे। हमारे विकास के लिए हमें किसी भी देश से सहयोग चाहिए जो हमारे देश के लिए उपयुक्त हो।”

बता दें, शेख हसीना 5 से 8 सितंबर तक भारत का दौरा करेंगी। अपने इस दौरे के दौरान वह राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू और उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ से मुलाकात करेंगी। साथ ही मंगलवार को प्रधानमंत्री मोदी के साथ उनकी द्विपक्षीय मुलाकात भी होगी। शेख हसीना और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्वधीनता सड़क का लोकार्पण भी करेंगे। यह सड़क भारत और बांग्लादेश के बीच सड़क संपर्क है। बांग्लादेश की आजादी के 50 वर्षों को चिह्नित करने और भारत-बांग्लादेश के द्विपक्षीय संबंधों को बढ़ाने के लिए इस सड़क को 26 मार्च, 2021 को खोला गया था। अब दोनों देशों के राष्ट्राध्यक्ष इसका औपचारिक लोकार्पण करेंगे। बताया जा रहा है कि भारत दौरे के दौरान बांग्लादेश की प्रधानमंत्री अजमेर भी जाएंगी।

[आईएएनएस इनपुट के साथ]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.