चुनावी डेटा : नेशनल पार्टियों ने 17 साल में अज्ञात स्रोतों से जुटाए 15 हजार करोड़ रुपए, कांग्रेस टॉप पर

2004-05 और 2020-21 के बीच कूपन की बिक्री से कांग्रेस और एनसीपी की जॉइंट इनकम 4,261.83 करोड़ रुपए है।

0
166
नेशनल पार्टियों ने 17 साल में अज्ञात स्रोतों से जुटाए 15 हजार करोड़ रुपए
नेशनल पार्टियों ने 17 साल में अज्ञात स्रोतों से जुटाए 15 हजार करोड़ रुपए

चुनावी चंदे के रूप में अज्ञात स्त्रोतों से कांग्रेस ने जुटाया सबसे अधिक धन!

नेशनल पार्टियों ने साल 2004-05 और 2020-21 के बीच अज्ञात स्रोतों से 15 हजार करोड़ रुपए से अधिक जुटाए हैं। यह खुलासा चुनावी एडीआर (एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स) की रिपोर्ट में हुआ है। इसमें कांग्रेस 178 करोड़ रुपए की इनकम के साथ टॉप पर, जबकि 100.50 करोड़ की इनकम के साथ भाजपा दूसरे नंबर पर है।

एडीआर ने 8 नेशनल और 27 रीजनल पार्टियों के इनकम टैक्स रिटर्न और चुनाव आयोग काे दाखिल दान से जुड़े डिटेल्स का एनालिसिस किया है। आठ नेशनल पार्टियों काे अज्ञात स्रोतों से 426.742 करोड़ रुपए और 27 रीजनल पार्टियों को अज्ञात स्रोतों से 263.928 करोड़ रुपए की इनकम हुई है।

अज्ञात सोर्स‘ पार्टी की इनकम का वह जरिया होता है, जिन्हें इनकम टैक्स रिटर्न में दिखाया तो जाता है, लेकिन 20 हजार रुपए से कम दान देने वाले का खुलासा नहीं होता है। इसमें कूपन सेल, पर्स मनी, रिलीफ फंड, अपनी इच्छा से दान, मोर्चा और मीटिंग्स में आने वाला चंदा शामिल होता है। इस तरह पार्टी को चंदा देने वालों (सोर्स) की जानकारी मौजूद नहीं होती है।

अज्ञात स्रोतों से सबसे ज्यादा धनराशि हासिल करने वाले 5 टॉप रीजनल पार्टियों में वाईएसआर-कांग्रेस (96.2507 करोड़), डीएमके (80.02 करोड़), बीजेडी (67 करोड़), मनसे 5.77 करोड़ रुपए और आप (5.4 करोड़) शामिल हैं। 2020-21 में नेशनल और रीजनल पार्टियों को अज्ञात स्रोतों से हासिल कुल 690.67 करोड़ रुपए में से 47.06% राशि चुनावी बांड से मिली थी।

एडीआर ने कहा कि 2004-05 और 2020-21 के बीच कूपन की बिक्री से कांग्रेस और एनसीपी की जॉइंट इनकम 4,261.83 करोड़ रुपए है।

नेशनल पार्टियों में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा), कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी), भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी-मार्क्सवादी (एमसीपी), राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी), बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी), भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (बीकेपी) और नेशनल पीपुल्स पार्टी (एनपीपी) शामिल थीं।

आप, एजीपी, एआईडीएमके, एआईएफबी, एआईएमआईएम, शिवसेना, एआईयूडीएफ, बीजेडी, माकपा, डीएमडीके, डीएमके, जीएफपी, जेडीएस, जेडीयू, जेएमएम क्षेत्रीय दलों में शामिल हैं।

[आईएएनएस इनपुट के साथ]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.