चीन में अभी खत्‍म नहीं होगा कोरोना! अभी और 2-3 महीनों तक बढ़ेंगे मामले!

    हेल्‍थ एक्‍सपर्ट जेंग गुआंग ने कहा है कि कोरोना लहर का पीक टाइम 60 से 90 दिनों तक रह सकता है और इसके कारण चीन के गांव और दूर-दराज के इलाके भी इसकी चपेट में आ सकते हैं।

    0
    30
    चीन में अभी खत्‍म नहीं होगा कोरोना! अभी और 2-3 महीनों तक बढ़ेंगे मामले!
    चीन में अभी खत्‍म नहीं होगा कोरोना! अभी और 2-3 महीनों तक बढ़ेंगे मामले!

    चीन में कोरोना के मामले अभी और बढ़ेंगे, नहीं लगेगी लगाम!

    चीन में कोरोना मामले बहुत तेजी के साथ बढ़ रहे हैं और यहां इसके 2 से 3 महीनों तक पीक पर रहने की आशंका है। हेल्‍थ एक्‍सपर्ट्स की माने तो कोरोना महामारी के कारण भारत, जापान, अमेरिका, पाकिस्‍तान समेत अन्‍य देशों में कोरोना वायरस संक्रमण का खतरा बढ़ गया है। हेल्‍थ एक्‍सपर्ट जेंग गुआंग ने कहा है कि कोरोना लहर का पीक टाइम 60 से 90 दिनों तक रह सकता है और इसके कारण चीन के गांव और दूर-दराज के इलाके भी इसकी चपेट में आ सकते हैं।

    हेल्‍थ एक्‍सपर्ट जेंग गुआंग ने कहा है कि यह समय बेहद सतर्कता बरतने का है, यहां 21 जनवरी से लूनर न्‍यू ईयर की छुट्टियों के बाद हालात बदतर हो सकते हैं। अभी भी बेकाबू कोरोना रफ्तार को लेकर हाहाकार जैसी स्थिति बनी हुई है। चीन में कोरोना महामारी और बेकाबू हालात को लेकर (डबल्यूएचओ) अलर्ट जारी कर चुका है। चीन में कोरोना को लेकर पहले जीरो टॉलेरेंस को सख्‍ती से लागू कराया गया था, लेकिन लंबे समय बाद जब लोगों ने इसको लेकर आपत्ति जताई थी तब इसमें कुछ छूट दे दी गई‍ थी। नवंबर 2022 में चीन में कोरोना प्रोटोकॉल में जब छूट दी गई तो यहां कोरोना केस तेजी से बढ़ने लगे थे और अब तो यहां के नागरिकों को दूसरे देशों की यात्रा करने की छूट भी मिल गई है। इससे बड़े खतरे की आशंका बनी हुई है।

    चीन ने अपनी सीमाएं खोल दीं हैं और कोरोना प्रतिबंध भी कम कर दिए हैं। वहीं न्‍यू ईयर को लेकर यहां अगले 40 दिनों में 200 करोड़ लोगों की आवाजाही करने की संभावनाएं हैं। ऐसे में चिंता बढ़ गई है कि इससे कोरोना संक्रमण बहुत तेजी से फैलेगा। चीन की पेंडेमिक प्रिवेंशन टीम के सदस्य प्रोफेसर गुओ जियानवेन ने कहा है कि कोरोना संक्रमण से बचने के लिए सतर्कता बरतनी होगी, लेकिन अब यह देखना होगा कि चीन में कैसे हालात बनते हैं?

    [आईएएनएस इनपुट के साथ]

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.