पंजाब में मूर्तियों की बेअदबी के खिलाफ धरना दे रहे हिंदू नेता की हत्या; अमृतसर में पुलिस की मौजूदगी में 5 गोलियां मारीं!

वे मंदिर के बाहर मूर्तियों की बेअदबी के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे। गोली मारने वाले को गिरफ्तार कर लिया गया है।

0
72
खालिस्तान के निशाने पर रहे पंजाब के हिंदू नेता की सरेआम हत्या
खालिस्तान के निशाने पर रहे पंजाब के हिंदू नेता की सरेआम हत्या

खालिस्तान के निशाने पर रहे पंजाब के हिंदू नेता की सरेआम हत्या

पंजाब के अमृतसर में शुक्रवार को हिंदू नेता सुधीर सूरी की गोली मारकर हत्या कर दी गई। सूरी को पुलिस प्रोटेक्शन मिला हुआ था, इसके बावजूद उन्हें अमृतसर में गोपाल मंदिर के बाहर 5 गोलियां मारी गईं। वे मंदिर के बाहर मूर्तियों की बेअदबी के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे। गोली मारने वाले को गिरफ्तार कर लिया गया है। उससे हत्या में इस्तेमाल की गई पिस्टल भी बरामद कर ली गई है।

जिस समय सूरी को गोली मारी गई, तब उनके साथ कई समर्थक भी मौजूद थे। फायरिंग के बाद उन्हें घायल हालत में प्राइवेट अस्पताल ले जाया गया, जहां उन्होंने दम तोड़ दिया। सूरी खालिस्तान समर्थकों के टारगेट पर थे। कुछ समय पहले विदेश में बैठे खालिस्तान समर्थकों ने उनकी हत्या की साजिश भी रची थी। इसके बाद ही उन्हें पुलिस प्रोटेक्शन दिया गया था। हमलावर जिस कार से आए थे, उसमें खालिस्तानियों का स्टीकर लगा था।

पंजाब के DGP गौरव यादव ने कहा- हत्या का केस दर्ज कर लिया है। आरोपी संदीप सिंह सन्नी को अरेस्ट कर लिया है। यह आतंकी घटना थी या कुछ और, इसके बारे में अभी कुछ भी कहना ठीक नहीं है। कत्ल के पीछे कोई संगठन है या इसकी साजिश रची गई, इसकी जांच कर रहे हैं। संदीप सन्नी ने 32 बोर के लाइसेंसी पिस्टल के साथ 5 गोलियां चलाई। सूरी को कितनी लगीं, ये पोस्टमार्टम के बाद पता चलेगा।

सूरी गोपाल मंदिर के बाहर धरने पर बैठे हुए थे। उसी दौरान दोपहर को कार से आए अज्ञात युवकों ने आकर उन पर फायरिंग कर दी। दो गोलियां सुधीर सूरी की छाती पर लगीं। उन्हें तुरंत एक प्राइवेट अस्पताल ले जाया गया, जहां उनकी मौत हो गई।

हमले के बाद कन्फ्यूजन फैल गया कि सूरी को गोली सीधे मारी गई या नजदीकी इमारत की छत से उन पर फायरिंग हुई। हमले के बाद उनके सुरक्षाकर्मियों ने जवाबी कार्रवाई करते हुए हवाई फायर भी किए, लेकिन आरोपी मौके से भागने में कामयाब रहे। यह पता नहीं चल पाया है कि गोलियां चलाने वाले किस ओर भागे थे।

अमृतसर के गोपाल मंदिर के बाहर लोगों ने खंडित मूर्तियां रख दी थीं। ये मूर्तियां पैरों में आ रही थीं और उनके पास गंदगी भी पड़ी थी। इसे देखकर हिंदू नेता सुधीर सूरी और उनके समर्थक मंदिर के बाहर प्रदर्शन कर रहे थे। यह प्रदर्शन गोपाल मंदिर मैनेजमेंट के खिलाफ था।

हिंदू नेता सुधीर सूरी की मौत के बाद हिंदू संगठनों ने पंजाब बंद कराने की चेतावनी दे दी है। उनका आरोप है कि यह पहला मौका नहीं है, जब हिंदू नेता की हत्या की गई है। वहीं यह भी कहा है कि आम आदमी पार्टी की सरकार आने के बाद से ही लगातार हिंदुओं पर हमले हो रहे हैं।

[आईएएनएस इनपुट के साथ]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.