पाकिस्तान के पास नकदी की कमी, अन्य देशों से 5 अरब डॉलर ऋण लेने की तैयारी

इसने इमरान खान के नेतृत्व वाली सरकार को सितंबर 2022 में मौजूदा कार्यक्रम समाप्त होने के बाद, एक नए ऋण कार्यक्रम की मांग करते हुए आईएमएफ में वापस जाने के अलावा कोई अन्य विकल्प नहीं छोड़ा है।

0
231
पाकिस्तान के पास नकदी की कमी, अन्य देशों से 5 अरब डॉलर ऋण लेने की तैयारी
पाकिस्तान के पास नकदी की कमी, अन्य देशों से 5 अरब डॉलर ऋण लेने की तैयारी

पाकिस्तान नकदी की कमी से जूझ रहा!

पाकिस्तान सरकार ने सिकुड़ते विदेशी मुद्रा भंडार को स्थिर करने के लिए चीन, रूस और कजाकिस्तान सहित देशों से 5 अरब डॉलर का कर्ज लेने का फैसला किया है।

विवरण के अनुसार, पाकिस्तान चीन से 3 अरब डॉलर और रूस और कजाकिस्तान से 2 अरब डॉलर मांगने की योजना बना रहा है।

संघीय वित्त मंत्रालय ने ऋण की योजना को अंतिम रूप दे दिया है, जिसके समझौते पर इस महीने के अंत में प्रधानमंत्री इमरान खान की चीन यात्रा के दौरान हस्ताक्षर किए जाने की उम्मीद है।

सूत्रों ने खुलासा किया कि इस्लामाबाद ने अपने विदेशी मुद्रा भंडार को स्थिर करने के लिए चीन से 3 अरब डॉलर उधार लेने की योजना बनाई है, जबकि रूस और कजाकिस्तान से अतिरिक्त 2 अरब डॉलर एमएल-1 रेलवे परियोजना पर खर्च किए जाएंगे।

विस्तार और पुन: समायोजन के लचीलेपन के साथ ऋण समझौतों पर एक वर्ष की अवधि के लिए हस्ताक्षर किए जाएंगे।

यहां यह उल्लेख करना उचित होगा कि पाकिस्तान अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) से 6 अरब डॉलर के निलंबित ऋण कार्यक्रम को पुनर्जीवित करने का प्रयास कर रहा है।

आईएमएफ के कार्यकारी बोर्ड इस्लामाबाद आईएमएफ द्वारा रखी गई शर्तों को पूरा करने की दिशा में काम कर रहा है।

वित्तीय वर्ष 2022-23 के लिए अनुमानित 30 अरब डॉलर पर खड़े देश की सकल वित्तपोषण आवश्यकताओं के साथ पाकिस्तान का आर्थिक संकट बढ़ रहा है। इसने इमरान खान के नेतृत्व वाली सरकार को सितंबर 2022 में मौजूदा कार्यक्रम समाप्त होने के बाद, एक नए ऋण कार्यक्रम की मांग करते हुए आईएमएफ में वापस जाने के अलावा कोई अन्य विकल्प नहीं छोड़ा है।

[आईएएनएस इनपुट के साथ]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.