ब्रिटिश विदेश मंत्री से बीबीसी टैक्स मुद्दे पर जयशंकर बोले- भारत में काम करने वाली संस्था को कानून का पालन करना होगा!

    जयशंकर ने ब्रिटेन के विदेश मंत्री से कहा है कि जो भी कंपनियां भारत में काम कर रही हैं, उन्हें देश के कायदे-कानून का पालन करना होगा।

    0
    236
    ब्रिटिश मंत्री को एस जयशंकर की दो टूक
    ब्रिटिश मंत्री को एस जयशंकर की दो टूक

    ब्रिटिश मंत्री को एस जयशंकर की दो टूक

    जी20 देशों के विदेश मंत्रियों की आज और कल दिल्ली में अहम मीटिंग होने जा रही है। इस मीटिंग से पहले बुधवार को ब्रिटिश फॉरेन सेक्रेटरी जेम्स क्लेवरली ने भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर से मुलाकात की। क्लेवरली ने इस दौरान 14 फरवरी को बीबीसी के दिल्ली और मुंबई स्थित दफ्तरों पर आयकर विभाग के सर्वे का मुद्दा उठाया।

    क्लेवरली ने साथ ही कहा कि बीबीसी एक स्वतंत्र संगठन है और सरकार भी अलग है। उन्होंने डॉक्यूमेंट्री नहीं देखी है, लेकिन यूके और भारत की प्रतिक्रियाएं देखी हैं। न्यूज एजेंसी एएनआई ने सूत्रों के हवाले से बताया- जयशंकर ने ब्रिटेन के विदेश मंत्री से कहा है कि जो भी कंपनियां भारत में काम कर रही हैं, उन्हें देश के कायदे-कानून का पालन करना होगा।

    इस बीच भारत और ब्रिटेन के बीच मुक्त व्यापार समझौते (एफटीए) पर जेम्स ने कहा कि हम भारत के साथ बड़े पैमाने पर काम कर रहे हैं। मैं भारत के व्यापार सचिव से मिलूंगा। हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि इस व्यापार समझौते से वास्तव में दोनों देशों को प्रौफिट हो।

    पिछले महीने यानी 14 फरवरी को तीन दिन तक इनकम टैक्स की टीम ने ब्रिटिश ब्रॉडकास्टर (बीबीसी) के दफ्तरों में सर्वे किया था। दरअसल, बीबीसी ने इस साल जनवरी में ‘इंडिया द मोदी क्वेश्चन‘ डॉक्यूमेंट्री फिल्म बनाई थी। जिसमें 2002 के गुजरात दंगों को दिखाया गया है। इस डॉक्यूमेंट्री के टेलीकास्ट को लेकर देश में कई जगह हंगामे भी हुए थे।

    [आईएएनएस इनपुट के साथ]

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.