ऋषि सुनक का भारत-यूके ट्रेड डील पर दृष्टिकोण, गति के लिए गुणवत्ता से समझौता नहीं!

भारत-यूके ट्रेड डील पर सुनक ने कहा कि वह रफ्तार के लिए गुणवत्ता के साथ समझौता नहीं कर सकते।

0
57
ऋषि सुनक
ऋषि सुनक

क्या ऋषि सुनक के फॉर्मूले कारगर सिद्ध होंगे?

ब्रिटिश प्रधान मंत्री ऋषि सुनक ने संकेत दिया है कि वह अपने पूर्ववर्ती लिज़ ट्रस के मुकाबले व्यापार सौदों के लिए अलग दृष्टिकोण अपनाएंगे। भारत-यूके ट्रेड डील पर सुनक ने कहा कि वह रफ्तार के लिए गुणवत्ता के साथ समझौता नहीं कर सकते। यूरोपीय यूनियन (ईयू) छोड़ने के बाद से ब्रिटेन द्वारा किए गए व्यापार सौदों की आलोचना के बाद ऋषि सुनक ने कहा है कि वह भारत जैसे देशों के साथ बातचीत में जल्दबाजी नहीं करेंगे।

न्यूज एजेंसी रॉयटर्स से बातचीत के दौरान ऋषि सुनक ने कहा, “मेरा दृष्टिकोण ऐसा होगा, जहां हम गति के लिए गुणवत्ता का त्याग नहीं करेंगे। मैं व्यापार सौदों को ठीक करने के लिए समय लेना चाहता हूं।” ऋषि सुनक ने बुधवार को उम्मीद जताई कि ब्रिटेन और संयुक्त राज्य अमेरिका अपने आर्थिक संबंधों को गहरा कर सकते हैं। हालांकि, उन्होंने साफ किया कि उन्होंने विशेष रूप से अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन के साथ व्यापार समझौते के बारे में बात नहीं की थी।

बता दें कि ब्रिटेन ने अमेरिका के साथ फ्री ट्रेड डील को यूरोपीय संघ छोड़ने के लिए सबसे बड़े पुरस्कारों के रूप में देखा था, लेकिन त्वरित समझौते की उम्मीद तब धराशायी हो गई, जब जो बाइडेन प्रशासन ने सभी मुक्त व्यापार वार्ता को ठंडे बस्ते में डाल दिया।

इंडोनेशिया के बाली में आयोजित जी20 की बैठक में सुनक ने कहा कि उन्होंने जो बाइडेन के साथ “विशेष रूप से व्यापार सौदे पर चर्चा नहीं की”, लेकिन आर्थिक सहयोग और ऊर्जा संचार पर बात हुई थी।

ऋषि सुनक ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, “मैं अपने आर्थिक संबंधों को गहरा करने के लिए अमेरिका के साथ अधिक व्यापार करने की हमारी क्षमता के बारे में उम्मीदों से भरा हुआ हूं। यह कई अलग-अलग तरीकों से हो सकता है।”

ब्रिटेन के व्यापार मंत्री केमी बडेनोच इस सप्ताह वॉशिंगटन में थे। उन्होंने कहा कि यह “कोई रहस्य नहीं है”। ब्रिटेन संयुक्त राज्य अमेरिका के साथ एक व्यापक मुक्त-व्यापार समझौता चाहता है। वॉशिंगटन व्यापारिक संबंधों का विस्तार करने और अलग-अलग राज्यों के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर करने के लिए एक रणनीतिक बातचीत के लिए तैयार हो गया है।

[आईएएनएस इनपुट के साथ]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.