पीएफआई ने रची थी कर्नाटक भाजपा नेता मर्डर की साजिश! एनआईए ने 20 सदस्यों के खिलाफ चार्जशीट दायर की!

    जांच में बैन संगठन पीएफआई का एजेंडा भी सामने आया है। जिसमें संगठन की कोशिश समाज में आतंक, सांप्रदायिक घृणा और अशांति फैलाने और 2047 तक भारत को इस्लामिक शासन स्थापित करना।

    0
    33
    पीएफआई ने रची थी कर्नाटक भाजपा नेता मर्डर की साजिश!
    पीएफआई ने रची थी कर्नाटक भाजपा नेता मर्डर की साजिश!

    कर्नाटक के भाजपा नेता की हत्या में पीएफआई का हाथ

    कर्नाटक में 26 जुलाई 2022 को भाजपा नेता प्रवीण नेत्तारू की हत्या कर दी गई थी। शुक्रवार को इस मामले में एनआईए ने कार्रवाई की है। एजेंसी ने बैन संगठन पीएफआई के 20 सदस्यों के खिलाफ बेंगलुरु के स्पेशल कोर्ट में चार्जशीट दायर की है।

    मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, जांच में बैन संगठन पीएफआई का एजेंडा भी सामने आया है। जिसमें संगठन की कोशिश समाज में आतंक, सांप्रदायिक घृणा और अशांति फैलाने और 2047 तक भारत को इस्लामिक शासन स्थापित करना। अपने लक्ष्य को अंजाम देने के लिए गुप्त टीमों का भी गठन किया गया है, जिनका नाम सर्विस टीम या किलर स्क्वॉड रखा गया है।

    चार्जशीट में बताया गया है कि इन सदस्यों को कुछ समुदायों-समूहों से संबंधित व्यक्तियों और नेताओं की पहचान करने और उन पर निगरानी रखने के लिए हथियार, निगरानी तकनीक की ट्रेनिंग दी गई थी। संगठन की बैठक में जिला सेवा दल के हेड मुस्तफा पचर को निर्देश दिया गया था कि वे किसी विशेष समुदाय के प्रमुख सदस्य की पहचान करें और उसे निशाना बनाएं।

    इसके मुताबिक चार लोगों की पहचान की गई और उनमें से भी प्रवीण नेतारू को निशाना बनाया गया। जो भाजपा युवा मोर्चा के सदस्य थे। उन पर घातक हथियारों से हमला कर हत्या कर दी गई।

    इन 20 सदस्यों में से 6 लोग फरार हैं। उनकी सूचना देने पर इनाम की भी घोषित किया गया है। सभी आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 120बी, 153ए, 302 और 34 और गैरकानूनी गतिविधियां (रोकथाम) अधिनियम, 1967 की धारा 16, 18 और 20 और धारा 25(1)(ए) के तहत चार्जशीट दायर की गई है।

    दक्षिण कन्नड़ जिले के बेल्लारे इलाके में प्रवीण की पोल्ट्री की दुकान है। 26 जुलाई 2022 को जब प्रवीण दुकान बंद कर घर लौट रहे थे, तभी बाइक पर कुछ लोग आए और उनका रास्ता रोक लिया। उन्होंने कुल्हाड़ी से प्रवीण पर हमला कर दिया। वे गंभीर रूप से घायल हो गए। पुलिस वहां पहुंची और प्रवीण को अस्पताल ले गई। जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। प्रवीण का शव उनके पैतृक गांव नेत्तारू लाया गया। इस दौरान हजारों लोग मौजूद थे।

    [आईएएनएस इनपुट के साथ]

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.