योगी की टीम ने विदेशों में ऑन स्पॉट किए ₹3 हजार करोड़ के एमओयू पर हस्ताक्षर!

    यूपीजीआईएस 2023 के लिए विदेशी निवेशकों को आमंत्रित करने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपनी कई टीमों को दुनिया के अलग-अलग देशों में भेजा है।

    0
    73
    योगी की टीम
    योगी की टीम

    ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट 2023 के जरिए 10 लाख करोड़ से अधिक निवेश का लक्ष्य तय कर चुकी योगी सरकार

    अगले वर्ष 10 से 12 फरवरी के मध्य लखनऊ में होने वाली ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट 2023 के जरिए 10 लाख करोड़ से अधिक निवेश का लक्ष्य तय कर चुकी योगी सरकार की इस मुहिम को विदेशों में भी भरपूर समर्थन मिल रहा है। यूपीजीआईएस 2023 के लिए विदेशी निवेशकों को आमंत्रित करने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपनी कई टीमों को दुनिया के अलग-अलग देशों में भेजा है। इन टीमों ने जर्मनी के फ्रैंकफर्ट, यूके के लंदन, मेक्सको और कनाडा के टोरंटो में रोड शो का आयोजन किया।

    यहां विदेशी निवेशकों से उत्तर प्रदेश में निवेश की संभावनाओं को लेकर चर्चा की गई और उन्हें यहां व्यापार के अनुकूल माहौल, सुरक्षित निवेश और इंसेटिव्स को लेकर सरकार की सुगम नीतियों के बारे में बताया गया।

    उत्तर प्रदेश सरकार के एक प्रतिनिधि मंडल ने कनाडा के टोरंटो में रोड शो किया। विधानसभा अध्यक्ष सतीश महाना, पशुपालन मंत्री धर्मपाल सिंह सैनी और मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र की अध्यक्षता वाले इस प्रतिनिधिमंडल ने निवेशकों को उत्तर प्रदेश में सुरक्षित निवेश का भरोसा दिलाया और उनकी हर क्वेरी का जवाब भी दिया। विधानसभा अध्यक्ष सतीश महाना ने इंडो-कनाडा चेंबर्स ऑफ कॉमर्स के सदस्यों को उत्तर प्रदेश में निवेश को लेकर हर तरह का सहयोग दिए जाने का आश्वासन दिया।

    दूसरी तरफ, जर्मनी के फ्रैंकफर्ट में पीडब्ल्यूडी मंत्री जितिन प्रसाद और औद्योगिक विकास मंत्री नंद गोपाल गुप्ता ‘नंदी’ ने रोड शो के अवसर पर जर्मनी के निवेशकों को उत्तर प्रदेश में आमंत्रित किया। उन्होंने निवेशकों को हर संभव सहयोग के प्रति आश्वस्त किया। इस अवसर पर पीडब्ल्यूडी मिनिस्टर जितिन प्रसाद व अन्य ऑफिशियल्स ने व्यापारिक संगठनों को यूपी में निवेश के अवसरों के बारे में जानकारी दी।

    रोड शो से पहले वन टू वन बिजनेस मीटिंग का भी आयोजन किया गया। इसी मीटिंग में कनाडा की कंपनी माय हेल्थ सेंटर के सीईओ सुरेश मदान ने कानपुर में मल्टी स्पेशियल्टी हॉस्पिटल और मेडिकल कॉलेज व मेडिकल डिवाइस मैन्युफैक्चरिंग यूनिट के लिए उत्तर प्रदेश के प्रतिनिधिमंडल के साथ 2050 करोड़ रुपए के एमओयू पर हस्ताक्षर किए। इस अवसर पर ये भी चर्चा की गई कि यूपी कैसे हेल्थकेयर, फूड प्रोसेसिंग व मीडिया जैसी कंपनियों में भागीदारी कर सकता है।

    इस अवसर पर निवेशकों के बीच सीएम योगी का एक वीडियो मैसेज भी प्ले किया गया, जिसमें उन्होंने व्यापारिक समुदाय को निवेश के लिए आमंत्रित किया। रोड शो में फॉरेन ट्रेड और इन्वेस्टमेंट कमेटी, बीडब्ल्यूए के चेयरमैन वोल्कर फ्रेडरिक, इंडिया और पैसिफिक, आईएचके चैंबर ऑफ कॉमर्स के डायरेक्टर जोहानेस रिचर समेत कांटिनेंटल एजी, होरिजन ग्रुप, फिनाजलेस्टुंग फ्रैंकफर्ट, जाक टेक्नोलॉजीज जैसे दिग्गज कंपनियों के प्रतिनिधि उपस्थित रहे। इस दौरान टेक्सटाइल, केमिकल्स, मेडिकल डिवाइस, स्किल डेवलपमेंट जैसे सेक्टर्स में निवेश के कई इंटेंट जनरेट हुए।

    उत्तर प्रदेश के वित्त मंत्री सुरेश खन्ना की अगुवाई में प्रतिनिधिमंडल ने ब्रिटेन के लंदन में रोड शो किया। इस रोड शो का उद्देश्य यूके-इंडिया 2030 रोडमैप के जरिए दोनों देशों के बीच व्यापारिक संबंधों को और प्रगाढ़ करने का है। दोनों देशों के बीच वित्त वर्ष 2022 में 29.6 बिलियन ब्रिटिश पौंड का व्यापार हुआ, जो बीते वर्ष की तुलना में 37.1 प्रतिशत अधिक था। इस अवसर के अलावा यह प्रतिनिधिमंडल मार्टिन बेकर एयरक्राफ्ट कंपनी लिमिटेड के प्रतिनिधियों से भी मिली और उन्हें यूपीजीआईएस 2023 के लिए आमंत्रित किया। प्रतिनिधिमंडल ग्लोबल नेटवर्क के डायरेक्टर पैट्रिक होर्गन से भी मिला और डिफेंस, एयरोस्पेस व सिविल एविएशन सेक्टर में यूपी के पोटेंशियल को लेकर चर्चा की गई।

    डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक की अगुवाई में एक प्रतिनिधिमंडल मेक्सिको पहुंचा और यहां भी रोड शो का आयोजन किया गया। पशुपालन विभाग के अपर मुख्य सचिव रजनीश दुबे ने डेयरी सेक्टर में निवेश के अवसरों की जानकारी दी। उन्होंने यहां के व्यापारिक संगठनों को उत्तर प्रदेश में निवेश को लेकर यूपीआईजीएस में हिस्सा लेने के लिए आमंत्रित किया।

    [आईएएनएस इनपुट के साथ]

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.