कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव: वोटर लिस्ट सार्वजनिक करने से पार्टी का इनकार

"चुनाव निष्पक्ष होगा, अगर किसी को लगता है कि ऐसा नहीं होगा, तो उसका क्या करें, न उसको समझाने की जरूरत है और न मैं समझाऊंगा। जिसको अपना नाम देखना है, लिस्ट देखनी है, मतदाता सूची देखनी है वो प्रदेश कांग्रेस के दफ्तर में जाकर आसानी से लिस्ट देख सकते हैं।"

0
169
कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव: वोटर लिस्ट सार्वजनिक करने से पार्टी का इनकार
कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव: वोटर लिस्ट सार्वजनिक करने से पार्टी का इनकार

कांग्रेस की गुप्त कार्यशैली और उसका गुप्त चुनाव

कांग्रेस अध्यक्ष पद के चुनाव को लिए मतदाता सूची सार्वजनिक नहीं होगी। कांग्रेस के केंद्रीय चुनाव प्राधिकरण के अध्यक्ष मधुसूदन मिस्त्री ने शनिवार को पार्टी नेता मनीष तिवारी और शशि थरूर की मतदाता सूची को सार्वजनिक करने की मांग खारिज करते हुए यह बात कही। मिस्त्री ने कहा, ‘ये कांग्रेस की परंपरा है कि सिर्फ अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवार को ही मतदाता सूची दी जायेगी। आइए आप चुनाव लड़ें, फॉर्म भरें और आपको पूरी सूची दे दी जाएगी। मतदाता सूची पब्लिक के लिए नहीं है, बल्कि पार्टी के लिए है। हम सभी डेलीगेट्स (मतदाताओं) को परिचय पत्र देने जा रहे हैं जो अध्यक्ष पद के चुनाव में वोट डालेंगे।’

उन्होंने आगे कहा, ‘चुनाव निष्पक्ष होगा, अगर किसी को लगता है कि ऐसा नहीं होगा, तो उसका क्या करें, न उसको समझाने की जरूरत है और न मैं समझाऊंगा। जिसको अपना नाम देखना है, लिस्ट देखनी है, मतदाता सूची देखनी है वो प्रदेश कांग्रेस के दफ्तर में जाकर आसानी से लिस्ट देख सकते हैं। 9000 से ज्यादा मतदाता हैं, उन सब को पता है।’ दरअसल, सूत्रों ने शुक्रवार को बताया कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर ने पार्टी के केंद्रीय चुनाव प्राधिकरण के प्रमुख मधुसूदन मिस्त्री को पत्र लिखकर उनसे अखिल भारतीय कांग्रेस समिति के अध्यक्ष पद के आगामी चुनाव के लिए मतदाता सूची प्रकाशित करने की मांग की है।

ऐसी खबर है कि कांग्रेस नेता मनीष तिवारी और असम के सांसद प्रद्युत बोरदोलोई ने भी मिस्त्री को पत्र लिखकर मतदाता सूची सार्वजनिक करने की मांग की है। अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ने पर विचार कर रहे थरूर ने मिस्त्री को पत्र लिखा और मतदाता सूची प्रकाशित करने की मांग की। चुनाव के लिए नामांकन प्रक्रिया में 10 प्रस्तावक शामिल हैं जो प्रदेश कांग्रेस समिति (पीसीसी) के प्रतिनिधि (डेलिगेट) होंगे। सूत्रों ने बताया कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने कहा है कि इन प्रतिनिधियों के बारे में जानना महत्वपूर्ण है क्योंकि अगर उनका नाम अंतिम सूची में नहीं आता तो नामांकन पत्र खारिज हो सकता है।

मनीष तिवारी, कार्ति चिदंबरम और थरूर ने बुधवार को भी पारदर्शिता सुनिश्चित करने के लिए मतदाता सूची सार्वजनिक करने की मांग की थी। कांग्रेस के ‘जी 23’ समूह में शामिल रहे तिवारी के साथ ही थरूर ने पार्टी अध्यक्ष के चुनाव से जुड़े निर्वाचक मंडल की सूची सार्वजनिक नहीं किये जाने पर वस्तुत: सवाल खड़े करते हुए 31 अगस्त को कहा कि चुनाव से संबंधित पूरी प्रक्रिया निष्पक्ष और पारदर्शी होनी चाहिए।

कांग्रेस के अध्यक्ष पद के चुनाव की अधिसूचना 22 सितंबर को जारी की जाएगी और नामांकन दाखिल करने की प्रक्रिया 24 से 30 सितंबर तक होगी। नामांकन वापस लेने की आखिरी तारीख आठ अक्टूबर होगी और अगर जरूरत पड़ी तो 17 अक्टूबर को चुनाव कराए जाएंगे। नतीजों की घोषणा 19 अक्टूबर को की जाएगी।

[आईएएनएस इनपुट के साथ]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.