ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट: मध्यप्रदेश में होगा ₹15 लाख करोड़ का निवेश, उद्योगों के लिए 3 साल तक परमिशन की बाध्यता खत्म!

    उद्योगों के लिए चिह्नित जमीन और अधिसूचित क्षेत्र में अब तीन साल तक निर्माण, फायर एनओसी, लाइसेंस समेत अन्य अनुमतियों की जरूरतें नहीं होंगी।

    0
    39
    ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट
    ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट

    ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट में मध्यप्रदेश सरकार ने दी कारोबारियों को कई सुविधाएं

    मध्य प्रदेश में ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट 2023 में कारोबारियों ने राज्य में लगभग 15 लाख 40 हज़ार करोड़ के निवेश की इच्छा जताई है। वहीं, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट के समापन अवसर पर उद्योगपतियों के लिए उपहारों की झड़ी लगा दी है। उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश में उद्योगपतियों को भटकने नहीं देंगे। उनके काम भी नहीं अटकेंगे। उद्योगों के लिए चिह्नित जमीन और अधिसूचित क्षेत्र में अब तीन साल तक निर्माण, फायर एनओसी, लाइसेंस समेत अन्य अनुमतियों की जरूरतें नहीं होंगी। सीएम ने कहा कि रेडीमेड और आईटी सेक्टर में प्लग एंड प्ले सुविधा रहेगी। इससे कारोबार कम पूंजी लगाकर भी शुरू किया जा सकेगा।

    मध्य प्रदेश सरकार का दावा है कि 15 लाख 40 हज़ार करोड़ के निवेश से लगभग 29 लाख रोज़गार के नए अवसर सृजित होंगे। ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट में कुल 10 देश साझेदारों के रूप में रहे। इनमें जापान, कनाडा, नीदरलैंड, गयाना, मॉरिशस, बांग्लादेश, जिम्बॉब्वे, सूरीनाम, पनामा और फीजी जैसे देशों ने अपने स्टॉल भी लगाए। 2 दिनों में 84 देशों के 447 अंतरराष्ट्रीय बिजनेस डेलीगेट्स, 401 से अधिक अंतरराष्ट्रीय खरीदार शामिल हुए। मध्य प्रदेश के 5 हजार से अधिक व्यापारी प्रतिनिधियों ने इसमें भाग लिया।

    राज्य में नवकरणीय ऊर्जा के क्षेत्र में लगभग ₹6 लाख 9 हजार 478 करोड़ के निवेश का प्रस्ताव आया है, जिससे 11 लाख 84 हजार को रोजगार मिल सकता है। वहीं, अर्बन इंफ्रास्ट्रक्चर में 2 लाख 80 हजार 753 करोड़ रुपये के निवेश का प्रस्ताव आया है, जिससे 4 लाख 50 हजार 127 को रोजगार मिल सकता है। फूड प्रोसेसिंग, एग्री प्रोसेसिंग के लिए 1 लाख 6 हजार 149 करोड़ के निवेश का प्रस्ताव आया है। इसमें 2 लाख 20 हजार 160 को रोजगार मिल सकता है। वहीं, आईटी व इलेक्ट्रॉनिक्स क्षेत्र में ₹78 हज़ार 778 करोड़ का निवेश का प्रस्ताव आया है। इससे 2,22,371 लोगों को रोजगार मिल सकता है। इसके अलावा रसायन व पेट्रोलियम के क्षेत्र में ₹76769 करोड़ के निवेश का प्रस्ताव आया है, जिससे 71,704 लोगों को रोजगार मिल सकता है।

    सर्विस सेक्टर में ₹71,351 करोड़ के निवेश का प्रस्ताव आया है, जिससे 1,66,700 लोगों को रोजगार मिल सकता है। ऑटोमोबाइल इंजिनियरिंग, इलेक्ट्रिक व्हिकल के क्षेत्र में ₹42254 करोड़ के निवेश का प्रस्ताव आया है। फार्मा एंड हेल्थकेयर में लगभग ₹17,991 करोड़ के निवेश का प्रस्ताव प्राप्त हुआ है, जिससे 1,42,614 लोगों को रोजगार के अवसर मिल सकते हैं। लॉजिस्टिक्स एंड वेयरहाउसिंग में लगभग ₹17,916 करोड़ के निवेश का प्रस्ताव आया है, जिससे 56 हजार 373 लोगों को रोजगार मिल सकता है।

    टेक्सटाइल एंड रेडीमेट गारमेंट क्षेत्र में 16,914 करोड़ के निवेश का प्रस्ताव मिला है, जिससे 1 लाख 13 हजार 502 को रोजगार मिल सकता है। अन्य क्षेत्रों में 1 लाख 25 हजार 855 करोड़ के निवेश का प्रस्ताव प्राप्त हुआ है, जिससे 1 लाख 24 हजार 168 से अधिक लोगों को रोजगार मिल सकता है।

    [आईएएनएस इनपुट के साथ]

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.