भारत-बांग्लादेश सीमा पर तैनात बीएसएफ जवानों पर बांग्लादेशी ग्रामीणों ने किया हमला, 2 जवान गंभीर रूप से घायल!

    तस्करों और आपराधिक मंशा वाले लोगों को सीमा पार अपनी अवैध गतिविधियों में सफलता नहीं मिलती है तो वे जवानों पर हमला कर देते हैं।

    0
    444
    भारत-बांग्लादेश सीमा पर तैनात बीएसएफ जवानों पर बांग्लादेशी ग्रामीणों ने किया हमला
    भारत-बांग्लादेश सीमा पर तैनात बीएसएफ जवानों पर बांग्लादेशी ग्रामीणों ने किया हमला

    बीएसएफ के जवानों पर सीमा पार से आए 100 से अधिक बांग्लादेशी ग्रामीणों ने हमला कर दिया, हथियार छीन कर भागे।

    भारत-बांग्लादेश अंतरराष्ट्रीय सीमा पर तैनात बीएसएफ जवानों पर 100 से अधिक बांग्लादेशी बदमाशों और ग्रामीणों द्वारा हमला किया गया, जिसमें दो जवान गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। बीएसएफ जवान भारतीय किसानों की सुरक्षा के लिए अपनी ड्यूटी पर थे। तभी उन पर सीमा पार से बदमाशों ने हमला किया और उनके हथियार भी लूट ले गए। बीएसएफ को जैसे ही यह खबर मिली उन्होंने इस मामले को बॉर्डर गार्ड्स बांग्लादेश (बीजीबी) के सामने उठाया और तुरंत फ्लैग मीटिंग बुलाई।

    समाचार एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार, बीएसएफ ने एक बयान में बताया कि यह घटना बंगाल फ्रंटियर के बेरहामपुर सेक्टर के अंतर्गत सीमा चौकी निर्मलचर, 35 बटालियन के इलाके में हुई। भारतीय किसानों की शिकायतों के अनुसार, बांग्लादेशी किसान अपने मवेशियों को चराने के लिए भारतीय किसानों के खेतों में प्रवेश करते हैं और जानबूझकर उनकी फसलों को नुकसान पहुंचाते हैं। भारतीय किसानों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए बीएसएफ के जवानों ने अस्थायी रूप से सीमा के पास एक चौकी बना ली थी।

    रविवार को सीमा चौकी निर्मलचर के बीएसएफ जवान सीमा पर ड्यूटी कर रहे थे, तभी उन्होंने बांग्लादेशी किसानों को और उनके मवेशियों को भारतीय किसानों के खेतों में लाने से रोक दिया। देखते ही देखते बांग्लादेश से 100 से अधिक ग्रामीणों और बदमाशों ने भारतीय सीमा में घुसकर लाठी-डंडों और धारदार हथियारों से जवानों पर हमला कर दिया। इस हमले में दो जवान गंभीर रूप से घायल हो गए। बदमाश उनके हथियार छीनने के बाद बांग्लादेश भाग गए।

    सूचना मिलते ही बीएसएफ के और जवान घटनास्थल पर पहुंच गए और घायल जवानों को तुरंत नजदीकी अस्पताल में इलाज के लिए ले गए। बीएसएफ के अधिकारियों ने तुरंत इस घटना के बारे में बॉर्डर गार्ड्स बांग्लादेश (बीजीबी) के अधिकारियों को सूचित किया और उन्हें एक फ्लैग मीटिंग आयोजित करने के लिए कहा। ताकि बांग्लादेशी बदमाशों से जवानों के हथियार बरामद किए जा सकें और इस घटना की पुनरावृत्ति को रोका जा सके।

    घटना की जानकारी देते हुए साउथ बंगाल फ्रंटियर के एक प्रवक्ता ने बताया कि जब तस्करों और आपराधिक मंशा वाले लोगों को सीमा पार अपनी अवैध गतिविधियों में सफलता नहीं मिलती है तो वे जवानों पर हमला कर देते हैं। बीएसएफ जवानों पर पहले भी कई बार सुनियोजित तरीके से बदमाशों और उनके साथियों ने हमला किया है। लेकिन फिर भी हमारे जवान ऐसे बदमाशों से निपटने में कामयाब रहते हैं।

    [आईएएनएस इनपुट के साथ]

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.